scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

पूर्व कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण BJP में शामिल, कल राज्यसभा के लिए करेंगे नामांकन

पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय निरुपम ने उनके पार्टी छोड़ने के लिए अपने ही नेताओं के रूखे व्यवहार को वजह बताई।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: संजय दुबे
नई दिल्ली | Updated: February 13, 2024 13:31 IST
पूर्व कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण bjp में शामिल  कल राज्यसभा के लिए करेंगे नामांकन
कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले महाराष्ट्र के पूर्व सीएम अशोक चव्हाण।
Advertisement

कांग्रेस को लोकसभा चुनाव से ठीक पहले जोरदार झटका देने के बाद महाराष्ट्र के पूर्व सीएम और कद्दावर नेता अशोक चव्हाण मंगलवार को बीजेपी में शामिल हो गए। इससे पहले मीडिया से बात करते हुए उन्होंने खुद ही बीजेपी में जाने की बात की पुष्टि की थी। ऐसी संभावना जताई जा रही है कि 65 वर्षीय अशोक चव्हाण बुधवार 14 फरवरी 2024 को राज्यसभा के लिए नामांकन भी कर सकते हैं। बीजेपी उनको राज्यसभा में अपना उम्मीदवार बनाएगी। उधर, मुंबई कांग्रेस के पूर्व प्रमुख और एमएलसी भाई जगताप ने कहा कि केंद्रीय नेतृत्व को वरिष्ठ नेताओं के पार्टी छोड़ने के कारणों पर आत्मनिरीक्षण करना चाहिए।

मुंबई बीजेपी ऑफिस में औपचारिक रूप से ली पार्टी की सदस्यता

अशोक चव्हाण का पूरा नाम अशोकराव शंकरराव चव्हाण (Ashokrao Shankarrao Chavan) दोपहर करीब एक बजे मुंबई बीजेपी ऑफिस पहुंचे और औपचारिक रूप से पार्टी में की सदस्यता ली। उनके साथ कांग्रेस के पूर्व एमएलसी अमर राजुरकर भी बीजेपी में शामिल हो गए हैं। इस मौके पर राज्य उपमुख्यमंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता देवेंद्र फडणवीस भी मौजूद रहे। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता संजय निरुपम ने अशोक चव्हाण के पार्टी छोड़ने के लिए अपने ही नेताओं के रूखे व्यवहार को वजह बताई। उन्होंने कहा कि वे कई मुद्दों को लेकर शीर्ष नेताओं के सामने अपनी बात रख चुके थे।

Advertisement

कांग्रेस ने कहा- अपने पुराने मामलों के आगे घुटने टेक दिए चव्हाण

चव्हाण के पार्टी छोड़ने पर अपनी आधिकारिक प्रतिक्रिया में, कांग्रेस ने उन पर और बीजेपी पर दोष मढ़ा। पार्टी ने कहा कि उन्होंने अपने खिलाफ मामलों के दबाव के आगे घुटने टेक दिए। सोमवार को अपने इस्तीफे की घोषणा करते हुए चव्हाण अपने राजनीतिक भविष्य पर चुप रहे और कांग्रेस पर हमला करने से बचते रहे। उन्होंने कहा, “मैं किसी की आलोचना नहीं करने जा रहा हूं। अपनी शिकायतों को सार्वजनिक रूप से व्यक्त करना मेरे स्वभाव में नहीं है।”

वरिष्ठ नेता संजय निरुपम ने चव्हाण को "मजबूत" नेता बताते हुए उनके जाने का दोष राज्य कांग्रेस नेताओं के "व्यवहार" पर लगाया। उन्होंने कहा, “अशोक चव्हाण निश्चित रूप से पार्टी के लिए एक मूल्यवान नेता थे। कोई उन्हें देनदार बता रहा है तो कोई प्रवर्तन निदेशालय पर आरोप लगा रहा है। ये सब बिना सोचे-समझे की गई प्रतिक्रियाएं हैं।"

Advertisement

निरुपम ने कहा, "दरअसल, वह महाराष्ट्र के एक खास वरिष्ठ कांग्रेस नेता के व्यवहार से परेशान थे। उन्होंने कई बार पार्टी के वरिष्ठ नेतृत्व को अपनी चिंताओं से अवगत कराया था। अगर उनकी शिकायतों को गंभीरता से लिया गया होता तो यह नौबत नहीं आती।”

Advertisement

उन्होंने कहा, “वह एक कुशल, साधन संपन्न संगठनकर्ता हैं और उनके बड़े पैमाने पर समर्थक हैं। पूरे नेतृत्व ने 2022 में उनकी क्षमताओं को देखा, जब भारत जोड़ो यात्रा चार दिनों में नांदेड़ जिले से गुजरी… उनकी भरपाई कोई नहीं कर सकता। उनकी शिकायतों को दूर करना हमारी जिम्मेदारी थी।”

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो