scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

गर्मी में पेशाब का पीला आना इस 1 बीमारी का हो सकता है संकेत, किन लोगों को है इस डिजीज का ज्यादा खतरा, एक्सपर्ट से जानते हैं उपचार

नेफ्रोलॉजी पीएसआरआई नई दिल्ली में सीनियर कंसल्टेंट डॉक्टर रवि बंसल ने बताया कि बॉडी में पानी की कमी होने पर बॉडी में टॉक्सिन जमा होने लगते हैं और कई बीमारियों का खतरा बढ़ता है।
Written by: Shahina Noor
नई दिल्ली | Updated: March 25, 2024 13:46 IST
गर्मी में पेशाब का पीला आना इस 1 बीमारी का हो सकता है संकेत  किन लोगों को है इस डिजीज का ज्यादा खतरा  एक्सपर्ट से जानते हैं उपचार
गहरे या पीले रंग का पेशाब इस बात का संकेत है कि आपकी बॉडी में पानी की कमी होने लगी है। freepik
Advertisement

गर्मी में कई तरह की परेशानियां बढ़ने लगती है जिसमें सबसे कॉमन परेशानी है डिहाइड्रेशन। डिहाइड्रेशन यानि बॉडी में पानी की कमी होना। गर्मी में पसीना ज्यादा आता है और यूरिन के जरिए भी बॉडी से पानी डिस्चार्ज होता है ऐसे में अगर पानी का सेवन कम किया जाए तो डिहाइड्रेशन की परेशानी बढ़ने लगती है। बॉडी में पानी की कमी होने से यूरिन के रंग पर सबसे पहले असर पड़ता है। बॉडी में पानी की कमी होने से यूरिन का रंग पीला होने लगता है,यूरिन से बदबू आने लगती है और कई बार यूरिन में जलन भी होने लगती है।

नेफ्रोलॉजी पीएसआरआई नई दिल्ली में सीनियर कंसल्टेंट डॉक्टर रवि बंसल ने बताया कि हमारी बॉडी 60 फीसदी पानी से बनी है। बॉडी के वातावरण को बनाए रखने के लिए पानी की आवश्यकता होती है। पानी में मौजूद इलेक्ट्रोलाइट्स जैसे सोडियम और पोटैशियम का संतुलन बना रहता है। दिल खून को पम्प करता है जिससे पूरी बॉडी को पोषण मिलता है। इन सब कामों को करने के लिए भी बॉडी को पानी की जरुरत होती है। बॉडी के कई अंग है जो पानी पर ही काम करते हैं जैसे किडनी। किडनी में पानी की कमी होने पर बॉडी में टॉक्सिन जमा होने लगते हैं और जो कई बीमारियों का कारण बनते हैं।

Advertisement

बॉडी में पानी की कमी होने पर पेशाब का रंग पीला होने लगता है। बॉडी में पानी की कमी होने से किडनी पानी रोककर सिर्फ गंदगी ही बाहर निकालती है। गहरे या पीले रंग का पेशाब इस बात का संकेत है कि आपकी बॉडी में पानी की कमी होने लगी है।

बॉडी में पानी की कमी होने पर शरीर में कुछ लक्षण दिखने लगते हैं जैसे थकान,ड्राई स्किन और होंठ, प्यास, गहरे रंग का पेशाब और बार-बार पेशाब नहीं आना बॉडी में पानी की कमी के लक्षण हैं। आइए एक्सपर्ट से जानते हैं कि किन लोगों की बॉडी में पानी की कमी होती है और इसका उपचार कैसे करें।

Advertisement

किन लोगों की बॉडी में पानी की कमी का खतरा होता है ज्यादा

कुछ लोग डायबिटीज की दवाईयों का सेवन करते हैं जिसकी वजह से पेशाब से शुगर ज्यादा निकलती है। जिन लोगों का बीपी हाई होता है तो वो बीपी की दवाई का सेवन करते हैं जिससे पेशाब ज्यादा आता है और पानी की कमी होने लगती है। इन बीमारियों के मरीजों को डिहाइड्रेशन होने का खतरा अधिक रहता है। जो लोग मानसिक बीमारियों से पीड़ित होते हैं,साइकोलॉजिकल या न्यूरोलॉजिकल बीमारियों से पीड़ित होते हैं उन्हें भी डिहाइड्रेशन का खतरा ज्यादा होता है। छोटे बच्चों और बूढ़ों को जो पानी का ज्यादा सेवन नहीं करते हैं उन्हें भी डिहाइड्रेशन का खतरा ज्यादा होता है।

शरीर में पानी की कमी को कैसे पूरा करें

  • गर्मी में पानी का अधिक सेवन करें। बॉडी से पानी कम डिस्चार्ज हो और पानी ज्यादा जाए तो बॉडी में पानी की कमी को पूरा किया जा सकता है।
  • पानी का सेवन ज्यादा करें और डाइट में ऐसे फूड्स को शामिल करें जिनका सेवन करने से बॉडी में पानी की कमी को पूरा किया जा सकता है।
  • बॉडी में पानी की कमी को पूरा करने के लिए फ्रूट्स,तरी वाली सब्जियां,दही,दूध से बने पदार्थ और सादा पानी का सेवन करें।
  • बॉडी में पानी की कमी को पूरा करने के लिए दिन भर में दो से डाई लिटर पानी जरूर पिएं।
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो