scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

दसवीं के छात्रों से हुआ झगड़ा तो अपने ही स्कूल के हास्टल में कर दी थी तोड़फोड़, अदालत ने लिया ये एक्शन

अदालत ने अग्रिम जमानत मंजूर करते हुए कहा कि चारों को स्कूल के चार-चार क्लास रूम साफ करने होंगे।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: शैलेंद्र गौतम
Updated: October 02, 2023 14:24 IST
दसवीं के छात्रों से हुआ झगड़ा तो अपने ही स्कूल के हास्टल में कर दी थी तोड़फोड़  अदालत ने लिया ये एक्शन
(प्रतीकात्मक फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)
Advertisement

तमिलनाडु के यरकौड में स्थित मोनफोर्ट एंग्लो इंडियन हायर सेकेंडरी स्कूल के पूर्व छात्रों को अनोखी सजा मिली है। दसवीं के छात्रों से पहले झगड़ा करने और फिर अपने ही स्कूल के हास्टल में तोड़फोड़ करने के मामले में चार छात्रों को जमानत देने से पहले कोर्ट ने एक शर्त लगाई है।

अदालत ने अग्रिम जमानत मंजूर करते हुए कहा कि चारों को स्कूल के चार-चार क्लास रूम साफ करने होंगे। इसके साथ ही उनको महात्मा गांधी, तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री के कामराज और डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम के बारे में चार-चार पेज का निबंध लिखकर कोर्ट में जमा कराना होगा।

Advertisement

इसे स्कूल की वेबसाइट पर अगले एक साल के लिए डिस्पले किया जाएगा। चारों को हिदायत है कि वो कोई भी मैटर इंटरनेट से कॉपी नहीं करेंगे। चारों को हाथ से निबंध लिखकर लाना होगा। अगर कॉपी करने के बारे में कोर्ट को पता चला तो चारों को जमानत नहीं दी जाएगी।

मामले के मुताबिक चारों छात्र फिलहाल कॉलेज में पढ़ रहे हैं। पहले वो यरकौड में स्थित मोनफोर्ट एंग्लो इंडियन हायर सेकेंडरी स्कूल के छात्र थे। रिट्रीट सेरेमनी के दौरान उस समय़ 12वीं के चारों छात्रों का 10वीं के कुछ बच्चों से विवाद हो गया था। विवाद की वजह अपनी पसंद का गाना बजाना था। उस समय तो स्कूल प्रबंधन के दखल से मामला शांत हो गया। लेकिन कुछ दिनों बाद चारों छात्र स्कूल के हास्टल में आए और 10वीं के छात्रों के साथ वहां के स्टाफ से मारपीट की। चारों ने हास्टल में जमकर तोड़फोड़ भी की थी।

Advertisement

तमिलनाडु पुलिस ने उनके खिलाफ केस दर्ज किया था। चारों ने माफी मांगते हुए कोर्ट से अग्रिम जमानत की मांग की थी। जस्टिस टीका रमन ने उनको जमानत तो दी लेकिन कड़ी शर्तों के साथ। कोर्ट का कहना था कि चारों को ऐसा सबक देना जरूरी है जो बाकी विद्यार्थियों के लिए भी एक मिसाल बने। वो ऐसी हिंसक हरकतें करने से बचें।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो