scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

जब पृथ्वीराज कपूर को दावत में देख नेहरू ने पूछा- आपके बेटे ने कौन सी फिल्म बनाई है, स्टालिन तारीफ कर रहे थे

राज कपूर, प्रथम प्रधानमंत्री के इतने बड़े प्रशंसक थे कि वह 1957 की अपनी फिल्म 'अब दिल्ली दूर नहीं में' जवाहरलाल नेहरू को कास्ट करना चाहते थे।
Written by: स्पेशल डेस्क
नई दिल्ली | Updated: March 17, 2024 15:56 IST
जब पृथ्वीराज कपूर को दावत में देख नेहरू ने पूछा  आपके बेटे ने कौन सी फिल्म बनाई है  स्टालिन तारीफ कर रहे थे
घोड़े पर जवाहरलाल नेहरू (PC- Wikimedia Commons)
Advertisement

1950 के दशक की शुरुआत में जवाहरलाल नेहरू सोवियत संघ की आधिकारिक यात्रा पर गए थे, जहां उनकी मुलाकात इंकलाबी नेता जोसेफ स्टालिन से हुई। तब स्टालिन USSR के शासक हुआ करते थे।

दिल्ली लौटने पर नेहरू ने अपने आवास पर एक पार्टी दी, जिसमें पृथ्वीराज कपूर भी शामिल हुए थे। तब पृथ्वीराज कपूर राज्यसभा सांसद थे। पार्टी में पृथ्वीराज को देखते ही नेहरू उनके पास गए और बताया, "मुझे लगता है आपके बेटे (राज कपूर) ने एक फिल्म बनाई है। मैं मॉस्को में स्टालिन से मिला और उन्होंने मुझे इसके बारे में बताया। यह कौन सी फिल्म है?"

Advertisement

स्टालिन ने नेहरू से आवारा (1951) फिल्म के बारे में बात की थी। उस फिल्म ने न केवल सोवियत संघ में बल्कि पूर्वी यूरोप, अरब, ईरान, तुर्की, मैक्सिको और अन्य लैटिन अमेरिकी देशों में भी दर्शकों को आकर्षित किया था। आवारा को कान्स फिल्म फेस्टिवल में भी नॉमिनेट किया गया था।

यह भारत के अलावा विदेशों में भी हिट रही थी। इसे कई अन्य टाइटल से भी जाना गया: द वागाबॉन्ड, एल वागाबुंडो (मेक्सिको), आवारा-डेरवागाबुंड वॉन बॉम्बे (जर्मनी) और सिम्पल अवारे (तुर्की)। विशेष रूप से फिल्म का टाइटल सॉन्ग "आवारा हूं" पूर्वी यूरोपीय लोगों की कई पीढ़ियाँ गुनगुनाती रही।

आवारा की रिलीज़ के दौरान राज कपूर 27 वर्ष के थे। इस फिल्म से पहले राज कपूर आरके फिल्म्स बैनर के तहत दो अन्य फिल्मों का निर्देशन कर चुके थे - आग (1948) और बरसात (1949)

Advertisement

जब आवारा सिनेमाघरों में रिलीज हुई थी, तब भारत को आजादी मिले मात्र चार साल ही हुए थे। एक युवा राष्ट्र के आदर्शवाद को पहले प्रधानमंत्री नेहरू के अपने लेखन और भाषणों में जिस तरह दर्शाया था, उससे राज कपूर बहुत प्रभावित थे।

Advertisement

नेहरू को अपनी फिल्म में कास्ट करना चाहते थे राज कपूर

राज कपूर, प्रथम प्रधानमंत्री के इतने बड़े प्रशंसक थे कि वह 1957 की अपनी फिल्म 'अब दिल्ली दूर नहीं में' जवाहरलाल नेहरू को कास्ट करना चाहते थे। फिल्म में एक युवा लड़का अपने पिता की जेल की सजा खत्म कराने की उम्मीद से चाचा नेहरू से मिलने के लिए दिल्ली आता है। यह दृश्य नेहरू के आधिकारिक आवास तीन मूर्ति पर फिल्माया जाना था। लेकिन किसी कारण से, अपनी टीम की सलाह पर, नेहरू ने इस फिल्म से हटने का फैसला किया।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो