scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Farmers Protest: आर-पार के मूड में किसान, 16 फरवरी को भारत बंद का किया ऐलान; मजदूर संगठनों ने भी दिया समर्थन

बंद में किसानों के सभी संगठनों ने भाग लेने का फैसला किया है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: संजय दुबे
नई दिल्ली | Updated: February 11, 2024 14:07 IST
farmers protest  आर पार के मूड में किसान  16 फरवरी को भारत बंद का किया ऐलान  मजदूर संगठनों ने भी दिया समर्थन
प्रतीकात्मक तस्वीर। (इंडियन एक्सप्रेस)
Advertisement

अपनी मांगों को लेकर दिल्ली कूच करने की तैयारी कर रहे किसानों ने 16 फरवरी को भारत बंद रखने का ऐलान कर दिया। यह ऐलान सरकार की ओर से 12 फरवरी को चंडीगढ़ में बातचीत के लिए न्योता दिए जाने के बाद किया गया है। इस बंद में किसानों के सभी संगठनों ने भाग लेने का फैसला किया है। बंद का आह्वान संयुक्त किसान मोर्चा ने किया है। खास बात यह है कि किसानों के इस बंद के आह्वान का मजदूर संगठनों ने भी अपना समर्थन दिया है। किसानों ने कहा है कि बंद के दौरान 4 घंटे तक सभी राजमार्गों (Highways) पर चक्काजाम किया जाएगा।

MSP पर गारंटी, कर्जमाफी के लिए 13 को 'दिल्ली चलो मार्च' करेंगे किसान

किसानों की मुख्य मांगों में फसलों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) की गारंटी और कर्जमाफी जैसे मुद्दे शामिल हैं। इसको लेकर किसान संगठनों ने 13 फरवरी को 'दिल्ली चलो मार्च' का ऐलान पहले से ही किया हुआ है। हालांकि केंद्र सरकार ने किसानों की मांगों और उनके मुद्दों को लेकर शनिवार 12 फरवरी 2024 को बातचीत का न्योता दिया है, लेकिन किसान आरपार के मूड में हैं। किसानों के साथ सरकार की एक दौर की बातचीत पहले ही हो चुकी है। इस बातचीत में केंद्रीय कृषि मंत्री अर्जुन मुंडा, खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री पीयूष गोयल और गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय सहित तीन सदस्यीय केंद्रीय टीम भाग लेने वाली है। यह बातचीत चंडीगढ़ के महात्मा गांधी स्टेट इंस्टीट्यूट ऑफ पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में होनी है।

Advertisement

किसानों के 13 फरवरी को 'दिल्ली चलो मार्च' को देखते हुए पंजाब, हरियाणा और यूपी की दिल्ली पहुंचने वाली सीमाओं पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। बार्डर को सील कर दिया गया है और हरियाणा के कई शहरों में अफवाहों को रोकने के लिए इंटरनेट बंद कर दिया गया है। इस बीच सरकार किसानों को अपने आंदोलन वापस लेने के लिए मनाने में जुट गई है। सरकार की ओर से किसानों को बातचीत के माध्यम से रास्ता निकालने की अपील की गई है।

Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो