scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

'रात में हमारे साथ बैठे थे, सुबह तीन ने नाश्ता भी किया', राज्यसभा चुनाव में हार के बाद अभिषेक मनु सिंघवी का पहला बयान

क्रॉस-वोटिंग के बीच बीजेपी उम्मीदवार हर्ष महाजन ने सत्तारूढ़ कांग्रेस के अभिषेक मनु सिंघवी को पराजित कर हिमाचल प्रदेश से राज्यसभा की इकलौती सीट पर जीत दर्ज की।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: shruti srivastava
नई दिल्ली | Updated: February 27, 2024 21:33 IST
 रात में हमारे साथ बैठे थे  सुबह तीन ने नाश्ता भी किया   राज्यसभा चुनाव में हार के बाद अभिषेक मनु सिंघवी का पहला बयान
अभिषेक मनु सिंघवी। फोटो -(इंडियन एक्सप्रेस)।
Advertisement

हिमाचल प्रदेश में राज्यसभा चुनाव 2024 में सत्ताधारी पार्टी कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। यहां कांग्रेस के 6 विधायकों ने भाजपा प्रत्याशी हर्ष महाजन के पक्ष में क्रॉस वोटिंग कर दी। जिसके चलते कांग्रेस के राज्यसभा प्रत्याशी अभिषेक मनु सिंघवी चुनाव हार गए। राज्यसभा सीट गंवाने के बाद मंगलवार शाम को कांग्रेस उम्मीदवार अभिषेक मनु सिंघवी ने मीडिया से बात की। अपनी हार स्वीकार करने और भाजपा उम्मीदवार हर्ष महाजन को बधाई देने के साथ ही सिंघवी ने इसे अपने लिए सबक बताया। साथ ही उन्होंने शायराना अंदाज में फिर से वापस लौटने की बात कही।

अभिषेक मनु सिंघवी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस ने कहा कि कांग्रेस की लीडरशिप का धन्यवाद करना चाहता हूं। सीएम साहब और हर विधायक को धन्यवाद करना चाहता हूं। कांग्रेस नेता ने कहा, "उन 9 विधायकों को भी धन्यवाद करना चाहता हूं। जो कल रात तक हमारे साथ बैठे थे। इनमें से तीन हमारे साथ नाश्ता करके गए। इससे मुझे निजी रूप से शिक्षा मिली है।"

Advertisement

कल रात तक हमारे साथ थे- अभिषेक मनु सिंघवी

अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा, "उन नौ विधायकों को भी धन्यवाद जो कल रात तक हमारे साथ थे। जिन्होंने हमारे साथ खाना खाया, हमारे साथ जलपान किया और फोटो ली। इन 9 में से कई थे जिन्होंने मेरा नामांकन प्रस्तावित किया था और मेरे नामांकन पत्र पर हस्ताक्षर किया था।" उन्होंने यह भी कहा कि सिर्फ इतना ही नहीं, इनमें से तीन विधायक तो आज सुबह हमारे साथ नाश्ता करके गए थे।

कांग्रेस उम्मीदवार ने कहा कि इस हार से हमें बड़ी सीख मिली है। हमने हारते-हारते भी इतिहास बनाया है। 34-34 का आकंड़ा आया। एक वोट भी इनवैलिड नहीं हुआ। उन्होंने आगे कहा, "जो हुआ सो हुआ, हमें भविष्य का सोचना चाहिए। मैं पलट के आऊंगा, शाखों पर खुशबू लेकर, पतझड़ की जद में हूं, मौसम जरा बदलने दो।"

अपने ईमान को बेचा है- सीएम सुक्खू

क्रॉस वोटिंग करने वाले विधायकों पर सीएम सुक्खू ने कहा, "इन्होंने अपना ईमान ही बेच दिया। ये नाराजगी का वोट नहीं था। हिमाचल की संस्कृति में ऐसा नहीं था। इन्होंने अपने वोट को बदला है। अपने ईमान को बेचा है।"

Advertisement

अधिकारियों ने बताया कि मुकाबला 34-34 मतों से बराबरी पर रहा था लेकिन उसके बाद महाजन को ‘ड्रॉ’ के जरिए विजेता घोषित कर दिया गया। यह कांग्रेस के लिए बड़ा झटका है जिसके पास 68 सदस्यीय विधानसभा में 40 विधायक हैं और उसने निर्दलीयों का समर्थन होने का भी दावा किया है। इस परिणाम से यह स्पष्ट हो गया है कि नौ विधायकों ने भाजपा के पक्ष में मतदान किया।

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने मंगलवार को आरोप लगाया था कि कांग्रेस के 5-6 विधायकों को अगवा कर लिया गया और उन्हें सीआरपीएफ और हरियाणा पुलिस के काफिले में साथ ले जाया गया। उन्होंने यह भी कहा कि इन विधायकों के परिजन उनसे संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो