scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

'भाजपा में शामिल हो जाओ या फिर…', BJP ने दिल्ली की मंत्री आतिशी को भेजा कानूनी नोटिस

BJP Legal Notice Delhi Minister Atishi: आतिशी ने आरोप लगाया था कि मुझसे कहा गया था कि या तो मैं बीजेपी में शामिल हो जाऊं या फिर एक महीने में ईडी गिरफ्तार कर लेगी।
Written by: न्यूज डेस्क
नई दिल्ली | Updated: April 04, 2024 10:09 IST
 भाजपा में शामिल हो जाओ या फिर…   bjp ने दिल्ली की मंत्री आतिशी को भेजा कानूनी नोटिस
BJP Legal Notice Delhi Minister Atishi: बीजेपी ने दिल्ली की मंत्री आतिशी को कानूनी नोटिस भेजा है। (एक्सप्रेस फोटो)
Advertisement

BJP Legal Notice Delhi Minister Atishi: भाजपा ने दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी को मानहानि का आरोप लगाते हुए कानूनी नोटिस भेजा है। साथ ही सार्वजनिक माफी की मांगी की है। यह घटनाक्रम आतिशी के आरोप लगाने के एक दिन बाद हुआ है। दिल्ली की कालकाजी से विधायक आतिशी ने आरोप लगाया था कि भाजपा ने उन्हें एक संदेश के माध्यम से अपने खेमे में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया था।

आतिशी ने मंगलवार को आरोप लगाया था कि उन्हें एक करीबी सहयोगी के माध्यम से भाजपा में शामिल होने का प्रस्ताव दिया गया था। साथ ही इनकार करने पर गिरफ्तार करने की धमकी दी गई थी।

Advertisement

दिल्ली की मंत्री के आरोप लगाए जाने के एक दिन बाद बुधवार को इस मुद्दे पर प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए दिल्ली भाजपा अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने कहा कि दिल्ली भाजपा के मुख्य प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने इस संबंध में उन्हें कानूनी नोटिस भेजा था। सचदेवा ने कहा कि आतिशी आदतन आधारहीन आरोप लगाती रहती हैं। उनके द्वारा झूठा, मनगढ़ंत बयान दिया गया। कोई ठोस या सटीक जानकारी नहीं दी गई।

दिल्ली भाजपा प्रमुख ने कहा कि उन्होंने अपने आरोपों के समर्थन में महत्वपूर्ण विवरण का खुलासा नहीं किया है जैसे कि उनसे किसने संपर्क किया, कब संपर्क किया गया, क्या उनसे संपर्क करने वाला व्यक्ति करीबी परिचित था, वे कौन थे और किसके निर्देश पर बातचीत हुई। उन्होंने कहा कि जब भी आतिशी या उनकी पार्टी राजनीतिक परिस्थितियों में घिर जाती है, तो वे कानून तोड़ने या नेताओं की गिरफ्तारी की कहानियां सुनाते हैं। ऐसा हाल ही में दो बार किया गया है, लेकिन कोई सबूत नहीं दिया गया है।

सचदेवा ने कहा कि नोटिस में उनसे सार्वजनिक रूप से आरोप वापस लेने का आग्रह किया गया है, अगर वह तुरंत माफी मांगने में विफल रहीं, तो भाजपा और उसके कार्यकर्ताओं के अपमान के लिए उनके खिलाफ मानहानि का मामला तुरंत दायर किया जाएगा"।

Advertisement

इस घटनाक्रम पर प्रतिक्रिया देते हुए आतिशी ने कहा कि भाजपा को अपने नेताओं पर "ऐसे तरीकों से" हमला करने के बजाय चुनाव में आप के साथ लड़ना चाहिए।

Advertisement

मंगलवार को भाजपा पर उनसे संपर्क करने का आरोप लगाने के अलावा आतिशी ने कहा था कि उन्हें अपने घर और अपने रिश्तेदारों के आवासों पर प्रवर्तन निदेशालय के छापे पड़ने की आशंका है। उन्होंने कहा कि भाजपा लोकसभा चुनाव से पहले चार और आप नेताओं को गिरफ्तार करने की योजना बना रही है, जिनमें उनके अलावा वरिष्ठ नेता सौरभ भारद्वाज, दुर्गेश पाठक और राघव चड्ढा शामिल हैं।

आतिशी ने कहा था, ''मुझसे कहा गया था कि या तो मैं बीजेपी में शामिल हो जाऊं…और अगर मैं (नहीं) तो मुझे एक महीने में ईडी द्वारा गिरफ्तार कर लिया जाएगा…''

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो