scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

कैबिनेट मीटिंग में दो मंत्री आए ही नहीं, दो अन्य चले गये चंडीगढ़, शिक्षा मंत्री भी नाराज, टेंशन में हिमाचल की सुक्खू सरकार

हिमाचल प्रदेश में राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी की हार के बाद से ही मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू के खिलाफ माहौल बदलने लगा। पूर्ण बहुमत की सरकार बनने के बाद भी कुछ विधायकों ने पार्टी से बगावत करते हुए बीजेपी के प्रत्याशी को वोट दिया।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: संजय दुबे
नई दिल्ली | Updated: March 03, 2024 13:14 IST
कैबिनेट मीटिंग में दो मंत्री आए ही नहीं  दो अन्य चले गये चंडीगढ़  शिक्षा मंत्री भी नाराज  टेंशन में हिमाचल की सुक्खू सरकार
हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू। (Express File Photo)
Advertisement

हिमाचल प्रदेश समेत देश के कई राज्यों में अभी हाल ही में हुए राज्य सभा चुनावों में विधायकों के क्रास वोटिंग करने और पार्टी लाइन से अलग हटकर बयानबाजी से कई दलों की चिंताएं बढ़ गई हैं। इसका सबसे ताजा उदाहरण हिमाचल प्रदेश में दिखा। यहां सरकार गिरने की नौबत आ गई थी। हालांकि सरकार बच गई, लेकिन सरकार के अंदर सहयोगी मंत्रियों और विधायकों के बीच जिस तरह की तनातनी दिख रही है, उससे हालात अच्छे नजर नहीं आ रहे हैं।

बैठक का वायरल वीडियो में साफ दिखी नाराजगी

शनिवार को शिमला में कैबिनेट की बैठक के दौरान ही शिक्षा मंत्री रोहित ठाकुर उठकर चल दिए। उनको बैठक छोड़कर निकलते देख डिप्टी सीएम मुकेश अग्निहोत्री उनको मनाने के लिए पीछे-पीछे भागे। कुछ देर में मान-मनौव्वल करके वे उनको वापस लाए। इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो भी वायरल होने लगा है। इसमें उनकी नाराजगी साफ झलक रही है।

Advertisement

सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू का दावा- सरकार स्थिर

इसके अलावा वरिष्ठ मंत्री विक्रमादित्य सिंह, जगत सिंह नेगी मीटिंग में आए ही नहीं। दो अन्य मंत्री चंडीगढ़ चले गये। इससे सरकार के अंदर मतभेद गहराते जा रहे हैं। हालांकि मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू का दावा है कि सरकार स्थिर है।

हिमाचल प्रदेश में राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी की हार के बाद से ही मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू के खिलाफ माहौल बदलने लगा। पूर्ण बहुमत की सरकार बनने के बाद भी कुछ विधायकों ने पार्टी से बगावत करते हुए बीजेपी के प्रत्याशी को वोट दिया। इससे बीजेपी राज्यसभा चुनाव में अपने प्रत्याशी को जीत दिलाने में सफल हो गई।

Advertisement

इस बीच कांग्रेस के बागी विधायक राजेंद्र राणा ने यह दावा करके खलबली मचा दी है कि सीएम सुक्खू के काम करने के तरीके से पार्टी के 9 और विधायक घुटन फील कर रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि ये सभी विधायक उनके संपर्क में हैं। इससे ऐसा लगता है कि सरकार की स्थिरता पर संकट बरकरार है। एक महीने बाद देश में लोकसभा चुनाव होने वाला है। राज्यसभा चुनाव में जिस तरह का मतभेद देखा जा रहा है, उससे यह कहीं नहीं दिखता है पार्टी एकजुटता के साथ अपने उम्मीदवारों के लिए वोट मांगेगी। राज्यसभा की तरह लोकसभा चुनाव में भी टकराव होने की पूरी आशंका है।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो