scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Kisan Andolan: किसानों के 'दिल्ली चलो' मार्च का मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, बार एसोसिएशन ने CJI को लिखी चिट्ठी

Kisan Andolan: पुलिस ने प्रदर्शनकारी किसानों को किसी भी हालत में दिल्ली में ना घुसने के लिए अलर्ट कर दिया है। पूरी दिल्ली में धारा 144 लागू कर दी गई है।
Written by: न्यूज डेस्क
Updated: February 13, 2024 12:26 IST
kisan andolan  किसानों के  दिल्ली चलो  मार्च का मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट  बार एसोसिएशन ने cji को लिखी चिट्ठी
दिल्ली के गाजीपुर बार्डर का दृश्य। (इमेज- पीटीआई)
Advertisement

Kisan Andolan: किसान एक बार फिर देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में घुसने की कोशिश की तैयारी में हैं। केंद्र सरकार के साथ उनकी मांगों पर बातचीत में कोई हल नहीं निकला, तो उन्होंने मंगलवार को दिल्ली चलो के नाम से बड़े पैमाने पर आंदोलन की तैयारी शुरू की। पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश सहित देश भर के कई राज्यों के किसान पहले ही राष्ट्रीय राजधानी की तरफ बढ़ चुके हैं। इससे दिल्ली के लोगों की परेशानी बढ़ गई है। अब इस मामले में सुप्रीम कोर्ट के दखल की मांग की गई है।

सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष आदिश अग्रवाल ने सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायधीश डीवाई चंद्रचूड़ को पत्र लिखा है। उन्होंने दिल्ली में प्रवेश करने की कोशिश करने वाले किसानों पर उपद्रव पैदा करने और नागरिकों के दैनिक जीवन को परेशानी में डालने का आरोप लगाया है। अग्रवाल ने सीजेआई से कहा कि इस मामले पर स्वत: संज्ञान लिया जाए और कार्रवाई की जाए। साथ ही, उन्होंने सीजेआई से कहा कि कोर्ट में वकीलों के ना आने पर भी कोई विपरीत आदेश पारित ना किया जाए। वहीं, सीजेआई ने इस चिट्ठी के जवाब में कहा कि अगर ट्रैफिक जाम से किसी भी तरह की परेशानी हो तो मुझे बताएं।

Advertisement

दिल्ली में हाई अलर्ट

दिल्ली पुलिस की खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली चलो मार्च के दौरान 2500 ट्रैक्टरों में करीब 20,000 किसान दिल्ली की सीमाओं पर पहुंच सकते हैं और हरियाणा और पंजाब के कई सीमावर्ती इलाकों में प्रदर्शनकारी मौजूद हैं, जो किसी भी समय दिल्ली में घुसने के लिए तैयार हैं।

पुलिस ने प्रदर्शनकारी किसानों को किसी भी हालत में दिल्ली में ना घुसने के लिए अलर्ट कर दिया है। पूरी दिल्ली में धारा 144 लागू कर दी गई है। पुलिस ने बताया कि ये नियम 12 फरवरी से 12 मार्च तक लागू रहेंगे। लोगों को इकट्ठा होने और रैलियां न करने की चेतावनी दी गई। ट्रैक्टर और ट्रॉलियों पर प्रतिबंध लगा दिया गया। दिल्ली में 12 मार्च तक बड़ी जनसभाएं आयोजित करने पर भी रोक लगा दी गई है।

Advertisement

उधर, हरियाणा के सात जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद हो गई हैं। आरएएफ और सीआरपीएफ के केंद्रीय बलों के साथ सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। पुलिस किसानों को लोहे की बाड़ और बैरिकेडिंग से रोकने की तैयारी कर रही है। दिल्ली की सीमाओं पर सुरक्षा बलों ने सीमेंट ब्लॉक, कंटेनर और क्रेन लगा दी है। हरियाणा ने अंबाला में पंजाब-हरियाणा सीमा को बंद कर दिया है। दिल्ली और यूपी के गाजीपुर बॉर्डर पर भारी सुरक्षा बल तैनात किया गया है।

आम लोगों को भारी परेशानी

किसानों के दिल्ली कूच करने के बाद बार्डर पर कड़ा पहरा लगा दिया गया है। एक-एक गाड़ी को चेक करने के बाद ही दिल्ली में एंट्री जा रही है। इससे डीएमई, एनएच-9, महाराजपुर बार्डर, लिंक रोड, गौड़ ग्रीन एवेन्यू कट पर सुबह से ही जाम लग गया। इससे आम लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ट्रैफिक पुलिस और स्थानीय पुलिस जाम की स्थिति को काबू करने की कोशिश में जुटी हुई है। साथ ही, लोगों को मेट्रो का इस्तेमाल करने की भी सलाह दी गई है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो