scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

संजय सिंह ने जेल में मांगा बोतलबंद पानी और हेल्दी खाना, जानिए कोर्ट ने क्या कहा

अदालत ने कहा कि यह भोजन ट्रेन की पेंट्री कार में उपलब्ध हो या आईआरसीटीसी के ऑनलाइन ऐप के माध्यम से इसकी व्यवस्था की जाए।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: shruti srivastava
नई दिल्ली | Updated: March 08, 2024 21:02 IST
संजय सिंह ने जेल में मांगा बोतलबंद पानी और हेल्दी खाना  जानिए कोर्ट ने क्या कहा
आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह (PTI PHOTO)
Advertisement

दिल्ली की एक अदालत ने AAP नेता संजय सिंह को पेशी के दौरान हेल्दी फूड और बोतलबंद पानी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। कोर्ट ने कहा कि किसी दूसरे राज्य या कोर्ट में पेशी के दौरान या ट्रेन से ले जाने के दौरान भी उन्हें डॉक्टर के बताए निर्देश के अनुसार ही भोजन उपलब्ध कराया जाना चाहिए। संजय सिंह की याचिका पर अदालत ने यह भी कहा कि अगर इसकी लागत 70 रुपये से अधिक आती है तो वह इनसे वसूला जाना चाहिए।

दिल्ली की एक अदालत ने आबकारी नीति मामले में गिरफ्तार आम आदमी पार्टी के नेता और सांसद संजय सिंह को राजधानी के बाहर की अदालतों में पेशी के दौरान उन्हें पौष्टिक आहार उपलब्ध कराने का संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया है।

Advertisement

न्यायाधीश ने कहा कि संजय सिंह को यात्रा के दौरान आहार के अलावा बोतल बंद पानी भी उपलब्ध कराया जाए। विशेष न्यायाधीश एम.के. नागपाल ने संजय सिंह की ओर से दायर आवेदन पर यह आदेश पारित किया। आप नेता ने अपने आवेदन में आरोप लगाया था कि दिल्ली की बाहर की अदालतों में पेशी के दौरान उन्हें साफ पेयजल, पौष्टिक आहार और रहने के लिए स्वच्छ स्थान जैसी बुनियादी जरूरतें उपलब्ध नहीं कराई जाती हैं।

न्यायाधीश ने स्वीकार किया कि जब आप के राज्यसभा सदस्य राष्ट्रीय राजधानी के बाहर ट्रेन से यात्रा करते हैं तो भोजन की पसंद के संबंध में कुछ सीमाएं हो सकती हैं। न्यायाधीश ने कहा, ‘‘इस अदालत का मानना है कि भले ही आवेदक एक सांसद हैं लेकिन वह विचाराधीन कैदी के रूप में किसी विशेषाधिकार या खास सुलूक के हकदार नहीं हैं।’’ न्यायाधीश ने कहा कि पहले से ही रिकॉर्ड में लाई गई उनकी चिकित्सा स्थिति को ध्यान में रखते हुए, उन्हें जेल में डॉक्टरों द्वारा बताया गया आहार दिया जा रहा है।

Advertisement

न्यायाधीश ने संबंधित पुलिस उपायुक्त (DCP) को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि जब भी आवेदक को पेशी के लिए शहर के बाहर की अदालतों में ले जाया जाए तो उन्हें उनकी पसंद का स्वस्थ और पौष्टिक आहार दिया जाए लेकिन यह चिकित्सकीय सलाह के अनुरूप हो। अदालत ने कहा कि यह भोजन ट्रेन की पेंट्री कार में उपलब्ध हो या आईआरसीटीसी के ऑनलाइन ऐप के माध्यम से इसकी व्यवस्था की जाए। उन्होंने कहा कि अगर इस तरह के खाने की कीमत विचाराधीन कैदियों के लिए प्रति खुराक निर्धारित 70 रुपये से अधिक है तो बढ़ी हुई कीमत आवेदनकर्ता दे और संबंधित अधिकारी यह कीमत उनसे वसूल सकते हैं।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो