scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

दिल्ली में MCD और NDMC में बड़े बदलाव की तैयारी, गृह मंत्रालय ने कई अफसरों को बदला

कई वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों को केंद्र के पैनल में लाया जाना है। पढ़ें जतिन आनंद की रिपोर्ट।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: संजय दुबे
नई दिल्ली | Updated: February 10, 2024 11:46 IST
दिल्ली में mcd और ndmc में बड़े बदलाव की तैयारी  गृह मंत्रालय ने कई अफसरों को बदला
दिल्ली नगर निगम। (Express Photo by Praveen Khanna)
Advertisement

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को एक बड़े फेरबदल में भारतीय पुलिस सेवा के दो अफसरों को हटाकर उनकी जगह एक आईएएस और एक आईपीएस अफसर की तैनाती कर दी है। इस कदम को दिल्ली नगर निगम (MCD), नई दिल्ली नगर पालिका परिषद (NDMC) और दिल्ली सरकार के कई विभागों में बदलाव किए जाने की तैयारी माना जा रहा है।

एक सूत्र ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा, “कई वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों को केंद्र के पैनल में लाया जाना है। इससे वे भारत सरकार में पोस्टिंग के लिए योग्य हो जाएंगे। इसका दिल्ली सरकार और अन्य निकायों में वर्तमान में आईएएस अधिकारियों द्वारा संचालित पोस्टिंग पर प्रभाव पड़ेगा, जिनका कार्यकाल समाप्त हो रहा है।''

Advertisement

1993 बैच के अरुणाचल प्रदेश-गोवा-मिजोरम और केंद्र शासित प्रदेश (AGMUT) कैडर के आईएएस अधिकारी प्रशांत गोयल को तत्काल प्रभाव से दिल्ली में तैनात किया गया है। वे वर्तमान में अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, दादरा और नगर हवेली और दमन और दीव, लद्दाख और लक्षद्वीप के केंद्र शासित प्रदेशों के लिए वित्त आयोग के सदस्य हैं।

AGMUT कैडर के अधिकारी को दिल्ली लाया गया

गोयल की पोस्टिंग 1994-बैच के एजीएमयूटी कैडर के आईएएस अधिकारी नवीन कुमार चौधरी को 29 जनवरी को मिजोरम से दिल्ली तबादला किए जाने के कुछ दिनों बाद हुई। वह उन आठ आईएएस और 12 आईपीएस अधिकारियों में से हैं, जिन्हें कई केंद्रशासित प्रदेशों में फेरबदल के तहत बदला गया है।

आईपीएस अधिकारियों में 1995-बैच के एजीएमयूटी कैडर के अधिकारी मधुप तिवारी को क्रमशः चंडीगढ़ और 1997-बैच के अधिकारी सुरेंद्र सिंह यादव को अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में पुलिस महानिदेशक के रूप में तबादला किया गया है। यादव 1995-बैच के अधिकारी देवेश चंद्र श्रीवास्तव का स्थान लेंगे जिन्हें राजधानी भेजा गया है।

Advertisement

उधर, दिल्ली नगर निगम (MCD) ने गुरुवार को हंगामे के बीच वित्तीय वर्ष 2024-25 के लिए कुल 16,000 करोड़ रुपये का बजट पारित कर दिया। सदन में विपक्षी बीजेपी पार्षदों ने शोरगुल करके बाधा डाली। मेयर शेली ओबेरॉय ने एमसीडी आयुक्त ज्ञानेश भारती की अनुपस्थिति में बजट पारित किया।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो