scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

राम मंदिर के लिए आखिरी समय में एक लाख दीये का ऑर्डर, 300 महिलाओं ने पूरी रात किया काम, जगमग होगी अयोध्या

अयोध्या राम मंदिर में लाखों दीये प्रज्वलित किए जाएंगे। बाराबंकी की 300 महिलाओं ने पूरी रात काम कर 12 घंटे में एक लाख दीये बनाने का काम पूरा किया है। पढ़िए Manish Sahu की रिपोर्ट।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Jyoti Gupta
अयोध्या | Updated: January 22, 2024 15:50 IST
राम मंदिर के लिए आखिरी समय में एक लाख दीये का ऑर्डर  300 महिलाओं ने पूरी रात किया काम  जगमग होगी अयोध्या
अयोध्या राम मंदिर के लिए 300 महिलाओं ने बनाएं दीये। (express)
Advertisement

अयोध्या इस समय राममय हो गई है। हर तरफ जय श्री राम के नाम की घोषणा हो रही है। भक्त इस समय भक्ति में डूबे हैं। प्राण प्रतिष्ठा के अनुष्ठान का समापन हो गया है। वहीं आज रात राम मंदिर में ज्योति जलाई जाएगी। पूरा अयोध्या रोशनी से नहा लेगा। इसके लिए लाखों दीये प्रज्वलित किए जाएंगे।

बता दें कि बाराबंकी की 300 महिलाओं के समूह ने नया रिकॉर्ड कायम किया है। महिलाओं ने पूरी रात काम करके 12 घंटे में एक लाख दीये बनाने का काम पूरा किया है। इन दीयों को उपयोग राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह के बाद जश्न मनाने के लिए किया जाएगा। इन दीयों की रोशनी से पूरी अयोध्या को रोशन किया जाएगा। अधिकारियों ने कहा कि सूर्य कुंड में इन ईको फ्रेंडली दीयों का उपयोग किया जाएगा।

Advertisement

एनजीओ से जुड़े निमित सिंह (33) ने कहा कि उन्हें 18 जनवरी को अयोध्या नगर आयोग ऑफिस से एक लाख दीयों का ऑर्डर मिला। “प्रत्येक दीये की कीमत 5 रुपये होने के कारण 5 लाख के कॉन्ट्रैक्ट के साथ, मैंने तुरंत चैनपुरवा और रजौली गांवों की महिलाओं को एकजुट किया… कुछ ही घंटों में 300 महिलाएं दीये बनाने के लिए तैयार हो गईं।

12 घंटे में महिलाओं ने पूरा किया काम

महिलाएं इस पवित्र आयोजन पर अपनी भक्ति के कारण योगदान देने की इस कदर इच्छुक थीं कि उन्होंने 12 घंटे के रिकॉर्ड समय में ही काम पूरा कर दिया।" दीये बनाने के लिए महिलाओं ने पूरी रात काम किया। इसके बाद 20 जनवरी को अयोध्या नगर आयोग के ऑफिस में दीये पहुंचा दिए गए।

Advertisement

आईएएस अधिकारी और मसोधा ब्लॉक विकास अधिकारी पूजा साहू ने कहा "पारंपरिक तेल के दीयों की जगह मोम के दीये पर्यावरण को साफ रखते हैं। इन्हें बनाने में किसी पेंट का इस्तेमाल नहीं किया जाता है।" आयोग को हाल ही में मोम के दीयों के बारे में पता चला। ये दीये इको फ्रेंडली हैं। इसके कारण महिलाओं को रोजगार भी मिला। अधिकारियों के अनुसार, 22 जनवरी को अयोध्या में लगभग 10 लाख तेल के दीपक जलाए जाने की संभावना है। शाम को अयोध्या दीयों की रोशनी से जगमगा जाएगी।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो