scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

गर्मी में बढ़ सकता है Migraine का खतरा, सिर दर्द कर सकता है जीना मुहाल, इन 6 टिप्स को अपना लें सुकून से गुज़र जाएगा समर

आयुर्वेदिक और यूनानी दवाओं के एक्सपर्ट डॉक्टर सलीम जैदी के मुताबिक माइग्रेन एक न्यूरोलॉजिकल कंडीशन हैं जिसमें ब्रेन के खास पार्ट हाइपर एक्टिव हो जाते हैं जिससे सिर में तेज दर्द होता है।
Written by: Shahina Noor
नई दिल्ली | April 02, 2024 12:55 IST
गर्मी में बढ़ सकता है migraine का खतरा  सिर दर्द कर सकता है जीना मुहाल  इन 6 टिप्स को अपना लें सुकून से गुज़र जाएगा समर
माइग्रेन के दर्द के दौरान दिमाग की नसें फैल जाती हैं और इंफ्लेमेटरी सब्सटेंस रिलीज होते हैं जो दर्द और दूसरे लक्षणों का कारण बनते हैं। freepik
Advertisement

गर्मी जैसे जैसे जोर पकड़ रही है वैसे-वैसे गर्मी से होने वाली बीमारियां भी परेशान कर रही हैं। कुछ देर धूप में निकलें तो बॉडी में डिहाइड्रेशन होने लगता है, पसीना ज्यादा आता है और फिर शुरू हो जाता है दिमाग को झकझोरने वाला सिर दर्द। गर्मी में होने वाला सिर दर्द आम सिर दर्द नहीं होता बल्कि ये माइग्रेन का पेन होता है। आप जानते हैं कि दुनिया भर में 15 फीसदी लोग माइग्रेन की समस्या से प्रभावित हैं। माइग्रेन सिर्फ सिर दर्द नहीं है बल्कि एक न्यूरोलॉजिकल कंडीशन है जो सिर के एक हिस्से में होती है। माइग्रेन एक ऐसी स्थिति है जो सिर के एक हिस्से में तेज दर्द के रूप में महसूस होती है।

आयुर्वेदिक और यूनानी दवाओं के एक्सपर्ट डॉक्टर सलीम जैदी के मुताबिक माइग्रेन का दर्द आमतौर पर होने वाले सिर दर्द से अलग होता है। इस बीमारी के लक्षणों की पहचान करना जरूरी है। माइग्रेन एक तरह का सिर दर्द होता है जो साधारण सिर दर्द से काफी ज्यादा अलग होता है।

Advertisement

माइग्रेन एक न्यूरोलॉजिकल कंडीशन हैं जिसमें ब्रेन के खास पार्ट हाइपर एक्टिव हो जाते हैं जिससे सिर में तेज दर्द होता है। ये दर्द सिर के एक तरफ ही महसूस होता है। माइग्रेन के दर्द के दौरान दिमाग की नसें फैल जाती हैं और इंफ्लेमेटरी सब्सटेंस रिलीज होते हैं जो दर्द और दूसरे लक्षणों का कारण बनते हैं। तनाव,नींद की कमी और फैमिली हिस्ट्री इस बीमारी का कारण बनती है। आइए एक्सपर्ट से जानते हैं कि माइग्रेन के दर्द के लक्षण कौन-कौन से हैं और आयुर्वेद में इसका उपचार कैसे होता है।

माइग्रेन के दर्द के लक्षण

  • सिर के आधे हिस्से में बहुत ज्यादा दर्द होना
  • सिर दर्द की वजह से वोमिटिंग की शिकायत होती है।
  • तेज आवाज और तेज रोशनी परेशान करती है
  • माइग्रेन के दर्द की वजह से विजन में भी बदलाव होता है।
  • हाथ-पैरों में सुन्नपन होना या झनझनाहट महसूस होना
  • बोलने में परेशानी होना
  • माइग्रेन का दर्द कुछ घंटों से लेकर कई दिनों तक भी हो सकता है।
  • माइग्रेन का दर्द तेज और धड़कता हुआ होता है जो आम सिर दर्द से अलग होता है। ये दर्द सिर के एक ही हिस्से में होता है।

माइग्रेन से बचाव कैसे करें

  • तनाव को कंट्रोल करें। माइग्रेन से बचाव करने के लिए तनाव से दूर रहना बेहद जरूरी है। तनाव को कम करने के लिए आप योग,एक्सरसाइज और डीप ब्रीथिंग एक्सरसाइज करके आप माइग्रेन से बचाव कर सकते हैं।
  • नींद पूरी लेना भी तनाव को दूर करने का सबसे आसान उपाय है। नींद की कमी से माइग्रेन का दर्द बढ़ सकता है। हर रात 7-8 घंटे की अच्छी नींद लेना आपके लिए जरूरी है।
  • पानी का अधिक सेवन करना भी माइग्रेन का उपचार करने का आसान और असरदार तरीका है। आप जानते हैं कि डिहाइड्रेशन माइग्रेन के अटैक को ट्रिगर करता है।
  • माइग्रेन से बचाव करने के लिए फ्रेश फ्रूट, साबुत अनाज और हरी सब्जियों का सेवन करना जरूरी है।
  • आयुर्वेद के मुताबिक कुछ हर्ब्स का सेवन करके इस दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है। ब्राह्मी और अश्वगंधा का सेवन करने से इस दर्द के लक्षणों को कम किया जा सकता है। ये दोनों जड़ी बूटियां ब्रेन के फंक्शन को ठीक करती हैं और तनाव को दूर करती हैं।
  • अदरक और तुलसी का सेवन करें। ये दोनों जड़ी बूटियां इंफ्लामेशन को कंट्रोल करती हैं और पाचन को ठीक करती हैं।
  • घी और बादाम का सेवन करें तो आपकी बॉडी को फायदा मिलेगा।
  •  
Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो