scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

क्या आप भी ज्यादा हंसते हैं? बाहुबली फिल्म की ये अदाकार इस Laughing Disease से हैं पीड़ित, जानिए बीमारी और उसके लक्षण

ज्यादा हंसने को स्यूडोबुलबार इफेक्ट के रूप में जाना जाता है। यह एक दुर्लभ न्यूरोलॉजिकल स्थिति है जो मस्तिष्क को प्रभावित करती है और अनियंत्रित हंसी या रोने का कारण बनती है।
Written by: Shahina Noor
नई दिल्ली | Updated: June 24, 2024 14:15 IST
क्या आप भी ज्यादा हंसते हैं  बाहुबली फिल्म की ये अदाकार इस laughing disease से हैं पीड़ित  जानिए बीमारी और उसके लक्षण
स्यूडोबुलबार इफेक्ट के लक्षणों की बात करें तो इस बीमारी में कोई व्यक्ति किसी दुखद घटना पर हंस सकता है या किसी हास्यप्रद स्थिति में रो सकता है। (Photo- File Photo)
Advertisement

Anushka Shetty suffering from laughing disease: हंसना सेहत के लिए फायदेमंद है। अक्सर हम बहुत खुश होते हैं,मजेदार या हंसी वाले वाक्य सुनते या सुनाते हैं तो हमें हंसी आती है। हंसी तनाव और बीमारी को कम करने वाले न्यूरोपेप्टाइड के रिलीज होने से हमारी इम्युनिटी बढ़ती है। हंसने से तनाव दूर होता हैं। हेल्थलाइन के मुताबिक हंसने से चिंता या तनाव की भावनाओं को दूर करने में मदद मिलती है। ये डोपामाइन और एंडोर्फिन के स्तर को बढ़ाकर उदास मूड को बेहतर बनाने में मदद करती है।

Advertisement

हंसी दिल और दिमाग की रेमेडी है तभी तो लोग सुबह उठकर ठहाका लगाकर हंसते हैं ताकि उनका दिल और दिमाग सुकून से रहे। आप जानते हैं कि रूह को ताजगी देने वाली ये हंसी बीमारी भी है। जी हां हम आपको बताते हैं कि हंसना भी एक बीमारी है जिससे बाहुबली फिल्म की अदाकारा अनुष्का शेट्टी जूझ रही हैं।

Advertisement

बाहुबली और अरुंधति जैसी फिल्मों से नाम कमाने वाली अनुष्का शेट्टी एक दुर्लभ स्थिति से पीड़ित हैं जिसके कारण व्यक्ति अनजाने में हंसने या रोने लगता है। अदाकारा ने बताया कि उन्हें हंसने की ऐसी बीमारी है जिसमें वो हंसना शुरु कर देती हैं तो 15 से 20 मिनट तक उनकी हंसी रूकती नहीं है। इंडियाग्लिट्ज़ की रिपोर्ट के अनुसार अदाकारा ने एक इंटरव्यू में खुलासा किया था कि कॉमेडी दृश्यों को देखते या शूट करते समय वो इतना ज्यादा हंसती हैं कि हंसते-हंसते वो फर्श पर लोट-पोट हो जाती हैं और शूटिंग कई बार रोकनी पड़ती है। आइए जानते हैं कि लाफिंग डिजीज क्या है और इसके लक्षण कौन-कौन से हैं।

laughing disease क्या है?

ज्यादा हंसने को स्यूडो बुलबार इफेक्ट (Pseudobulbar Affect) के रूप में जाना जाता है। यह एक दुर्लभ न्यूरोलॉजिकल स्थिति है जो मस्तिष्क को प्रभावित करती है और अनियंत्रित हंसी या रोने का कारण बनती है। अदाकारा अनुष्का शेट्टी ने इस दुर्लभ बीमारी से पीड़ित होने की पुष्टि नहीं की है लेकिन उनकी बॉडी में दिखने वाले लक्षण इस बीमारी की ओर इशारा करते हैं।

Advertisement

स्यूडोबुलबार इफ़ेक्ट (PBA) एक न्यूरोलॉजिकल स्थिति है जिसमें हंसने या रोने के अचानक, बेकाबू एपिसोड होते हैं जो मौजूदा स्थिति में बेहद परेशान करते हैं। हंसी का ये भावनात्मक विस्फोट आस-पास के लोगों को परेशान कर सकता है।  PBA एक ऐसी बीमारी है जो न्यूरोलॉजिकल विकारों या चोटों से जुड़ा होता है जो मस्तिष्क को प्रभावित करता हैं। इसमें स्ट्रोक, मल्टीपल स्केलेरोसिस, एमियोट्रोफिक लेटरल स्क्लेरोसिस, ब्रेन इंजरी और अल्जाइमर रोग शामिल है।

स्यूडोबुलबार इफेक्ट के लक्षण (Pseudobulbar Affect Symptoms)

स्यूडोबुलबार इफेक्ट के लक्षणों की बात करें तो ये आवृत्ति और तीव्रता में भिन्न हो सकते हैं। इस बीमारी में कोई व्यक्ति किसी दुखद घटना पर हंस सकता है या किसी हास्यास्पद स्थिति में रो सकता है, और ये घटनाएं कुछ सेकंड से लेकर कई मिनट तक चल सकती हैं। PBA जीवन की गुणवत्ता को महत्वपूर्ण रूप से प्रभावित कर सकता है जिससे लोगों के बीच शर्मिंदगी हो सकती है। ये स्थिति चिंता और अवसाद को बढ़ा सकती है।

स्यूडोबुलबार इफेक्ट का इलाज कैसे संभव है?

PBA के उपचार में इस एपिसोड को कंट्रोल करने के लिए दवा का सेवन किया जाता है। इस बीमारी का इलाज डिप्रेशन की दवाओं से भी किया जाता है। मेडिटेशन से भी इस स्थिति को काफी हद तक कंट्रोल किया जा सकता है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो