scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

चुनाव के दौरान असलहा धारकों को मिली बड़ी राहत, इलाहाबाद हाई कोर्ट ने दिया ये आदेश

आमतौर पर जब राज्यों में चुनाव होते हैं तो प्रशासन असलहा धारकों से उनके हथियार जमा करवा लेता है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Nitesh Dubey
नई दिल्ली | Updated: April 01, 2024 16:37 IST
चुनाव के दौरान असलहा धारकों को मिली बड़ी राहत  इलाहाबाद हाई कोर्ट ने दिया ये आदेश
इलाहाबाद हाई कोर्ट ने असलहा धारकों को बड़ी राहत दी है।
Advertisement

लोकसभा चुनावों के बीच इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया है। असलहे को लेकर हाईकोर्ट ने फैसला सुनाया है। कोर्ट ने कहा कि चुनाव में असलहा जमा नहीं कराया जा सकता है। कोर्ट के इस फैसले से असलहा धारकों को बड़ी राहत मिली है। कोर्ट ने कहा कि सामान्य आदेश से असलहे जमा नहीं करा सकते हैं।

आमतौर पर जब राज्यों में चुनाव होते हैं तो प्रशासन असलहा धारकों से उनके हथियार जमा करवा लेता है। हाई कोर्ट ने सुनवाई के दौरान पुराने फैसलों का भी जिक्र किया। कोर्ट ने कहा कि चुनाव में सुरक्षा के उपायों को आधार बनाते हुए लोगों से असलहा जमा कराने के लिए नहीं कह सकते हैं। कोर्ट की ओर से जारी आदेश में कहा गया कि यदि किसी असलहा धारक से कानून व्यवस्था को खतरा लगे, तो उसके लाइसेंस को जमा करा सकते हैं।

Advertisement

देशभर में लग चुकी है आचार संहिता

चुनावों की तारीखों का ऐलान होते ही आचार संहिता लागू हो जाती है। इस नियम के लागू होने के बाद नेता से लेकर आम जनता तक सभी तरह की पाबंदियां लग जाती हैं और इसका उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई भी की जाती है। अभी आचार संहिता लागू है। आचार संहिता क्या है? देश में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए आयोग कुछ नियम लागू करता है। आचार संहिता वोट देने जाने तक लागू रहती है।

आचार संहिता के दौरान सरकती आवास में प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, मंत्री और राजनीतिक हस्तियों की फोटो लगाने पर पूरी तरह से मनाही होती है। इस दौरान कोई भी व्यक्ति नेता सरकार की उपलब्धियों वाले विज्ञापन प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और दूसरे मीडिया में नहीं दे सकता। साथ ही सोशल मीडिया पर पोस्ट करते समय सावधानी बरतने की जरूरत होती है।

Advertisement

आचार संहिता के दौरान कोई भी ऐसा फोटो वीडियो शेयर नहीं कर सकते जिसमें सरकार की उपलब्धियां गिनाई जा रही हों। चुनाव के दौरान अधिक कैश लेकर जा रहे हैं तो आपसे पूछताछ की जा सकती है और धोखाधड़ी के संबंध में आपको सबूत देने होंगे। आम लोगों और व्यापारियों को कैश ले जाने के कुछ रिकॉर्ड के साथ जरूर रखना चाहिए।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो