scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

'दुष्कर्म के दोषियों को नपुंषक बनाने का लाएं कानून', कांग्रेस नेता अलका लांबा ने BJP के लिए कही यह बात

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की मंत्री स्मृति ईरानी के सरकारी आवास के बाहर कांग्रेस की कई महिला कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन कर कानपुर की घटना में कड़ी कार्रवाई करने की मांग की।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: संजय दुबे
नई दिल्ली | Updated: March 02, 2024 15:19 IST
 दुष्कर्म के दोषियों को नपुंषक बनाने का लाएं कानून   कांग्रेस नेता अलका लांबा ने bjp के लिए कही यह बात
अखिल भारतीय महिला कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष अलका लांबा। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)
Advertisement

महिलाओं से दुष्कर्म करने वालों के खिलाफ सख्ती बरतने और उनको कड़ी सजा देने के लिए कांग्रेस नेता अलका लांबा ने कानून में संशोधन करने की मांग की है। उन्होंने बीजेपी पर आरोप लगाया कि पार्टी से जुड़े कई आरोपियों को वह बचाने में लगी है। अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की अध्यक्ष अलका लांबा ने शुक्रवार को आरोप लगाया, "महिलाओं खासतौर पर लड़कियों के खिलाफ अपराध बढ़ गये हैं और अब ये अनियंत्रित हो रहे हैं।"

फास्ट ट्रैक कोर्ट और विशेष अदालतें बनाने की मांग

अलका लांबा ने इन मामलों को देखने के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट और विशेष अदालतें बनाने की भी मांग की। उन्होंने कहा कि महिलाओं से दुष्कर्म करने वालों नपुंषक बनाने वाला कानून बनाया जाए और फांसी दी जाए। मध्य प्रदेश के ग्वालियर में उन्होंने कहा, "उत्तरप्रदेश के कानपुर में 2 नाबालिग बच्चियों के साथ दरंदगी की घटना, भयभीत करने वाली है। बीजेपी शासित राज्यों में कानून व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है और अधिकतर मामलों में अपराधी, BJP की सरकार और पार्टी से जुड़े हैं!" उन्होंने कहा, "चाहे कुलदीप सिंह सेंगर हो या बृजभूषण शरण, चाहे सक्षम पटेल हो या पूर्व सांसद चिन्मयानंद, उनकी बीजेपी सरकार और शीर्ष नेतृत्व से यारी है!!"

Advertisement

कानपुर के घाटमपुर में दो बच्चियों की लाश मिली थी

दो दिन पहले यूपी के कानपुर के घाटमपुर में एक गांव में ईंट भट्टे के पास खेत में दो लड़कियों के शव पेड़ से लटके मिले थे। घर वालों ने आरोप लगाया था कि इन नाबालिगों के साथ कुछ दिन पहले दुष्कर्म किया गया था। ये लड़कियां इसी ईंट-भट्टे में काम करती थीं।

अपर पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) हरीश चंद्रा ने कहा कि पीड़ित परिवारों का आरोप है कि 14 और 16 वर्ष की आयु की इन बच्चियों के साथ कुछ दिनों पहले ठेकेदार रामरूप निषाद, उसके बेटे और भतीजे ने सामूहिक दुष्कर्म किया था और आरोपियों ने उन्हें ब्लैकमेल करने के लिए वीडियो भी बनाया था। इसकी वजह से इन लड़कियों ने बुधवार को यह कड़ा कदम उठाया और पेड़ पर फांसी लगा ली। उन्होंने कहा कि पुलिस ने ठेकेदार रामरूप निषाद (48), उसके बेटे राजू (18) और भतीजे संजय (19) को गिरफ्तार कर लिया है। ये तीनों हमीरपुर जिले के रहने वाले हैं।

Advertisement

उधर, केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की मंत्री स्मृति ईरानी के सरकारी आवास के बाहर कांग्रेस की कई महिला कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन कर कानपुर की घटना में कड़ी कार्रवाई करने की मांग की।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो