scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

अधीर पर खड़गे ने खोया अपना 'अधीर', ममता पर बयानबाजी को लेकर बोले- जो सहमत नहीं बाहर जाएं

अधीर रंजन चौधरी पर कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे का गुस्सा फूट पड़ा है। उन्होंने दो टूक कह दिया है कि जो सहमत नहीं है, उसे बाहर चले जाना चाहिए।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Sudhanshu Maheshwari
नई दिल्ली | Updated: May 19, 2024 11:46 IST
अधीर पर खड़गे ने खोया अपना  अधीर   ममता पर बयानबाजी को लेकर बोले  जो सहमत नहीं बाहर जाएं
अधीर और खड़गे में छिड़ी जुबानी जंग

अधीर रंजन चौधरी पर कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे का गुस्सा फूट पड़ा है। उन्होंने दो टूक कह दिया है कि जो सहमत नहीं है, उसे बाहर चले जाना चाहिए। असल में अधीर रंजन चौधरी की तरफ से लगातार पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर बयानबाजी हो रही थी। उसी बयानबाजी से कांग्रेस अध्यक्ष भड़क गए और उन्होंने अधीर को ये अल्टीमेटम दे दिया।

खड़गे ने क्यों खोया 'अधीर'?

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने बिना अधीर रंजन चौधरी का नाम लिए कहा कि वे फैसला करने वाले कोई नहीं होते हैं। कांग्रेस फैसला करेगी, हाईकमान तय करेगी कि क्या सही है, हम सभी को उसका फिर पालन भी करना ही होगा, अगर कोई पालन नहीं करना चहता तो उसे बाहर जाना होगा। अब मल्लिकार्जुन खड़गे का ये बयान मायने रखता है, साफ पता चल रहा है कि अधीर से ज्यादा तवज्जो सीएम ममता बनर्जी को दी गई है।

अधीर ने क्यों दिखाए तेवर?

असल में अधीर रंजन चौधरी पिछले कई दिनों से ममता के खिलाफ कड़े तेवर दिखा रहे हैं, वे आरोप लगा रहे हैं कि कांग्रेस को बंगाल में बर्बाद करने में ममता का भी हाथ है। अब उसी बयानबाजी को लेकर खड़गे को कहना पड़ा कि ममता बनर्जी इंडिया गठबंधन की हिस्सा हैं। वैसे खड़गे की सख्त चेतावनी के बाद भी अधीर रंजन चौधरी के बयानों में तल्खी कम नहीं हुई है। वे तो अभी भी ममता को ही कोस कर रहे हैं और कांग्रेस अध्यक्ष को भी आईना दिखाने की कोशिश कर रहे हैं।

क्या खिच गई तनाव की दीवार?

अधीर रंजन चौधरी ने बोला कि जो भी बंगाल में कांग्रेस को बर्बाद करना चाहेगा, उसके साथ किसी भी तरह की सहानुभूति नहीं रखी जा सकती। मैं तो पार्टी का एक सिपाही हूं और अपनी लड़ाई को बीच में नहीं रोक सकता हूं। मेरी वैचारिक लड़ाई चल रही है, कोई निजी लड़ाई नहीं है। हमे तो बंगाल में कांग्रेस को बचाना है, यहां बीजेपी-टीएमसी साथ में हैं। इसके ऊपर अधीर रंजन ने तल्ख अंदाज में यहां तक कह दिया कि वे भी CWC और हाईकमान के सदस्य हैं।

बंगाल में क्यों कांग्रेस-टीएमसी आमने-सामने

ये बताने के लिए काफी है कि अधीर रंजन को खड़गे की खरी-खरी रास नहीं आई है, वे तो साफ कह रहे हैं कि हाईकमान के बीच में उनकी भी चलती है। यानी कि ममता को लेकर कांग्रेस के ही दो दिग्गज आमने-सामने आ चुके हैं। वैसे बंगाल में स्थिति ज्यादा विस्फोटक इसलिए बनी हुई है क्योंकि यहां इंडिया गठबंधन नहीं बन पाया, कांग्रेस अलग चुनाव लड़ रही है और ममता की टीएमसी भी सभी सीटों पर प्रत्याशी उतार चुकी है।

Tags :
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 चुनाव tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो