scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Best Time to Exercise: सुबह या शाम, क्या है एक्सरसाइज करने का बेस्ट टाइम? किस वक्त मिलता है सबसे ज्यादा फायदा, यहां जानें

कई हेल्थ रिपोर्ट्स बताती हैं कि सुबह के समय की गई एक्सरसाइज मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करने में मदद करती है, जिससे आपको पूरे दिन कैलोरी जलाने में मदद मिलती है। वहीं, बात शाम के समय की गई एक्सरसाइज की करें, तो कुछ हेल्थ रिपोर्ट्स बताती हैं कि मांसपेशियों की शक्ति और ताकत दोपहर के बाद या शाम के समय चरम पर हो सकती है, जिससे संभावित रूप से व्यायाम प्रदर्शन में सुधार और मांसपेशियों में वृद्धि हो सकती।
Written by: हेल्थ डेस्क | Edited By: Shreya Tyagi
नई दिल्ली | March 26, 2024 13:11 IST
best time to exercise  सुबह या शाम  क्या है एक्सरसाइज करने का बेस्ट टाइम  किस वक्त मिलता है सबसे ज्यादा फायदा  यहां जानें
दिन की शुरुआत में किया गया वर्कआउट आपके सर्कैडियन लय को विनियमित करने में मदद कर सकता है। आसान भाषा में कहें तो नियमित तौर पर सुबह के समय की गई एक्सरसाइज से आपका रूटीन बेहतर हो जाता है। (P.C- Freepik)
Advertisement

एक्सरसाइज करना सेहत के लिए बेहद फायदेमंद है और रोज वर्कआउट करने से आपको एक साथ कई लाभ मिलते हैं, ये बात तो अधिकतर लोग जानते हैं। हालांकि, एक्सरसाइज करने का सबसे सही समय क्या है, सुबह या शाम किस समय वर्कआउट करना सेहत के लिए ज्यादा फायदेमंद होता है? इस तरह के सवाल अक्सर लोगों के बीच कंफ्यूजन का कारण बन जाते हैं। वहीं, अगर आप भी इन सवालों से परेशान हैं, तो ये आर्टिकल आपके लिए मददगार साबित हो सकता है। यहां हम आपकी इसी कंफ्यूजन को दूर करने वाले हैं। आइए जानते हैं क्या है वर्कआउट करने का बेस्ट टाइम-

सुबह एक्सरसाइज करने से मिलते हैं ये फायदे

कई हेल्थ रिपोर्ट्स बताती हैं कि सुबह के समय की गई एक्सरसाइज मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करने में मदद करती है, जिससे आपको पूरे दिन कैलोरी जलाने में मदद मिलती है। दरअसल, खाली पेट किया गया व्यायाम फैट ऑक्सीकरण बढ़ा सकता है, साथ ही इंसुलिन संवेदनशीलता में भी सुधार कर सकता है।

Advertisement

इसके अलावा सुबह-सुबह एक्सरसाइज करने से व्यक्ति का मानसिक फोकस बढ़ता है, मूड बेहतर होता है, साथ ही व्यक्ति पूरे दिन खुद को एनर्जेटिक महसूस करता है। ऐसा इसलिए क्योंकि एक्सरसाइज करने से एंडोर्फिन, डोपामाइन और सेरोटोनिन जैसे हैप्पी हार्मोन रीलीज होते हैं, जिससे आप पूरे दिन खुद को बेहतर महसूस करते हैं।

इन सब से अलग दिन की शुरुआत में किया गया वर्कआउट आपके सर्कैडियन लय को विनियमित करने में मदद कर सकता है। आसान भाषा में कहें तो नियमित तौर पर सुबह के समय की गई एक्सरसाइज से आपका रूटीन बेहतर हो जाता है। आप एक तय समय पर उठने लगते हैं, जिससे दिन के दौरान सतर्कता में सुधार हो सकता है, साथ ही रात में बेहतर नींद की गुणवत्ता को बढ़ावा मिलता है। इस तरह आपकी ओवरऑल हेल्थ भी बेहतर होती है।

Advertisement

ये हो सकते हैं नुकसान

फायदों से अलग सुबह के समय एक्सरसाइज करना कुछ मायनों में सेहत के लिए हानिकारक भी हो सकता है। दरअसल, सुबह के समय मांसपेशियां और जोड़ सख्त और कम लचीले हो सकते हैं, जिससे जोरदार व्यायाम के दौरान चोट लगने का खतरा बढ़ जाता है। साथ ही कुछ व्यक्तियों को सुबह-सुबह वर्कआउट के दौरान थकान या प्रदर्शन में कमी का अनुभव हो सकता है, खासकर यदि उन्हें पहले से पर्याप्त आराम या पोषण नहीं मिला हो।

Advertisement

शाम के समय वर्कआउट से मिलते हैं ये फायदे

बात शाम के समय की गई एक्सरसाइज की करें, तो कुछ हेल्थ रिपोर्ट्स बताती हैं कि मांसपेशियों की शक्ति और ताकत दोपहर के बाद या शाम के समय चरम पर हो सकती है, जिससे संभावित रूप से व्यायाम प्रदर्शन में सुधार होगा और मांसपेशियों में वृद्धि होगी। इससे अलग जो लोग दिन का ज्यादातर समय एक ही जगह बैठे-बैठे बिताते हैं, उनके लिए शाम के समय किया गया वर्कआउट स्ट्रेस रिलीव मैकेनिज्म की तरह काम कर सकता है। जैसा की ऊपर जिक्र किया गया है, एक्सरसाइज करने से डोपामाइन और सेरोटोनिन जैसे हैप्पी हार्मोन रीलीज होते हैं, ये विश्राम को बढ़ावा देते हैं और तनाव को कम करते हैं।

इन सब के अलावा दिन के अंत में मांसपेशियां और जोड़ अधिक लचीले हो जाते हैं, जिससे चोट लगने का खतरा भी कम हो जाता है, साथ ही व्यायाम के दौरान गति की सीमा भी बढ़ जाती है। ऐसे में शाम के समय किया गया वर्कआउट भी आपको एक साथ कई लाभ दे सकता है।

ये होते हैं नुकसान

फायदों से अलग शाम के समय एक्सरसाइज करने के संभावित नुकसान की बात करें तो दिनभर की थकान के चलते कई बार व्यक्ति वर्कआउट करने से बचने लगता है, साथ ही सोने के समय के बहुत करीब व्यायाम करने से कुछ व्यक्तियों में नींद के पैटर्न में बाधा आ सकती है, ऐसे में व्यायाम और सोने के समय के बीच पर्याप्त गैप रखना बेहद जरूरी है।

क्या है बेस्ट टाइम?

अब, जैसा की ऊपर जिक्र किया गया है, सुबह और शाम दोनों ही समय एक्सरसाइज करने के अपने-अपने फायदे और नुकसान हैं। ऐसे में अंततः व्यायाम करने का सबसे अच्छा समय व्यक्ति के शेड्यूल, प्राथमिकताओं और शरीर की प्राकृतिक लय पर निर्भर करता है। अगर आप मेटाबॉलिज्म और ऊर्जा के स्तर को बढ़ावा देने का लक्ष्य रख रहे हैं, तो आपके लिए सुबह का व्यायाम फायदेमंद हो सकता है। वहीं, अगर आप ताकत बढ़ाने या प्रदर्शन में सुधार पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं, तो आपके लिए शाम का वर्कआउट अधिक उपयुक्त हो सकता है। पूरे दिन अपने शरीर के संकेतों और ऊर्जा के स्तर पर ध्यान देकर आप खुद अपने लिए वर्कआउट करने का सबसे बेहतर समय तय कर सकते हैं।

Disclaimer: आर्टिकल में लिखी गई सलाह और सुझाव सिर्फ सामान्य जानकारी है। किसी भी प्रकार की समस्या या सवाल के लिए डॉक्टर से जरूर परामर्श करें।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो