scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Pankaja Munde: महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से पहले पंकजा मुंडे को ओबीसी चेहरे के रूप में आगे कर सकती है बीजेपी

बीजेपी ने पंकजा को बीड़ लोकसभा सीट से उम्मीदवार बनाया था। हालांकि उन्हें 6000 मतों के मामूली अंतर से चुनाव में हार का सामना करना पड़ा।
Written by: शुभांगी खापरे
नई दिल्ली | Updated: June 28, 2024 12:08 IST
pankaja munde  महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से पहले पंकजा मुंडे को ओबीसी चेहरे के रूप में आगे कर सकती है बीजेपी
बीजेपी को उम्मीद है कि पंकजा मुंडे को आगे करने से उसे महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव में फायदा मिलेगा। (Source-PankajaGopinathMunde/FB)
Advertisement

लोकसभा चुनाव में खराब प्रदर्शन के बाद बीजेपी पंकजा मुंडे को राज्य सरकार में बड़ी जिम्मेदारी दे सकती है। बीजेपी को मराठवाड़ा क्षेत्र में एक भी सीट नहीं मिली है और अब पार्टी की योजना है कि ओबीसी समुदाय का चेहरा पंकजा मुंडे को विधान परिषद सदस्य बनाकर महाराष्ट्र की बीजेपी-एकनाथ शिंदे सरकार में मंत्री बनाया जाए।

Advertisement

बीजेपी के दिग्गज नेता रहे और पार्टी के प्रमुख ओबीसी चेहरे गोपीनाथ मुंडे की सबसे बड़ी बेटी पंकजा मुंडे ने महाराष्ट्र की राजनीति में देवेंद्र फडणवीस के उभार के बाद से ही उन्हें साइडलाइन किए जाने की बात को कभी नहीं छुपाया।

Advertisement

मामूली अंतर से चुनाव हारीं पकंजा

बीजेपी ने इससे पहले पंकजा को राष्ट्रीय स्तर पर संगठन में जिम्मेदारी दी थी और इस बार लोकसभा चुनाव में भी पार्टी ने उन्हें बीड़ लोकसभा सीट से उम्मीदवार बनाया था। हालांकि पंकजा को 6000 मतों के मामूली अंतर से चुनाव में हार का सामना करना पड़ा।

narendra modi
बीजेपी में नहीं थम रही रार। (Source-PTI)

बीजेपी के एक बड़े सूत्र ने कहा कि उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस सहित महाराष्ट्र बीजेपी की कोर कमेटी के नेताओं ने इस बात की सिफारिश की है कि पंकजा मुंडे को विधान परिषद के चुनाव में उम्मीदवार बनाया जाए और राज्य सरकार में कैबिनेट मंत्री की जिम्मेदारी दी जाए। केंद्रीय नेतृत्व ने भी इसे लेकर अपनी सहमति जताई है।

Advertisement

सिर्फ 9 सीटें जीत सकी है बीजेपी

बीजेपी को 2019 के लोकसभा चुनाव में महाराष्ट्र में 23 सीटें मिली थी लेकिन इस बार वह सिर्फ 9 सीटों पर ही चुनाव जीत सकी है। इसके बाद से ही पार्टी को ऐसा लग रहा है कि कुछ महीने बाद होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले उसे अपनी रणनीति पर फिर से विचार करने की जरूरत है।

Advertisement

बाीजेपी को एक ऐसा चेहरा चाहिए जो ओबीसी समुदाय में उसके परंपरागत वोट बैंक को मजबूत कर सके। पंकजा मुंडे न सिर्फ ऐसा कर सकती हैं बल्कि पंकजा मराठवाड़ा क्षेत्र में ओबीसी के तहत आने वाली वंजारी जाति से ताल्लुक रखती हैं। बताना होगा कि मराठवाड़ा ही मराठा आरक्षण आंदोलन का केंद्र रहा है।

rss| bjp| chunav parinam
लोकसभा चुनाव में जीत के बाद बीजेपी हेडक्वार्टर में पीएम मोदी (Source- PTI)

प्रदेश अध्यक्ष भी हैं ओबीसी समुदाय से

महाराष्ट्र में बीजेपी के पास प्रदेश अध्यक्ष चंद्रशेखर बावनकुले के रूप में एक ओबीसी चेहरा मौजूद है। चंद्रशेखर विदर्भ से आते हैं और तेली समुदाय से हैं लेकिन मराठवाड़ा क्षेत्र से भी अगर एक ओबीसी चेहरा सामने आता है तो इससे बीजेपी को ज्यादा फायदा हो सकता है।

बीजेपी को इस बार मराठवाड़ा क्षेत्र की आठ लोकसभा सीटों में से एक भी सीट पर जीत नहीं मिली है। इस इलाके में 46 विधानसभा क्षेत्र आते हैं।

बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि पार्टी के पास दो रास्ते हैं- पहला यह कि पंकजा मुंडे को महाराष्ट्र के कोटे से राज्यसभा का सदस्य बनाया जाए और इसके बाद उन्हें केंद्रीय कैबिनेट में शामिल कर लिया जाए। दूसरा रास्ता यह है कि उन्हें एमएलसी बनाकर महाराष्ट्र की बीजेपी-शिंदे सरकार में कैबिनेट मंत्री बना दिया जाए क्योंकि विधानसभा चुनाव ज्यादा महत्वपूर्ण हैं इसलिए पंकजा राज्य की राजनीति में ज्यादा असरदार साबित हो सकती हैं।

pm modi| cm yogi| up bjp
नरेंद्र मोदी और योगी आदित्यनाथ (Source- PTI)

महाराष्ट्र में सक्रिय रहना चाहती हैं पंकजा मुंडे

2019 के महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में पंकजा ने बीड़ जिले की परली विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था लेकिन उन्हें एनसीपी के उम्मीदवार और अपने चचेरे भाई धनंजय मुंडे के हाथों हार मिली थी। 2020 में उन्हें भाजपा का राष्ट्रीय सचिव बनाया गया और साथ ही मध्य प्रदेश में सह प्रभारी की जिम्मेदारी भी दी गई। हालांकि पंकजा मुंडे के सहयोगी और उनके समर्थक खुलकर इस बात को कहते हैं कि उन्हें महाराष्ट्र की राजनीति में ही सक्रिय रहना चाहिए। पंकजा मुंडे भी महाराष्ट्र में ही काम करना चाहती हैं।

धनंजय को बनाया था मंत्री

धनंजय मुंडे ने जब एनसीपी में हुई टूट के बाद अजित पवार का साथ दिया था तो उन्हें महाराष्ट्र की राज्य सरकार में कृषि मंत्री बनाया गया था। इससे पंकजा मुंडे के समर्थकों में यह संदेश गया था कि महाराष्ट्र बीजेपी में उनकी नेता को किनारे लगाया जा रहा है।

महाराष्ट्र में 12 जुलाई को विधान परिषद की 11 सीटों के लिए चुनाव होना है। भाजपा को उम्मीद है कि वह इनमें से अपने दम पर 5 सीटें जीत सकती है। साथ ही एकनाथ शिंदे की शिवसेना और अजित पवार की एनसीपी के साथ मिलकर चार और सीटें जीत सकती है। कांग्रेस को एक सीट मिल सकती है और एनसीपी (शरद चंद्र पवार) और शिवसेना (यूबीटी) भी महा विकास आघाडी के लिए एक सीट जीत सकते हैं।

narendra Modi
चुनाव में नहीं चला राम मंदिर का मुद्दा? (Source-PTI)

शिंदे कैबिनेट का होना है विस्तार

सूत्रों का कहना है कि विधान परिषद चुनाव के बाद शिंदे कैबिनेट का विस्तार होगा। वर्तमान में महाराष्ट्र की राज्य सरकार में मुख्यमंत्री और दो उपमुख्यमंत्रियों- (देवेंद्र फडणवीस और अजित पवार) को मिलाकर कुल 29 मंत्री हैं। महाराष्ट्र में कुल 43 मंत्री बनाए जा सकते हैं। इस तरह सरकार में 14 सीटें खाली हैं।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो