scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

फॉस्टिंग शुगर 150 mg/dl से ज्यादा होने से बढ़ सकता है हार्ट, किडनी और लंग्स को खतरा, उम्र के हिसाब से कितना होना चाहिए Fasting Sugar, देखिए Sugar Chart

अक्सर देखा गया है कि डायबिटीज के मरीजों की फॉस्टिंग शुगर हाई होती है। फॉस्टिंग शुगर इसलिए बढ़ता है क्योंकि रात में सोते समय शरीर में सभी हार्मोन्स को कंट्रोल करने के लिए शरीर में अधिक मात्रा में इंसुलिन बनता है जिसकी वजह से बॉडी में शुगर की मात्रा अधिक होने लगती है।
Written by: Shahina Noor
नई दिल्ली | February 27, 2024 13:40 IST
फॉस्टिंग शुगर 150 mg dl से ज्यादा होने से बढ़ सकता है हार्ट  किडनी और लंग्स को खतरा  उम्र के हिसाब से कितना होना चाहिए fasting sugar  देखिए sugar chart
फॉस्टिंग शुगर को कंट्रोल करना चाहते हैं तो रात का खाना बिस्तर पर जाने से दो घंटे पहले खाएं। freepik
Advertisement

fasting blood sugar chart: डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है जिनके मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। डायबिटीज के मरीजों के लिए जरूरी है कि उनकी फॉस्टिंग शुगर से लेकर खाने के बाद तक की शुगर कंट्रोल रहे। अक्सर देखा गया है कि डायबिटीज के मरीजों की फॉस्टिंग शुगर हाई होती है। फॉस्टिंग शुगर इसलिए बढ़ता है क्योंकि रात में सोते समय शरीर में सभी हार्मोन्स को कंट्रोल करने के लिए शरीर में अधिक मात्रा में इंसुलिन बनता है जिसकी वजह से बॉडी में शुगर की मात्रा अधिक होने लगती है।

रात में शरीर में इंसुलिन की पर्याप्त मात्रा मौजूद ना होना भी फॉस्टिंग शुगर हाई होने का कारण बनता है। अगर डायबिटीज मरीज़ों ने डिनर में कार्बोहाइड्रेट का सेवन अधिक किया है तो भी ब्लड में शुगरा का स्तर सुबह-सुबह हाई होता है। फॉस्टिंग शुगर 150 mg/dl ब्लड शुगर से ज्यादा होने से दिल से लेकर किडनी और लंग्स को नुकसान पहुच सकता है। फॉस्टिंग शुगर को कंट्रोल करना चाहते हैं सबसे पहले देखिए कि आपकी उम्र के हिसाब से कितना होना चाहिए फॉस्टिंग शुगर। अगर फॉस्टिंग शुगर हाई रहता है तो इन टिप्स को अपनाएं।

Advertisement

फॉस्टिंग शुगर हाई रहता है तो इन टिप्स से करें कंट्रोल

  • फॉस्टिंग शुगर को कंट्रोल करना चाहते हैं तो रात का खाना बिस्तर पर जाने से दो घंटे पहले खाएं।
  • खाना खाने के बाद 20-25 मिनट की वॉक जरूर करें।
  • सुबह उठने के बाद लम्बे समय तक भूखा नहीं रहें बल्कि उठने के बाद दो घंटे के अंदर नाश्ता जरूर करें।
  • नाश्ते में कार्बोहाइड्रेट का सेवन कम करें और प्रोटीन डाइट का सेवन ज्यादा करें।
  • डायबिटीज कंट्रोल करने के लिए फॉस्टिंग से लेकर खाने के बाद तक की शुगर कंट्रोल करने के लिए रेगुलर शुगर चेक करें।
  • डायबिटीज की दवाओं का सेवन करें।

फॉस्टिंग शुगर चार्ट

अक्सर देखा गया है कि जिन लोगों को डायबिटीज है उन्हें निश्चित रूप से सुबह के समय शुगर अधिक होगा। अगर फॉस्टिंग शुगर किसी एक दिन हाई होता है तो चिंता की बात नहीं है, लेकिन अगर ये लगातार हो रहा है तो आपको डॉक्टर से तुरंत सलाह लेनी चाहिए। हम आपको एक ऐसे चार्ट के बारे में बता रहे हैं जो उम्र के मुताबिक ब्लड शुगर के स्तर को कंट्रोल करने के लिए आपका मार्गदर्शन करेगा। उम्र ग्लूकोज के स्तर को प्रभावित करने वाला सबसे बड़ा कारक है। छोटे बच्चों, किशोरों, वयस्कों और वरिष्ठ नागरिकों का ब्लड शुगर अलग-अलग हो सकता हैं। यह ब्लड शुगर चार्ट हर उम्र के लोगों के लिए बड़ी काम की चीज है। आइए देखते हैं कि उम्र के हिसाब से फॉस्टिंग शुगर कितना होना चाहिए।

Fasting Sugar Chart: (Before meals)

छोटे बच्चों और टीनएजर्ट में फॉस्टिंग शुगर90–130 mg/dL
युवाओं में फॉस्टिंग शुगर80–130 mg/dLखाने के 1-2 घंटे बाद 180 mg/dL
प्रेग्नेंट महिलाओं में फॉस्टिंग शुगर70–95 mg/dLखाने के एक घंटे बाद 110–140 mg/dL
खाने के दो घंटे बाद 100–120 mg/dL

65 साल से ऊपर के बूढ़ोंं में शुगर का स्तर80–180 mg/dL
बिना शुगर वाले लोगों में फॉस्टिंग शुगर99 mg/dL से कम हो सकती है।
Advertisement
Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो