scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Haldwani Violence: हल्द्वानी हिंसा में 19 नामजद, 5000 अज्ञात पर केस, बनभूलपुरा को छोड़ बाकी क्षेत्रों से कर्फ्यू हटा, जानिए अब कैसे हैं हालात

एडीजी ने बताया कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए इंटरनेट सेवाएं निलंबित हैं। कर्फ्यू वाले क्षेत्र के लोगों को समय-समय पर जरूरी चीजें खरीदने की अनुमति दी जा रही है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: संजय दुबे
नई दिल्ली | Updated: February 10, 2024 12:36 IST
haldwani violence  हल्द्वानी हिंसा में 19 नामजद  5000 अज्ञात पर केस  बनभूलपुरा को छोड़ बाकी क्षेत्रों से कर्फ्यू हटा  जानिए अब कैसे हैं हालात
उत्तराखंड के हलद्वानी में 9 फरवरी 2024 को कड़ी चौकसी करती पुलिस। (रॉयटर्स)
Advertisement

उत्तराखंड के हल्द्वानी में उपद्रव वाले कई थाना क्षेत्रों से शनिवार को कर्फ्यू हटा लिया गया, लेकिन बनभूलपुरा में कर्फ्यू जारी है। प्रशासन ने फिलहाल स्थिति सामान्य होने का दावा किया है। गुरुवार को अतिक्रमण हटाने के दौरान लोगों के विरोध-प्रदर्शन के दौरान कुछ लोग हिंसा और उपद्रव शुरू कर दिए थे। पुलिस ने 19 नामजद और 5000 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। अब पुलिस इनकी गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रही है। नैनीताल के एसएसपी पीएन मीना ने एएनआई को बताया, "कई लोगों को हिरासत में लिया गया है और उपद्रवियों की पहचान कर उनकी तलाश की जा रही है।"

उपद्रवियों का पता लगाने के लिए CCTV फुटेज की जांच की जा रही है

इस बीच उत्तराखंड के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर एपी अंशुमान का कहना है, "हल्द्वानी में स्थिति सामान्य है, कर्फ्यू हटा लिया गया है। बनभूलपुरा में कर्फ्यू जारी है। 3 एफआईआर दर्ज की गई हैं और पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है…सीसीटीवी फुटेज की जांच की जा रही है…पांच लोगों की मौत हो गई है और तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। घटना में कई पुलिस अधिकारी घायल हो गए हैं…।"

Advertisement

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर एपी अंशुमान हल्द्वानी में ही कैंप कर रहे हैं

उन्होंने न्यूज एजेंसी पीटीआई को बताया, "शहर के बाहरी इलाके में दुकानें शनिवार को खुलीं लेकिन स्कूल बंद हैं। प्रभावित क्षेत्र में लगातार गश्त की जा रही है और स्थिति नियंत्रण में है।" एडीजी लॉ एंड ऑर्डर एपी अंशुमान घटना के बाद से हलद्वानी में ही कैंप कर रहे हैं।

अधिकारियों ने बताया कि गुरुवार की हिंसा में छह दंगाई मारे गए। अतिक्रमण हटाने के दौरान स्थानीय लोगों ने नगरपालिका कर्मचारियों और पुलिस पर पत्थर और पेट्रोल बम फेंके, जिससे कई पुलिस कर्मियों को पुलिस स्टेशन में शरण लेनी पड़ी, जिसके बाद भीड़ ने आग लगा दी। घटना में 60 से अधिक लोग घायल हो गए। एक पत्रकार समेत सात लोगों का शुक्रवार को तीन अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा था। इनमें से तीन की हालत गंभीर बताई जा रही है।

Advertisement

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए इंटरनेट सेवाएं निलंबित हैं। एडीजी ने बताया कि बनभूलपुरा क्षेत्र में अब भी कर्फ्यू जारी है। वहां के लोगों को समय-समय पर जरूरी चीजें खरीदने की अनुमति दी जा रही है। उन्होंने बताया कि काठगोदाम तक ट्रेनों की आवाजाही भी फिर से शुरू कर दी गई है। अधिकारी ने बताया कि कहीं से किसी ताजा अप्रिय घटना की सूचना नहीं है।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो