scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

खट्टी डकार,पेट फूलने की समस्या और गैस से रहते हैं परेशान? नाश्ते में इन 9 फूड्स को खाना बंद कर दें, बिना दवाई ही पाचन का हो जाएगा इलाज

सीके बिड़ला अस्पताल, दिल्ली में सलाहकार, गैस्ट्रोएंटरोलॉजी विभाग में डॉ. विकास जिंदल ने बताया कि हर इंसान की सहनशीलता थोड़ी अलग होती है इसलिए गैस,एसिडिटी और पेट फूलने जैसी परेशानी का इलाज डायटीशियन और डॉक्टर की सलाह पर किया जाए तो बेहतर होता है।
Written by: Shahina Noor
नई दिल्ली | February 06, 2024 12:33 IST
खट्टी डकार पेट फूलने की समस्या और गैस से रहते हैं परेशान  नाश्ते में इन 9 फूड्स को खाना बंद कर दें  बिना दवाई ही पाचन का हो जाएगा इलाज
फूलगोभी और पत्तागोभी जैसी सब्जियों में जटिल कार्बोहाइड्रेट मौजूद होता हैं जिन्हें पचाना मुश्किल होता है। इनका सेवन सुबह करने से पेट में गैस बनती है। freepik
Advertisement

हमारी खराब डाइट और बिगड़ता लाइफस्टाइल ही हमें गैस,एसिडिटी और पेट फूलने की समस्या का शिकार बना रहा है। हममें से कई लोग खाने के बाद गैस और पेट फूलने जैसी पाचन संबंधी समस्या से जूझते रहते हैं। कुछ लोग इस परेशानी को दूर करने के लिए गैस की दवाई का सेवन करते हैं तो कुछ लोग तरह-तरह के ड्रिंक का सेवन करते हैं। पाचन से जुड़ी ये सभी परेशानियां ना सिर्फ पाचन को खराब करती है बल्कि सेहत पर भी असर करती है। गैस की बीमारी बवासीर, वजन कम होना, कब्ज, डायरिया और उल्टी या मतली जैसी गंभीर समस्याओं का कारण बनती है।

सीके बिड़ला अस्पताल, दिल्ली में सलाहकार, गैस्ट्रोएंटरोलॉजी विभाग में डॉ. विकास जिंदल ने बताया कि हर इंसान की सहनशीलता थोड़ी अलग होती है इसलिए गैस,एसिडिटी और पेट फूलने जैसी परेशानी का इलाज डायटीशियन और डॉक्टर की सलाह पर किया जाए तो बेहतर होता है। पेशेवर डॉक्टर मरीज की हेल्थ कंडीशन देखकर ही उसकी परेशानी का समाधान करते हैं।

Advertisement

एक्सपर्ट ने बताया अगर सुबह के नाश्ते में कुछ सुधार कर लिया जाए तो आसानी से गैस,पेट फूलने की समस्या और खट्टी डकारों से राहत पाई जा सकती है। एक्सपर्ट ने कुछ फूड्स की सूची साझा की है अगर इन फूड्स को सुबह के नाश्ते से स्किप करें तो आसानी से इस परेशानी को कंट्रोल कर सकते हैं।

नाश्ते में दूध के साथ कॉफी और चाय का अधिक सेवन

एक्सपर्ट के मुताबिक सुबह के नाश्ते में कॉफी और चाय का सेवन गैस का कारण बनता है। कॉफी और चाय का जब अधिक मात्रा में सेवन किया जाता है तो अम्लीय हो सकता है और पेट में एसिड को पैदा कर सकता है,जिससे गैस बढ़ती है। दूध लैक्टोज असहिष्णुता में योगदान कर सकता है जिससे पाचन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। सुबह के नाश्ते में कॉफी और चाय की जगह हर्बल टी का सेवन करें।

Advertisement

फूलगोभी और पत्तागोभी से नाश्ते में करें परहेज़

फूलगोभी और पत्तागोभी जैसी सब्जियों में जटिल कार्बोहाइड्रेट मौजूद होता हैं जिन्हें पचाना मुश्किल होता है। इनका सेवन सुबह करने से पेट में गैस बनती है। एक्सपर्ट ने बताया कि इन सब्जियों का सीमित सेवन करें। इन सब्जियों की जगह आप पालक या तोरी जैसी सब्जियों का विकल्प चुनें।

सेब और नाशपाती

इन फलों में फ्रुक्टोज और फाइबर की मात्रा अधिक होती है जो पेट फूलने की समस्या और गैस का कारण बन सकती हैं। एक्सपर्ट के मुताबिक इन फलों की जगह आप सुबह के नाश्ते में जामुन या खरबूजे जैसे कम फ्रुक्टोज वाले फलों का सेवन करें।

कच्चा खीरा और प्याज से करें परहेज़

जिन लोगों को गैस की समस्या होती है उन्हें कच्ची सब्जियों खासतौर पर खीरे और प्याज जैसी हाई फाइबर वाली सब्जियों को पचाना मुश्किल होता है इसलिए उनका सेवन नाश्ते में करने से बचें। इन सब्जियों को पकाकर या उबालकर खाएं। नाश्ते में आप उबली हुई गाजर या शिमला मिर्च जैसी पकी हुई सब्जियों का सेवन करें।

भुट्टा से करें परहेज

मकई में सेलूलोज़ होता है जो एक प्रकार का फाइबर है। ये पाचन तंत्र के लिए इसे पचाना भारी पड़ सकता है। आप सुबह के नाश्ते में क्विनोआ या चावल जैसे वैकल्पिक अनाज का सेवन करें।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो