scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

बस 4 डिग्री और… क्या दिल्ली में पारा तोड़ देगा दुनिया के सबसे ज्यादा तापमान का रिकॉर्ड

Delhi Heatwav: दिल्ली में आज सूरज की तपिश के चलते एक और नया रिकॉर्ड बन गया। वहीं भीषण गर्मी के चलते लोगों की त्वचा तक में जलन होने लगी।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | Updated: May 29, 2024 19:46 IST
बस 4 डिग्री और… क्या दिल्ली में पारा तोड़ देगा दुनिया के सबसे ज्यादा तापमान का रिकॉर्ड
Delhi Heatwave: दिल्ली में गर्मी तोड़ रही है सारे रिकॉर्ड (सोर्स - PTI/File)

Delhi Heatwave News: देश की राजधानी दिल्ली में भीषण गर्मी का कहर जारी है, आज दिल्ली के नॉर्थ-वेस्ट क्षेत्र के मुंगेशपुर में बुधवार को अब तक सबसे अधिक तापमान 52.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज कर लिया। भारतीय मौसम विभाग के अनुसार, मुंगेशपुर स्थित स्वचालित मौसम केंद्र ने दोपहर करीब 2.30 बजे तापमान दर्ज किया गया है। मुंगेशपुर और उत्तरी दिल्ली के नरेला में अधिकतम तापमान एक दिन पहले मंगलवार को 49.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

बता दें कि मुंगेशपुर में दर्ज किया गया 52.9 डिग्री सेल्सियस तापमान दिल्ली में अब तक का सबसे ज्यादा पारा रहा है। ऐसे में अगर दिल्ली का तापमान महज 4.4 डिग्री और बढ़ता है तो यह विश्व का सबसे अधिक तापमान वाला घोषित हो जाएगा। यह पृथ्वी पर अब तक का सबसे अधिक तापमान होगा।

कहां होता है सबसे ज्यादा तापमान

बता दें कि दुनिया के सबसे अधिक तापमान वाले शहर के तौर पर यह कैलिफोर्निया की ग्रीनलैंड डेथवैली के पास है, जहां दुनिया का सबसे ज्यादा तापमान 56.7 डिग्री डिग्री सेल्सियस दर्ज किया जा चुका है। ग्रीन लैंड के इस क्षेत्र को क्रीक रेंच कहा जाता है। भारतीय मौसम विभाग के क्षेत्रीय प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि शहर के बाहरी इलाके राजस्थान से आने वाली गर्म हवाओं से सबसे पहले प्रभावित होने वाले क्षेत्र हैं।

समाचार एजेंसी पीटीआई से बातचीत में उन्होंने कहा कि दिल्ली के कुछ हिस्से इन गर्म हवाओं के आने से सबसे ज्यादा प्रभावित होते हैं, जिससे पहले से ही खराब मौसम और खराब हो जाता है। मुंगेशपुर, नरेला और नजफगढ़ जैसे क्षेत्र सबसे पहले इन गर्म हवाओं का पूरा प्रभाव महसूस करते हैं, जिसके चलते आज पारा दिल्ली में पुराने सारे रिकॉर्ड तोड़ चुका है।

भारत में कब-कब तापमान ने तोड़े रिकॉर्ड?

बता दें कि भारत में इससे पहले सबसे अधिक तापमान 51 डिग्री सेल्सियस 2016 में राजस्थान के फलौदी में दर्ज किया गया था। इसके बाद 2019 में रेगिस्तानी राज्य चुरू में 50.8 डिग्री और 1956 में अलवर में 50.6 डिग्री तापमान दर्ज किया गया था।

बता दें कि राष्ट्रीय राजधानी गर्मी के चलते बिजली की खपत ने भी सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। बुधवार को 8,302 मेगावाट बिजली की मांग दर्ज की गई, जो अब तक की सबसे अधिक है। एयर कंडीशनर के बढ़ते इस्तेमाल के कारण ऐसा हुआ है।

Tags :
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 चुनाव tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो