scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

बंगाल के मुर्शिदाबाद में रामनवमी जुलूस के दौरान झड़प, छतों से फेंके गए पत्थर, कई लोग घायल

बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि ममता सरकार इस बार भी रामनवमी के जुलुस पर राम भक्तों की रक्षा करने में कामयाब नहीं हो सकी।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | Updated: April 18, 2024 08:16 IST
बंगाल के मुर्शिदाबाद में रामनवमी जुलूस के दौरान झड़प  छतों से फेंके गए पत्थर  कई लोग घायल
रामनवनी जुलुस। (इमेज- पीटीआई)
Advertisement

Ram Navami Violence In Murshidabad: पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में रामनवमी जुलुस के दौरान झड़पें हुईं। इस घटना में 20 लोग घायल हो गए। यह घटना शक्तिपुर इलाके में उस समय हुई जब रामनवमी पर शोभायात्रा निकाली जा रही थी। इस घटना की वीडियो भी सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है। इलाके के वीडियो में लोग अपनी छतों से जुलूस पर पथराव करते दिख रहे हैं। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा और आंसू गैस के गोले दागने पड़े।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि मुर्शिदाबाद जिले के शक्तिपुर में बुधवार शाम को रामनवमी की शोभायात्रा के दौरान एक धमाका भी हुआ। इसमें एक महिला घायल हो गई। इस धमाके की जांच की जा रही है। महिला को मुर्शिदाबाद मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में भर्ती किया गया है। हालांकि, इस बात की जानकारी नहीं दी गई है कि विस्फोट किस वजह से हुआ था।

Advertisement

बीजेपी ने ममता सरकार पर बोला हमला

बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर पोस्ट कर ममता बनर्जी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि पिछले साल की तरह जब ममता पुलिस की मंशा में कमी के कारण दलखोला, रिशरा और सेरामपुर में राम नवमी जुलूस पर हमला हुआ। इस साल भी ममता पुलिस राम भक्तों की रक्षा करने में विफल रही। रामनवमी जुलुस जिसकी प्रशासन के द्वारा इजाजत ले ली गई थी उस पर उपद्रवियों ने हमला किया।

अजीब बात है कि इस बार ममता पुलिस भी इस भयानक हमले में उपद्रवियों के साथ शामिल हो गई और राम भक्तों पर आंसू गैस के गोले दागे ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि जुलूस अचानक खत्म हो जाए। इतना ही नहीं, ममता पुलिस उपद्रवियों को माणिक्यहार मोड़ पर सनातनी समुदाय की दुकानों में तोड़फोड़ और लूटपाट करने से भी नहीं रोक सकी। यह ममता बनर्जी के उकसावे के उकसावे का ही नतीजा है। पश्चिम बंगाल में धार्मिक त्योहारों के शांतिपूर्ण और घटना मुक्त उत्सव के लिए राज्य सरकार को बदल देना चाहिए।

Advertisement

ममता बनर्जी ने दी थी चेतावनी

बता दें कि हाल ही में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मुर्शिदाबाद में रामनवमी पर दंगे भड़कने की चेतावनी दी थी। उनकी यह चेतावनी इलेक्शन कमीशन के द्वारा डीआईजी को हटाने के बाद दी गई थी। ममता बनर्जी ने कहा था कि सिर्फ बीजेपी के निर्देश पर मुर्शिदाबाद के DIG को बदल दिया गया। अब, अगर मुर्शिदाबाद और मालदा में दंगे होते हैं, तो जिम्मेदारी चुनाव आयोग की होगी। बीजेपी दंगे और हिंसा भड़काने के लिए पुलिस अधिकारियों को बदलना चाहती थी। उन्होंने कहा कि अगर एक भी दंगा होता है, तो ईसीआई जिम्मेदार होगा क्योंकि वे यहां कानून व्यवस्था की देखभाल कर रहे हैं।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 चुनाव tlbr_img2 Shorts tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो