scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

5 किलोमीटर चलने के बराबर है ये 1 योगा! बारिश में बाहर टहल नहीं पाते हैं तो घर पर ही पा लें ये तमाम फायदे

Utkatasana: बारिश के दिनों में जब आप बाहर जाकर वॉक और एक्सरसाइज नहीं कर पा रह हैं तो घर रहकर ही इस योग को कर सकते हैं। ये आपके शरीर को उतना ही फायदे दे सकता है जितना कि 6 हजार स्टेप्स चलने से।
Written by: pallavi kumari
नई दिल्ली | July 06, 2024 08:01 IST
5 किलोमीटर चलने के बराबर है ये 1 योगा  बारिश में बाहर टहल नहीं पाते हैं तो घर पर ही पा लें ये तमाम फायदे
Utkatasana: उत्कटासन बेहद ही कारगर योग है। माना जाता है कि इसे करना आपको 5 किलोमीटर चलने के बराबर फायदे दे सकता है।
Advertisement

Utkatasana: बारिश के मौसम में अक्सर हमारे पास वॉक करने के लिए जगह की कमी हो जाती है। हम घर के बाहर नहीं जा पाते हैं और फिर घर में उस तरह से वॉक करना संभव नहीं हो पाता है। ऐसी स्थिति में आप 5 किलोमीटर चलने के बराबर है ये 1 योगा कर सकते हैं जो कि बेहद ही कारगर है और इस स्थिति में इसे करना सेहत के लिए हर तरह से फायदेमंद है। दरअसल, 5 किलोमीटर चलने का मतलब है कि 6560 कदम चलना है। क्योंकि एक किलोमीटर में व्यक्ति 1312 कदम चलता है। इस लिहाज आप समझ सकते हैं कि इस एक योग को करने के कितने फायदे हो सकते हैं। आइए, जानते हैं इसके बारे में विस्तरा से।

Advertisement

5 किलोमीटर चलने के बराबर है उत्कटासन योग-Utkatasana is equal to 5 km walking

उत्कटासन जिसे कुर्सी मुद्रा के रूप में भी जाना जाता है या चेयर पोज भी कहा जाता, जो कि एक ऐसा आसन है जो 5 किमी चलने के बराबर फायदे दे सकता है। क्योंकि इसे करने के दौरान शरीर को वही फायदे मिलते हैं जो 30 मिनट या 5 किलोमीटर वॉक के दौरान मिलते हैं। जैसे
-इससे ब्लड सर्कुलेशन तेज होता है और मांसपेशियों में गर्मी पैदा होती है जिससे वेट लॉस में मदद मिलती है।
-यह योग पेट, घुटने, कूल्हे और कंधे की मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मदद करता है।
-ये पाचन तंत्र और हृदय की कार्यप्रणाली में सुधार लाता है।
-यह पैरों के दर्द और एड़ी से संबंधित समस्याओं को कम करता है।

Advertisement

उत्कटासन कैसे करें-How to do Utkatasana

-खड़े रहें, सांस लेते हुए अपने हाथों की सीधी हथेलियों को एक-दूसरे को छूते हुए सिर के ऊपर उठाएं और अपने पैरों को एक साथ रखें।
-सांस छोड़ते हुए अपने घुटनों को मोड़ें और सीधे बैठें जैसा कि दिखाया गया है
-इस दौरान अपनी आंखें सामने की वस्तु पर रखें।
-इस दौरान ध्यान दें कि आपके घुटने एक साथ हों और पैर फर्श पर सपाट हों।

सांस लेने और छोड़ने के चक्र के 3-4 राउंड तक इसी स्थिति में रहें। इस दौरान पेट, कंधे और छाती की मांसपेशियों पर खास ध्यान दें और इसके बाद सांस अंदर लेते हुए सामान्य स्थिति में आ जाएं। अपने हाथ को बगल में कर लें फिर थोड़ा थमकर इसे 2-3 राउंड के लिए दोहराएं।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो