scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

शराब घोटाले में ED दाखिल करेगी नई चार्जशीट, AAP को बना सकती है आरोपी

तेलंगाना एमएलसी के कविता की गिरफ्तारी को 60 दिन पूरे होने वाले हैं और इसी कारण ये दायर की जायेगी।
Written by: Ritu Sarin | Edited By: Nitesh Dubey
नई दिल्ली | Updated: April 22, 2024 09:31 IST
शराब घोटाले में ed दाखिल करेगी नई चार्जशीट  aap को बना सकती है आरोपी
शराब घोटाले में ED नई चार्जशीट दायर करेगी। (पीटीआई फोटो)
Advertisement

प्रवर्तन निदेशालय (ED) शराब नीति घोटाले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के खिलाफ नई चार्जशीट दायर करेगा। ये एक सप्लीमेंट्री चार्जशीट होगी। ED इसे 15 मई से पहले दायर कर सकती है। तेलंगाना एमएलसी के कविता की गिरफ्तारी को 60 दिन पूरे होने वाले हैं और इसी कारण ये दायर की जाएगी।

4-5 लोगों को बनाया जा सकता है आरोपी

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार चार्जशीट अंतिम चरण में है और मामले में चार या पांच अन्य आरोपियों के नाम भी शामिल हो सकते हैं। अरविंद केजरीवाल और कविता के अलावा नए चार्जशीट में गोवा के पार्टी कार्यकर्ता चनप्रीत सिंह का नाम भी शामिल होने की संभावना है। 15 अप्रैल को उन्हें गिरफ्तार किया गया था और उन पर गोवा विधानसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी के फंड मैनेजमेंट का आरोप लगाया गया है।

Advertisement

अधिकारियों ने कहा कि हवाला लेनदेन में कथित तौर पर शामिल एक या दो और लोगों का नाम भी चार्जशीट में शामिल किए जाने की संभावना है। ईडी अधिकारियों ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा कि AAP को आरोपी पार्टी के रूप में नामित करना एक महत्वपूर्ण कदम है और उनके पास इसका समर्थन करने के लिए ठोस सबूत है।

अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल ने किया था AAP को आरोपी बनाने का जिक्र

16 अक्टूबर 2023 को अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल एसवी राजू ने जस्टिस संजीव खन्ना और एसवी भट्टी की पीठ के सामने कहा था, "हम (ईडी) धारा 70 (धन शोधन निवारण अधिनियम की) का इस्तेमाल करते हुए आम आदमी पार्टी को आरोपी बनाने पर विचार कर रहे हैं।"

Advertisement

वहीं सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील अभिषेक सिंघवी (जो केजरीवाल और मनीष सिसोदिया दोनों के लिए सुप्रीम कोर्ट में पेश हुए) ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया, "AAP (एक राजनीतिक पार्टी) को PMLA की धारा 70 के प्रावधानों के तहत एक 'कंपनी' के रूप में नहीं माना जा सकता है। कानून के अस्तित्व के 20 वर्षों में कभी भी किसी राजनीतिक दल के खिलाफ इसका इस्तेमाल नहीं किया गया। यदि ईडी ऐसा करता है, तो पूरा मकसद संपत्ति जब्त करना, बैंक खाते फ्रीज करना, एक राजनीतिक दल को नष्ट करना है। यह दिखाएगा कि राजनीतिक गतिविधियों को कथित वित्तीय उल्लंघनों के आधार पर कमजोर किया जा सकता है और चुनावों के दौरान रणनीतिक रूप से इस्तेमाल किया जा सकता है।''

Advertisement

वहीं पूर्व कानून मंत्री कपिल सिब्बल ने कहा, "एक राजनीतिक दल एक वैधानिक निकाय और लोगों की एक संरचना है। यह अनुचित कदम होगा और इससे कुछ हासिल नहीं होगा। इस तरह के कदम से साजिश की बू आती है और यह हताशा भरा कदम होगा। यह और कुछ नहीं बल्कि बदनाम करने का प्रयास है और पीएमएलए की धारा 70 के प्रावधानों का पूर्ण रूप से दुरुपयोग है।''

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 चुनाव tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो