scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Rahul Gandhi in Manipur: राहुल गांधी के पहुंचने से पहले मणिपुर में हुई फायरिंग, पुलिस ने दो लोगों को किया गिरफ्तार

Rahul Gandhi in Manipur: कांग्रेस नेता राहुल गांधी मणिपुर के दौरे पर हैं, जहां वे हिंसा प्रभावित लोगों से राहत शिविरों में मुलाकात करने पहुंचे हैं लेकिन उनके मणिपुर पहुंचने से पहले एक बार फिर गोलीबारी की खबरें आई हैं।
Written by: सुकृता बरुआ
नई दिल्ली | July 08, 2024 14:03 IST
rahul gandhi in manipur  राहुल गांधी के पहुंचने से पहले मणिपुर में हुई फायरिंग  पुलिस ने दो लोगों को किया गिरफ्तार
मणिपुर दौरे पर हैं राहुल गांधी (सोर्स - एक्सप्रेस फोटो)
Advertisement

Rahul Gandhi in Manipur: लोकसभा में नेता विपक्ष और कांग्रेस सांसद राहुल गांधी सोमवार को मणिुपर के दौरे पर हैं। वह सुबह ही मणिपुर के लिए रवाना हो गए थे। मणिपुर पहुंचने से पहले वे असम के सिलचर (Rahul Gandhi in Assam) भी पहुंचे थे, जहां उन्होंने बाढ़ प्रभावित लोगों (Assam Flood) से मुलाकात की। राहुल के हिंसा प्रभावित राज्य मणिपुर पहुंचने से पहले एक बार फिर फायरिंग की खबरें आईं, जिसने एक बार फिर टेंशन पैदा कर दी है।

Advertisement

राहुल गांधी के संभावित आगमन से कुछ घंटे पहले हिंसा प्रभावित जिले जिरीबाम में एक बार फिर फायरिंग हुई थी। राहुल के मणिपुर दौरे की शुरुआत भी जिरीबाम से होगी। जिरीबाम असम के कछार जिले की सीमा से सटा एक छोटा सा जिला है और यह सबसे नया इलाका है, जहां पिछले महीने राज्य में फैली हिंसा फैली थी।

Advertisement

पुलिस ने दी गिरफ्तारी की जानकारी

राहुल गांधी जिरीबाम के बाद राज्य के चुराचांदपुर और बिष्णुपुर जिलों में भी जाएंगे। इस मामले में स्थानीय पुलिस ने जानकारी दी है कि सोमवार को तड़के सुबह तीन बजे के करीब बंदूकधारियों ने पड़ोसी पहाड़ी जिले तामेंगलोंग के फैतोल से गुलरथोल की ओर फायरिंग की थी। जिरीबाम के पुलिस अधिकारी प्रदीप सिंह ने बताया है कि सुबह 10 बजे तक तामेंगलोंग पुलिस ने गोलीबारी के मामले में कुकी समुदाय के दो लोगों को गिरफ़्तार कर लिया है और उनके पास से बड़ी संख्या में हथियार भी बरामद हुए हैं।

पुलिस ने बताया है कि इस गोलबारी में कोई हताहत नहीं हुआ था। हालांकि एक बख्तरबंद कार इसकी चपेट में आ गई थी। पुलिस अधिकारी ने बताया है कि हमले का मुकाबला करने में पुलिस, सीआरपीएफ और असम राइफल्स के बीच अच्छा समन्वय है और हमलावरों के खिलाफ एक्शन भी लिया जा रहा है।

Advertisement

जिले से विस्थापित हुए 2000 से ज्यादा लोग

गौरतलब है कि जिरीबाम में उस समय तनाव उत्पन्न हो गया था, जब 6 जून को मैतेई निवासी सोइबाम सरथकुमार सिंह की हत्या कर दी गई थी। इसके बाद जिरीबाम शहर और उसके आसपास के कुकी निवासियों के घरों में आग लगा दी गई। बता दें कि यहां मैतेई बहुसंख्यक हैं। इसका नतीजा यह हुआ कि जिले से 1,000 से अधिक कुकी लोग विस्थापित होकर कछार चले गए।

Advertisement

दूसरी ओर प्रतिक्रिया के तौर पर जिले के बोरोबेकरा डिवीजन में रहने वाले मैतेई परिवारों के घरों को जला दिया गया, यह कुकी बाहुल्य आबादी वाला इलाका माना जाता है। इसके चलते यहां से 900 लोग विस्थापित हो गए और फिलहाल राहत शिविरों पर रहने को मजबूर हैं।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो