scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

कैंसर मरीजों को लगा रहे थे नकली इंजेक्शन, दिल्ली से नामी अस्पताल से जुड़े हैं आरोपी, 4 करोड़ की दवाई बरामद

पुलिस के मुताबिक आरोपियों के पास कैंसर की कुल नौ ब्रांड्स की नकली दवाइयां मौजूद थीं, जिनकी कीमत 4 करोड़ बताई जा रही है
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Mohammad Qasim
नई दिल्ली | Updated: March 13, 2024 11:40 IST
कैंसर मरीजों को लगा रहे थे नकली इंजेक्शन  दिल्ली से नामी अस्पताल से जुड़े हैं आरोपी  4 करोड़ की दवाई बरामद
दिल्ली क्राइम ब्रांच ने कार्रवाई की है। (फोटो : पीटीआई)
Advertisement

दिल्ली पुलिस ने केंसर की नकली दवाएं बेच रहे लोगों को दिल्ली-गुरुग्राम से गिरफ्तार किया है। आरोपियों में से दो दिल्ली के एक बड़े केंसर हॉस्पिटल के कर्मचारी भी हैं। जानकारी के मुताबिक यह काफी वक़्त से गंभीर बीमारी से जूझ रहे लोगों को बेवकूफ़ बना रहे थे। इनके इस रैकेट की भनक दिल्ली पुलिस को लगी और अब यह बड़ी कार्रवाई हुई है। इनके पास कैंसर की कुल नौ ब्रांड्स की नकली दवाइयां मौजूद थीं, जिनकी कीमत 4 करोड़ बताई जा रही है

पुलिस ने बताया कि नकली दवाइयों को केंसर की दवाई बता नकली इंजेक्‍शन रिफिल कर इन लोगों ने सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि नेपाल और अफ्रीकी देशों के नागरिकों को भी बेफाकूफ बनाया है।

Advertisement

क्या है पूरा मामला?

पुलिस ने जानकारी साझा की है कि यह एक खतरनाक तरीके से चलाया जा रहा अवैध कारोबार था। जिसमें आरोपी अस्पतालों से लेबल वाली खाली शीशियाँ इकट्ठा करते थे, फिर उनमें नकली दवाई भरते थे और उन्हें केंसर की दवाई बताकर बेच देते थे। यह रैकेट पश्चिमी दिल्ली के डीएलएफ कैपिटल ग्रीन्स के दो फ्लैटों से चल रहा था। दिल्ली पुलिस और दिल्ली सरकार ड्रग्स कंट्रोल की छापेमारी के दौरान गुड़गांव स्थित अस्पतालों के कर्मचारियों सहित सात लोगों को गिरफ्तार किया गया था। इनके पास से नकली दवा की 140 से अधिक शीशियां (जिनकी रकम लगभग 4 करोड़ रुपये मानी जा रही है) पाई गईं।

कौन थे ये लोग?

पुलिस के मुताबिक जानकारी मिली थी जिसके बाद आरोपियों को पकड़ने के लिए चार स्थानों - मोती नगर, गुड़गांव में साउथ सिटी, यमुना विहार और दिल्ली के एक अस्पताल में एक साथ छापेमारी करने के लिए एक पुलिस टीम का गठन किया गया था। जिसके बाद विफिल जैन (46), सूरज शत (28), नीरज चौहान (38), तुषार चौहान (28), परवेज़ (33), कोमल तिवारी (39), और अभिनय कोहली (30) को पकड़ा गया।

ड्रग्स कंट्रोल विभाग के अधिकारियों के मुताबिक आरोपी शीशियों में दवाई भरते और उनकी कीमत तय करते थे। इस तरीके से आम लोगों को बेवकूफ बना कर वे बड़ी कमाई कर रहे थे।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो