scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

चाबहार डील पर बैन की धमकी देने वाले अमेरिका को जयशंकर की दो टूक, बोले- छोटी सोच ना रखें

S Jai Shankar On America: विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि ईरान के साथ डील को लेकर अमेरिका से बातचीत की जाएगी।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | May 15, 2024 14:02 IST
चाबहार डील पर बैन की धमकी देने वाले अमेरिका को जयशंकर की दो टूक  बोले  छोटी सोच ना रखें
विदेश मंत्री एस जयशंकर। (इमेज-पीटीआई)
Advertisement

S Jai Shankar On America: भारत ने ईरान के साथ चाबहार पोर्ट के संचालन को लेकर 10 साल का करार कर लिया है। इसको लेकर अमेरिका ने नाराजगी जाहिर की है और कहा कि ईरान के साथ डील करने पर उस पर प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं। अमेरिका की टिप्पणी के बाद अब विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मोर्चा संभाल लिया है। उन्होंने कहा कि इस प्रोजेक्ट से पूरे क्षेत्र को फायदा मिलेगा। ऐसे जरूरी प्रोजेक्ट पर छोटी सोच रखना सही नहीं है।

विदेश मंत्री बुधवार को कोलकाता में अपनी किताब 'व्हाई इंडिया मैटर्स' के बंगाली संस्करण के लॉन्च के बाद एक बातचीत में बोल रहे थे। इस दौरान जब उनसे चाबहार पोर्ट को लेकर अमेरिका के बयान पर सवाल किया गया तो इस पर जयशंकर ने कहा, 'मैंने कुछ बयानों को पढ़ा है, लेकिन मुझे लगता है कि यह लोगों से बात करने, उन्हें समझाने और आश्वस्त करने का मुद्दा है कि यह वास्तव में सभी लोगों के फायदे के लिए है। मुझे नहीं लगता कि लोगों को इसके बारे में छोटी सोच रखनी चाहिए।

Advertisement

पहले अमेरिका ने चाहबहार पोर्ट का समर्थन किया

विदेश मंत्री ने कहा कि अमेरिका ने इतिहास में पहले ऐसा कभी नहीं किया है। इसलिए अगर आप चाबहार पोर्ट के लिए अमेरिका के नजरिये को देखें तो वह खुद खुलकर कहता रहा है कि चाहबार का बहुत महत्व है। इतना ही नहीं, जयशंकर ने कहा कि ईरान के साथ डील को लेकर अमेरिका से बातचीत की जाएगी।

अमेरिका ने जाहिर की नाराजगी

बता दें कि भारत ईरान, अफगानिस्तान, कजाकिस्तान और उज्बेकिस्तान जैसे मध्य एशियाई देशों तक आसानी से पहुंचने के लिए चाबहार पोर्ट पर एक टर्मिनल को बना रहा है। भारत के इस समझौते को चीन के द्वारा पाकिस्तान में बनाए जा रहे ग्वादर पोर्ट की काट के तौर पर देखा जा रहा है।

हालांकि, अमेरिका ने ईरान पर उसके परमाणु कार्यक्रम को लेकर प्रतिबंध लगा दिए थे, जिसके कारण बंदरगाह का काम धीमा पड़ गया था। अब अमेरिका ने एक बार फिर इस नए समझौते पर नाराजगी जताई है और भारत पर ईरान जैसे प्रतिबंध लगाने के खतरों के बारे में चेतावनी दी है।

Advertisement

दरअसल अमेरिका विदेश विभाग के प्रधान उप-प्रवक्ता वेदांत पटेल ने कहा, 'मैं सिर्फ इतना कहूंगा कि ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंध आज भी लागू हैं और हम आगे भी लागू रहेंगे। इतना ही नहीं, उन्होंने कहा कि जो कोई भी ईरान के साथ व्यापारिक समझौता करने का विचार रखता है तो उन्हें बैन लगने के संभावित खतरों के बारे में जानकारी होनी चाहिए।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो