scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Farmers Protest: 'ट्रैफिक जाम से कोई परेशानी हो तो मुझे बताएं', जानें किसानों के 'दिल्ली चलो मार्च' पर क्या बोले CJI चंद्रचूड़

दिल्ली पहुंचने की कोशिश में लगे किसानों ने शंभू बॉर्डर पर उग्र प्रदर्शन किया। किसानों ने बैरिकेडिंग तोड़कर आगे बढ़ने की कोशिश की।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: shruti srivastava
नई दिल्ली | Updated: February 13, 2024 15:37 IST
farmers protest   ट्रैफिक जाम से कोई परेशानी हो तो मुझे बताएं   जानें किसानों के  दिल्ली चलो मार्च  पर क्या बोले cji चंद्रचूड़
CJI DY Chandrachud: सीजेआई डी वाई चंद्रचूड़ (फोटो सोर्स: ANI)
Advertisement

न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर कानून बनाने की मांग कर रहे किसान दिल्ली कूच कर गए हैं। किसानों ने फसलों के लिए एमएसपी की कानूनी गारंटी देने समेत अन्य मांगों को लेकर दो केंद्रीय नेताओं के साथ बैठक बेनतीजा रहने के बाद दिल्ली की ओर कूच करने का फैसला किया। किसानों के दिल्ली पहुंचने से पहले ही शंभू, टिकरी और सिंघू बॉर्डर के अलावा गाजीपुर सीमा पर भी भीषण जाम लग गया है। दिल्ली-मेरठ हाईवे पर भी एक किलोमीटर लंबा जाम देखा गया है। NH-9 पर बैरिकेडिंग की वजह से भीषण जाम लगा है।

किसानों के 'दिल्ली चलो' मार्च के कारण दिल्ली-एनसीआर में बड़े पैमाने पर ट्रैफिक जाम को ध्यान में रखते हुए मुख्य न्यायाधीश डीवाई चंद्रचूड़ ने आज कहा कि अगर किसान विरोध प्रदर्शन के कारण ट्रैफिक में फंसते हैं तो वह वकीलों को तरजीह देंगे। सीजेआई और जस्टिस जेबी पारदीवाला और जस्टिस मनोज मिश्रा की पीठ ने दिन की कार्यवाही की शुरुआत में वकीलों से कहा कि अगर किसी को यातायात की स्थिति के कारण कोई समस्या है तो हम एडजस्ट करेंगे। किसानों के प्रदर्शन का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। बार एसोसिएशन ने इस मामले में CJI चंद्रचूड़ को चिट्ठी लिखी है।

Advertisement

बार एसोसिएशन ने लिखी CJI चंद्रचूड़ को चिट्ठी

सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष आदिश अग्रवाल ने मुख्य न्यायधीश डीवाई चंद्रचूड़ को पत्र लिखा है। उन्होंने दिल्ली में प्रवेश करने की कोशिश करने वाले किसानों पर उपद्रव पैदा करने और नागरिकों के दैनिक जीवन को परेशानी में डालने का आरोप लगाया है। आदिश अग्रवाल ने सीजेआई से कहा कि इस मामले पर स्वत: संज्ञान लिया जाए और कार्रवाई की जाए। साथ ही उन्होंने सीजेआई चंद्रचूड़ से कहा कि कोर्ट में वकीलों के ना आने पर भी कोई विपरीत आदेश पारित ना किया जाए। वहीं, सीजेआई ने इस चिट्ठी के जवाब में कहा कि अगर ट्रैफिक जाम से किसी भी तरह की परेशानी हो तो मुझे बताएं।

शंभू बॉर्डर पर किसानों का उग्र प्रदर्शन

एमएसपी पर कानून बनाने की मांग कर रहे किसानों के दिल्ली कूच करने के बीच अंबाला के समीप शंभू में पंजाब से लगती सीमा पर लगाए बैरिकेड तोड़ने की कोशिश करने वाले किसानों पर आंसू गैस के गोले छोड़े। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि कुछ किसानों को शंभू बॉर्डर के पास हिरासत में भी लिया गया है।

Advertisement

अधिकारियों ने बताया कि किसानों के ‘दिल्ली चलो’ मार्च में शामिल युवाओं के एक समूह ने अंबाला में शंभू सीमा पर लगाए बैरिकेड तोड़ने की कोशिश की जिसके बाद हरियाणा पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े। कुछ युवाओं ने लोहे के बैरिकेड तोड़े और इसे घग्घर नदी पुल से फेंकने की कोशिश की तो पुलिस को आंसू गैस के कई गोले छोड़ने पड़े। पुलिस ने बाद में आंसू गैस का गोला गिराने के लिए एक ड्रोन का भी इस्तेमाल किया।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो