scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

पुरानी कब्ज़ को भी तोड़ता है पपीता, खाली पेट गैस की गोली नहीं Papaya के साथ करें इन सीड्स का सेवन, पेट से लेकर आंत तक हो जायेगी क्लीन

डायटीशियन के मुताबिक पपीता के साथ अलसी के बीज को कॉम्बिनेशन करके खाया जाए तो आसानी से कब्ज की परेशानी से छुटकारा पाया जा सकता है।
Written by: Shahina Noor
नई दिल्ली | Updated: February 05, 2024 10:02 IST
पुरानी कब्ज़ को भी तोड़ता है पपीता  खाली पेट गैस की गोली नहीं papaya के साथ करें इन सीड्स का सेवन  पेट से लेकर आंत तक हो जायेगी क्लीन
पपीता फ़ाइबर से भरपूर एक ऐसा फल है जो क़ब्ज़ का इलाज करता है। घुलनशील फाइबर से भरपूर पपीता पाचन से जुड़ी परेशानियों को दूर करता है और क़ब्ज़ को तोड़ता है। freepik
Advertisement

ख़राब डाइट और बिगड़ते लाइफस्टाइल की वजह से पनपती है कब्ज़ की बीमारी। लगातार तनाव में रहना,कुछ मेडिकल कंडीशन भी कब्ज़ के लिए ज़िम्मेदार है। कब्ज़ से देश और दुनिया में लाखों लोग परेशान रहते हैं।अगर इस बीमारी का समय पर इलाज नहीं किया जाये तो यह पाइल्स,फिशर और फिस्टुला का कारण बन सकती है। लगातार मल त्यागने में दिक़्क़त होने से एनस पर दबाव पड़ता है और यह सब परेशानियां होती हैं। कब्ज़ को दूर करने के लिए रोज़ ख़ाली पेट गैस की गोली खाना आपकी परेशानी का पर्मानेंट इलाज नहीं है। कब्ज़ से परेशान रहते हैं तो सबसे पहले डाइट से उसका इलाज करें।

पानी ज्यादा पिये और पानी से भरपूर फूड्स का सेवन करें। कब्ज़ को दूर करने के लिए आप सुबह खाली पेट पपीता खाये। पपीता एक ऐसा फल है जो पाचन के लिए अमृत है। पपीता का सेवन अगर सुबह खाली पेट कर लिया जाये तो आसानी से कब्ज़ का इलाज किया जा सकता है। पपीता के साथ अलसी के बीज को कॉम्बिनेशन करके खाया जाए तो आसानी से कब्ज की परेशानी से छुटकारा पाया जा सकता है।

Advertisement

पपीता में क्या है जो कब्ज़ का करता है इलाज

पपीता फ़ाइबर से भरपूर एक ऐसा फल है जो क़ब्ज़ का इलाज करता है। घुलनशील फाइबर से भरपूर पपीता पाचन से जुड़ी परेशानियों को दूर करता है और क़ब्ज़ को तोड़ता है। इसमें मौजूद पपैन नामक एंजाइम प्रोटीन के टूटने को तेज करता है और पाचन को बढ़ावा देता है। पपीता पानी से भरपूर होता है जो बॉडी को हाइड्रेट करता है और नेचुरल लैकसेटिव बनाता है जो मल को सॉफ्ट करने में मदद करता है। पपीते का सुबह खाली पेट सेवन दिन भर रिलीज़ होने वाली गैस को कंट्रोल करता है और पेट में गैस जमा नहीं करता।नियमित सेवन कब्ज और बेचैनी को रोक सकता है।

पपीता के साथ करें अलसी के बीज का सेवन

डायटीशियन के मुताबिक कब्ज को दूर करने के लिए अलसी के बीज का सेवन दवाई की तरह करता है असर। आप कब्ज से बेहद परेशान हैं तो रोजाना पपीता काटे और उसके ऊपर अलसी के बीज को पीसकर उसका पाउडर मिक्स करके डालें। पपीता और अलसी के बीज में मौजूद घुलनशील फाइबर पानी में आसानी से घुल जाता है और भोजन को तेजी से पचाता है। पपीता और अलसी के बीज का पाउडर पाचन को दुरुस्त करता है,पेट की सफाई करता है और आंतों में जमा मल को आसानी से बाहर निकालता है। पपीता और अलसी के बीज का कॉम्बिनेशन कब्ज दूर करने में बेहद असरदार साबित होता है।

Advertisement

पपीता का कब और कितना करें सेवन

कब्ज़ से परेशान रहते हैं तो आप पपीता का सेवन उसका जूस निकाल कर कर सकते हैं।
आप 100 से डेढ़ सो ग्राम पपीता का सेवन उसकी चाट बनाकर भी कर सकते हैं। पपीता काट कर उसपर काली मिर्च का पाउडर डाल कर भी आप खा सकते हैं पाचन को फायदा होगा।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो