scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Nokia Layoffs: एक झटके में जाएगी 14,000 लोगों की नौकरी, जानें किस वजह से नोकिया ने लिया बड़ा फैसला

Nokia Layoffs 2023: नोकिया ने लागत कम करने के लिए कंपनी से 14000 लोगों की छुट्टी करने का फैसला किया है।
Written by: टेक्नोलॉजी डेस्क | Edited By: Naina Gupta
Updated: October 19, 2023 16:56 IST
nokia layoffs  एक झटके में जाएगी 14 000 लोगों की नौकरी  जानें किस वजह से नोकिया ने लिया बड़ा फैसला
Nokia Layoffs 2023: नोकिया से एक बार फिरकई हजार लोगों की छंटनी हो सकती है।
Advertisement

Nokia Massive Layoff 2023: नोकिया ने एक बार फिर कर्मचारियों की छंटनी करने का ऐलान कर दिया है। 2023 की तीसरी तिमाही में कंपनी के 5जी उपकरणों की सेल में 20 प्रतिशत को ठहराया गया है। टेलिकॉम उपकरण बनाने वाली फिनलैंड की कंपनी ने अपनी कॉस्ट-कटिंग प्लान को रिलीज किया है। इस प्लान के तहत Nokia से 14,000 तक लोगों की छुट्टी की जा सकती है। बता दें कि यह फैसला ऐसे समय में आया है जब नॉर्थ अमेरिका जैसे बड़े मार्केट में नोकिया को कई चुनौतियों से जूझना पड़ रहा है।

नए फैसले से नोकिया में होंगे ऑर्गनाइजेशन ट्रांसफॉर्मेशन

कंपनी का इरादा 2026 तक 800 मिलियन यूरो (842 मिलियन डॉलर) से 1.2 बिलियन यूरो तक की बचत हासिल करने का है। 2026 तक अपना ऑपरेटिंग मार्जिन कम से कम 14% रखना चाहती है। नोकिया द्वारा जारी किए गए एक बयान के मुताबिक, कंपनी द्वारा लिए गए नए फैसले से ऑर्गनाइजेशन में बदलाव होने की उम्मीद है। कंपनी में मौजूदा 86,000 कर्मचारियों की जगह 72,000 से 77,000 वर्कफोर्स होगी।

Advertisement

नोकिया के बयान के मुताबिक, 'उम्मीद है कि नोकिया धीरे-धीरे इस प्रोग्राम को लागू करेगी और 2024 के लिए कम से कम 400 मिलियन यूरो की अनुमानित बचत कर सकेगी। 2025 में कंपनी अतिरिक्त 300 मिलियन यूरो बचाएगी।'

पिछले साल से तुलना करें तो इस तिमाही में कंपनी की नेट सेल में काफी ज्यादा कमी देखने को मिली है। बिक्री 6.24 बिलियन यूरो से घटकर 4.98 बिलियन यूरो पर आ गई और LSEG पोल के मुताबिक, जबकि कंपनी को 5.67 बिलियन यूरो की बिक्री होने की उम्मीद थी।

Advertisement

CEO ने बताया कठिन फैसला

नोकिया के चीफ एग्जिक्युटिव पेक्का लुंडमार्क ने तीसरी तिमाही के दौरान सामने आईं चुनौतियों को स्वीकार करते हुए कहा कि कॉस्ट-बेस को रीसेट करना एक जरूरी कदम है ताकि मार्केट में चल रही अनिश्चितता से निपटा जा सके और हमारे लॉन्ग-टर्म प्रॉफिट रख सकें। उन्होंन कहा कि ये फैसले बेहद कठिन व्यावसायिक हैं और इनसे हमारे लोग प्रभावित होते हैं। नोकिया में हमारे पास बेहद प्रतिभावान कर्मचारी हैं और इस प्रोसेस में जिन पर असर पड़ेगा, उन सभी का हम साथ देंगे।

बता दें कि नोकिया ने कंपनी में छंटनी का ऐलान उसी दिन किया, जिस दिन कंपनी को उम्मीद से भी खराब रिजल्ट की जानकारी मिली। रिपोर्ट में बताया गया है कि कंपनी की बिक्री तीसरी तिमाही में पिछले साल इसी तिमाही की तुलना में 15 फीसदी गिरी है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो