scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

ED की हिरासत में CM Kejriwal की Sugar पहुंच गई थी 46 mg/dl तक, शुगर का ये स्तर बढ़ा सकता है Heart attack का खतरा, जानिए diabetes और हार्ट कनेक्शन

सहयाद्रि हॉस्पिटल में इंटरवेंशनल और सलाहकार हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ अभिजीत पलशीकर ने बताया कि डायबिटीज मरीजों को हार्ट की परेशानी होने की संभावना अधिक रहती है। दिल की बीमारी का सबसे बड़ा रिस्क फैक्टर डायबिटीज है।
Written by: Shahina Noor
नई दिल्ली | Updated: April 04, 2024 12:02 IST
ed की हिरासत में cm kejriwal की sugar पहुंच गई थी 46 mg dl तक  शुगर का ये स्तर बढ़ा सकता है heart attack का खतरा  जानिए diabetes और हार्ट कनेक्शन
एक्सपर्ट के मुताबिक डायबिटीज मरीज HbA1c टेस्ट कराएं और ये 7 के नीचे रहना चाहिए। इससे हार्ट में ब्लॉकेज होने का खतरा नहीं रहता।
Advertisement

दिल्ली के CM Arvind Kejriwal पीछले महीने 21 मार्च से मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी की हिरासत में थे। अरविंद को 1 अप्रैल को राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया गया जहां से उन्हें 15 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। ED की हिरासत में अरविंद केजरीवाल का ब्लड शुगर 46 mg/dl तक पहुंच गया था। ब्लड शुगर का इस स्तर तक कम होना दिल के रोगों का कारण बन सकता है। डायबिटीज मरिज़ों की ब्लड शुगर अगर लगातार कम या ज्यादा होती रहे तो बॉडी के और भी कई अंग काम करना बंद कर सकते हैं।

डायबिटीज का कम होना हाइपोग्लाइसीमिया कहलाता है जो अक्सर डायबिटीज कंट्रोल करने वाली दवाओं से होता है। डायबिटीज मरीजों में ये स्थिति हार्ट अटैक का ख़तरा बढ़ा सकती है।

Advertisement

सहयाद्रि हॉस्पिटल में इंटरवेंशनल और सलाहकार हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ अभिजीत पलशीकर ने बताया कि डायबिटीज मरीजों को हार्ट की परेशानी होने की संभावना अधिक रहती है। दिल की बीमारी का सबसे बड़ा रिस्क फैक्टर डायबिटीज है। जिन लोगों को डायबिटीज रहती है उन्हें दिल के रोगों का खतरा अधिक रहता है। डायबिटीज मरीज दिल को हेल्दी रखना चाहते हैं तो कुछ बातों का खास ध्यान रखें। डायबिटीज मरीज कुछ बातों का ध्यान रखें तो आसानी से दिल के रोगों का खतरा टाल सकते हैं।

डायबिटीज और दिल की बीमारी का कनेक्शन

  1. 1. डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है जिनके मरीज़ों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। डायबिटीज को अगर कंट्रोल में नहीं रखा जाये तो बॉडी में कई बीमारियो का ख़तरा बढ़ने लगता है जिसमें से एक है हार्ट अटैक। डायबिटीज को कंट्रोल करके दिल के रोगों से बचा जा सकता है। एक्सपर्ट के मुताबिक डायबिटीज मरीज HbA1c टेस्ट कराएं और ये 7 के नीचे रहना चाहिए। इससे हार्ट में ब्लॉकेज होने का खतरा नहीं रहता। HbA1c टेस्ट पिछले तीन महीनों के ब्लड शुगर के स्तर की रिपोर्ट देता है। डायबिटीज कंट्रोल करना है तो HbA1c को 7 से नीचे रखना जरूरी है। डायबिटीज कंट्रोल रहती है तो दिल की सेहत दुरुस्त रहती है।

2. डायबिटीज है तो कोलेस्ट्रॉल को नहीं करें इग्नोर। डायबिटीज मरीज साल में एक बार कोलेस्ट्रॉल का टेस्ट जरूर कराएं। जिन लोगों का कोलेस्ट्रॉल का स्तर हाई रहता है उन्हें दिल के रोगों का खतरा अधिक रहता है।

Advertisement

3. डायबिटीज मरीज अपने मोटापा को कंट्रोल करें। मोटापा सारी बीमारियों की जड़ है। अगर आपको ब्लड शुगर है तो आप बॉडी को एक्टिव रखें,वर्कआउट करें और डाइट पर कंट्रोल करें। डायबिटीज मरीज मोटापा कंट्रोल करके दिल के रोगों से बचाव कर सकते हैं।

Advertisement

4. डायबिटीज मरीज अपनी डाइट का पूरा ध्यान रखें। डायबिटीज मरीज तली हुई और चिकनी चीजों का सेवन कम करें,इन फूड्स का सेवन दिल की सेहत को बिगाड़ सकता है। नॉनवेज में तेल की तरी का सेवन कम करें। कम कैलोरी का सेवन ना सिर्फ डायबिटीज कंट्रोल करेगा बल्कि दिल के रोगों से भी बचाव करता है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो