scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

कूनो में गामिनी ने पांच नहीं 6 शावकों को दिया जन्म, केंद्रीय मंत्री ने पोस्ट किया VIDEO

Kuno Park: पिछले साल मार्च में मादा चीता ज्वाला ने चार शावकों को जन्म दिया था लेकिन उनमें से केवल एक ही जीवित बच पाया था।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Mohammad Qasim
नई दिल्ली | Updated: March 18, 2024 13:54 IST
कूनो में गामिनी ने पांच नहीं 6 शावकों को दिया जन्म  केंद्रीय मंत्री ने पोस्ट किया video
दक्षिण अफ्रीकी चीता गामिनी ने छह शावकों को जन्म दिया है (फोटो : पीटीआई)
Advertisement

मध्य प्रदेश के कूनो राष्ट्रीय उद्यान में अफ्रीकी मादा चीता ‘गामिनी’ ने पांच नहीं बल्कि छह शावकों को जन्म दिया है। यह जानकारी सोमवार को केंद्रीय पर्यावरण मंत्री भूपेन्द्र यादव ने दी। 10 मार्च को उन्होंने जानकारी साझा की थी कि पांच वर्षीय मादा चीता ने कूनो नेशनल पार्क में पांच शावकों को जन्म दिया है।

गामिनी से पांच शावकों के जन्म की खबर के एक सप्ताह बाद यह अब पुष्टि हो गई है कि दक्षिण अफ्रीकी चीता मां गामिनी ने छह शावकों को जन्म दिया है, जो पहली बार मां बनने वाली मादा चीता के लिए एक तरह का रिकॉर्ड है।’

Advertisement

क्या बोले भूपेन्द्र यादव?

सोमवार सुबह अपने आधिकारिक ‘एक्स’ अकाउंट पर एक पोस्ट साझा करते हुए मंत्री भूपेन्द्र यादव ने लिखा--- ‘गामिनी की विरासत आगे बढ़ रही है! खुशी का कोई अंत नहीं है, यह पांच नहीं, बल्कि छह शावक हैं! उन्होंने छह शावकों की तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर शेयर की हैं। अब कूनों राष्ट्रीय उद्यान में चीतों की संख्या बढ़कर 27 हो गई है, जिसमें 14 शावक भी शामिल हैं।

पिछले साल भी आए थे नन्हें मेहमान

पिछले साल मार्च में मादा चीता ज्वाला ने चार शावकों को जन्म दिया था लेकिन उनमें से केवल एक ही जीवित बच पाया था। ज्वाला ने इस साल जनवरी में अपने दूसरे चार शावकों को जन्म दिया।

इसके बाद चीता आशा ने तीन शावकों को जन्म दिया था। 2022 में 17 सितंबर को आठ नामीबियाई चीतों को कूनों राष्ट्रीय उद्यान में लाया गया था, इनमें पांच मादा और तीन नर शामिल थे।

Advertisement

फरवरी 2023 में अन्य 12 चीतों को दक्षिण अफ्रीका से पार्क में लाया गया था। पिछले साल मार्च से अब तक ज्वाला से जन्मे तीन शावकों समेत 10 चीतों की मौत हो चुकी है। यह चीते महत्वाकांक्षी चीता पुनरुत्पादन परियोजना के तहत भारत लाए गए थे।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो