scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

अयोध्या जा रही आस्था स्पेशल ट्रेन पर पत्थरबाजी, मोदी की मंत्री ने दिखाई थी हरी झंडी, VHP के लोग थे सवार

महाराष्ट्र के नंदुरबार में अयोध्या जा रही ट्रेन पर कुछ लोगों ने पत्थरबाजी की थी।
Written by: ईएनएस
Updated: February 12, 2024 22:11 IST
अयोध्या जा रही आस्था स्पेशल ट्रेन पर पत्थरबाजी  मोदी की मंत्री ने दिखाई थी हरी झंडी  vhp के लोग थे सवार
सूरत से अयोध्या जा रही आस्था स्पेशल ट्रेन (सोर्स - एक्सप्रेस फोटो)
Advertisement

ट्रेनों पर पत्थरबाजी की घटनाएं आए दिन सामने आती रही है। क्या तेजस, क्या वंदे भारत और क्या शताब्दी-राजधानी… सभी पर पत्थरबाजी ने लोगों को हैरान किया है। हालिया मामला आस्था स्पेशल ट्रेन से जुड़ा है, जो कि सूरत से अयोध्या जा रही थी। इस मामले में एक शख्स की गिरफ्तारी भी हो गई है। गिरफ्तार शख्स का नाम ईश्वर बताया जा रहा है, इसके अलावा रविंद्र नाम के एक शख्स को भी हिरासत में लिया गया है।

बता दें कि सूरत से अयोध्या जा रही 09053 सूरत अयोध्या आस्था स्पेशल ट्रेन को रविवार रात रेलवे और कपड़ा राज्यमंत्री दर्शना जरदोश और महापौर दक्षेश मवानी ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था लेकिन रात में ही इस पर नंदुरबार स्टेशन पहुंचने से पहले पत्थरबाजी हो गई थी।

Advertisement

रिपोर्ट के मुताबिक सूरत से अयोध्या जा रही आस्था स्पेशल ट्रेन पर पथराव हुआ था। इस पत्थरबाजी में एक कर्मचारी घायल हो गया है। केस में एक दो लोगों के खिलाफ एक्शन लिया गया। इस मामले सेक्शन 154 रेलवे एक्ट के तहत केस दर्ज हुआ था। गिरफ्तार दोनों ही आरोपियों से पूछताछ में सामने आया है कि ईश्वर नाम का शख्स मानसिक रोगी है। हालांकि दूसरे के बारे में कोई खास जानकारी सामने नहीं आई है।

जल्द ही हिरासत में ले लिए गए थे आरोपी

पुलिस की जांच में सामने आया है कि ईश्वर नांदेड़ का रहने वाला है। पथराव के बाद पकड़ने गई जीआरपी के कर्मचारियों पर ही पत्थर फेंके गए इसमें बाबूलाल नाम के एक कर्मचारी के पैर में पत्थर लगा है। स्टेशन में प्राथमिकी के तौर पर आरपीएफ ने केस दर्ज किया था। दोनों लोगों से पूछताछ की जा रही है। दोनों झाड़ियों में छिपे हुए थे। ट्रैक के पास से ही उन्हें कस्टडी में लिया गया है।

Also Read
Advertisement

गौरतलब है कि पथराव के बाद ट्रेन में हड़कंप मच गया था। हालांकि इस मामले में अधिकारियों का कहना है कि 2 से 4 पत्थर ही उस वक्त फेंके गए थे। वहीं आरपीएफ और जीआरपी ने संयुक्त रूप से कार्रवाई करते हुए दोनों को कस्टडी में लिया है। हालांकि गनीमत ये रही कि इस पत्थरबाजी की चपेट में आकर कोई घायल नहीं हुआ था। लोगों ने जानकारी दी है कि घटना के दौरान दोनों ही बोगियों पर दोनों ही तरफ से पत्थरबाजी की गई थी।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो