scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

शराब घोटाले में सीएम केजरीवाल पर क्या आरोप लगे? चार्जशीट में किन बिंदुओं पर फोकस

समझने वाली बात ये है कि ईडी की जो चार्जशीट है, उसमें सीएम अरविंद केजरीवाल के नाम का जिक्र कई बार किया गया है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Sudhanshu Maheshwari
नई दिल्ली | Updated: March 21, 2024 22:56 IST
शराब घोटाले में सीएम केजरीवाल पर क्या आरोप लगे  चार्जशीट में किन बिंदुओं पर फोकस
सीएम अरविंद केजरीवाल गिरफ्तार
Advertisement

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मुश्किलों में फंस गए हैं। शराब घोटाले में ईडी उनके खिलाफ कोई बड़ा एक्शन ले सकती है। इस समय सीएम के आवास पर ही ईडी की टीम मौजूद है और भारी संख्या में पुलिस फोर्स भी तैनात कर दी गई है। जिस तरह से उनके आवास के बाहर अभी धारा 144 लगा दी गई है, कई तरह की अटकलें लगने लगी हैं।

सबसे बड़ी चर्चा तो इस बात की है कि क्या सीएम अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी हो जाएगी? आम आदमी पार्टी के तमाम नेता इस समय दावा कर रहे हैं कि जांच एजेंसी केंद्र के इशारे पर ही उन्हें गिरफ्तार करने आई है। यहां तक कहा जा रहा है कि सीएम किसी भी कीमत पर इस्तीफा नहीं देने वाले हैं, उनकी तरफ से तो जेल से भी सरकार चलाई जाएगी।

Advertisement

अब सवाल ये उठता है कि आखिर किस मामले में सीएम अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करने की बात हो ही है, आखिर उन पर आरोप क्या लगे हैं। अब समझने वाली बात ये है कि ईडी की जो चार्जशीट है, उसमें सीएम अरविंद केजरीवाल के नाम का जिक्र कई बार किया गया है।

असल में कुछ दिन पहले इसी मामले में केसीआर की बेटी के कविता को अरेस्ट किया गया था। उनके एक अकाउंटेंट हैं- बुचीबाबू, ये वही शख्स है जिससे ईडी ने कई घंटे पूछताछ की थी। सवाल-जवाब के दौरान उसने ही सबसे पहले अरविंद केजरीवाल का नाम लिया था। उसने दावा किया था कि के कविता, मनीष सिसोदिया और अरविंद केजरीवाल के बीच में एक राजनीतिक समज चल रही थी। एक बड़ी बात ये है कि शराब घोटाले में ईडी ने दिनेश अरोड़ा को भी गिरफ्तार किया था। पता ये चला कि इस शख्स ने भी सीएम से मुलाकात कर रखी थी। इसी तरह वाईएसआर कांग्रेस के सांसद मंगुटा श्रीनिवासुलु रेड्डी और केजरीवाल के बीच में भी कई बार मुलाकतें हुईं।

Advertisement

रेड्डी शराब करोबार में एंट्री चाहते थे, दावा ये है कि सीएम ने ही उनके नाम को आगे किया था और उनकी तरफ से स्वागत भी किया गया। ईडी जांच का एक पहलू ये भी बताता है कि एक्साइज पॉलिसी पर मनीष सिसोदिया और अरविंद केजरीवाल साथ में ही काम कर रहे थे, ऐसे में अगर सिसोदिया पर कोई आरोप लगे, तो सीएम से पूछताछ लाजिमी है।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो