scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

रामनवमी हिंसा मामले में पश्चिम बंगाल में 2 पुलिस अफसरों पर EC का एक्शन, की यह कार्रवाई

भारतीय जनता पार्टी के नेता शुभेंदु अधिकारी ने पश्चिम बंगाल के राज्यपाल को रामनवमी पर हुई झड़प को लेकर चिट्ठी लिखी थी। उन्होंने मुर्शिदाबाद के रेजीनगर इलाके में रामनवमी जुलूस के दौरान हुई झड़पों की जांच एनआईए से कराने की मांग की थी।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: संजय दुबे
नई दिल्ली | Updated: April 20, 2024 09:46 IST
रामनवमी हिंसा मामले में पश्चिम बंगाल में 2 पुलिस अफसरों पर ec का एक्शन  की यह कार्रवाई
राम नवमी के अवसर पर बंगाल के मुर्शिदाबाद में जुलूस निकाले गये। (इमेज- पीटीआई)
Advertisement

पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में रामनवमी के अवसर पर जुलूस निकाले जाने के दौरान हुई हिंसा को रोकने में कथित तौर पर नाकाम रहने को चुनाव आयोग ने गंभीरता से लिया है। आयोग ने सफल रहने पर शुक्रवार को दो पुलिस थानों के प्रभारियों को निलंबित कर दिया। चुनाव आयोग के अनुसार, निर्देशों के बावजूद शक्तिपुर और बेलडांगा पुलिस थानों के प्रभारी ‘‘धार्मिक हिंसा’’ को रोकने में विफल रहे। एक अधिकारी ने बताया, ‘‘दोनों अधिकारी जिला पुलिस मुख्यालय में रहेंगे और चुनाव संबंधी कोई भी कार्य नहीं कर पाएंगे। संबंधित अधिकारियों को दोनों अधिकारियों के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल करना चाहिए।’’ उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी से उनके स्थान पर नियुक्ति के लिए नाम भेजने को कहा है।

पूर्वी मेदिनीपुर में भी हिंसक झड़प देखने को मिली थी

रामनवमी के अवसर पर केवल मुर्शिदाबाद ही नहीं बल्कि पश्चिम बंगाल के पूर्वी मेदिनीपुर में भी हिंसक झड़प देखने को मिली थी। यहां पर हुई हिंसा में तकरीबन 4 लोग घायल हो गए। बीजेपी ने आरोप लगाया कि शोभायात्रा पर पत्थर बरसाए गए। पुलिस को भीड़ को हटाने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा और आंसू गैस के गोले भी दागने पड़े थे।

Advertisement

नंदीग्राम में बीजेपी का दफ्तर जलाने का भी आरोप

भारतीय जनता पार्टी ने यह भी आरोप लगाया कि उनकी पार्टी के पांच कार्यकर्ताओं को अरेस्ट किया गया है। बीजेपी की उम्मीदवार अग्निमित्रा पॉल मौके पर पहुंची और पार्टी कार्यकर्ताओं को तुरंत छोड़ने की मांग की। पॉल की अगुवाई में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने टायर जलाए और बेल्डा-कांठी के रास्ते को बंद कर रातभर विरोध प्रदर्शन किया। वहीं, पार्टी ने आरोप लगाया कि नंदीग्राम में बीजेपी का दफ्तर जला दिया गया।

भारतीय जनता पार्टी के नेता शुभेंदु अधिकारी ने पश्चिम बंगाल के राज्यपाल को रामनवमी पर हुई झड़प को लेकर चिट्ठी लिखी थी। उन्होंने मुर्शिदाबाद के रेजीनगर इलाके में रामनवमी जुलूस के दौरान हुई झड़पों की जांच एनआईए से कराने की मांग की थी। जुलूस पर छतों से पथराव किए जाने से करीब 20 लोग घायल हो गए थे। पूरे इलाके में धारा 144 लागू कर दी गई थी।

Advertisement

बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर पोस्ट कर कहा कि मुख्यमंत्री के भड़काऊ भाषण की वजह से पश्चिम बंगाल राज्य में अलग-अलग स्थानों पर रामनवमी के जुलूसों को बाधित किया गया और उन पर हमला किया गया। उपद्रवियों को उकसाया गया। इन सभी को आश्वासन दिया गया था कि कानून प्रवर्तन एजेंसी उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं करेगी क्योंकि उनके हाथ बंधे हुए हैं।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो