scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

बीजेपी के संबित पात्रा ने भगवान जगन्नाथ को बताया मोदी भक्त, खूब हुई खिंचाई

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने भाजपा से भगवान जगन्नाथ को राजनीति में न घसीटने की अपील की।
Written by: shrutisrivastva
नई दिल्ली | Updated: May 21, 2024 10:14 IST
बीजेपी के संबित पात्रा ने भगवान जगन्नाथ को बताया मोदी भक्त  खूब हुई खिंचाई
बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा (Source- Express Archive)
Advertisement

पुरी लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार संबित पात्रा की भगवान जगन्नाथ और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को लेकर की गयी एक टिप्पणी पर विवाद खड़ा हो गया है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में संबित पात्रा को कहते हुए सुना जा सकता है कि भगवान जगन्नाथ पीएम मोदी के भक्त हैं। हालांकि, विवाद बढ़ने पर संबित ने माफी मांग ली और कहा कि उनकी जुबान फिसलने के कारण वह ऐसा बोल गए। बीजेपी प्रवक्ता ने सफाई दी कि वह यह कहना चाहते थे कि प्रधानमंत्री भगवान जगन्नाथ के परम भक्त हैं।

Advertisement

सोमवार को ओडिशा के पुरी में पीएम मोदी के रोड शो के बाद मीडिया से बातचीत के दौरान संबित पात्रा ने कहा था कि प्राचीन शहर के प्रतिष्ठित देवता भगवान जगन्नाथ पीएम मोदी के भक्त हैं। उनकी इस टिप्पणी पर हंगामा हो गया, ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी इस मामले पर भाजपा की आलोचना की है।

Advertisement

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने भाजपा से भगवान जगन्नाथ को राजनीति में न घसीटने की अपील की। पटनायक ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X पर एक पोस्ट में ओडिया अस्मिता को ठेस पहुंचाने के लिए संबित पात्रा की आलोचना की। उन्होंने पोस्ट में कहा, ‘‘महाप्रभु श्रीजगन्नाथ ब्रह्मांड के स्वामी हैं। महाप्रभु को दूसरे इंसान का भक्त कहना भगवान का अपमान है। यह पूरी तरह निंदनीय है। इससे भावनाएं आहत हुई हैं और दुनियाभर में करोड़ों जगन्नाथ भक्तों तथा उड़िया लोगों की आस्था को ठेस पहुंची है।’’

नवीन पटनायक ने की भाजपा नेता के बयान की निंदा

नवीन पटनायक ने आगे लिखा, ‘‘भगवान उड़िया अस्मिता के सबसे बड़े प्रतीक हैं। मैं इस बयान की कड़ी निंदा करता हूं और मैं भाजपा से अपील करता हूं कि वह भगवान को किसी भी राजनीतिक चर्चा में शामिल न करे। ऐसा करके आपने ओडिया अस्मिता को गहरी चोट पहुंचाई है और इसे ओडिशा के लोग लंबे समय तक याद रखेंगे।’’

संबित पात्रा की सफाई

जिसके बाद संबित पात्रा ने मुख्यमंत्री पटनायक के पोस्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए X पर लिखा, ‘‘आज पुरी में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के रोड शो की भारी सफलता के बाद मैंने कई मीडिया चैनलों को कई बयान दिए, हर जगह मैंने उल्लेख किया कि मोदी जी श्रीजगन्नाथ महाप्रभु के परम ‘भक्त’ हैं। एक बयान के दौरान गलती से मैंने ठीक इसके विपरीत कह दिया। मुझे पता है कि आप भी इसे जानते और समझते हैं। इसे मुद्दा न बनाया जाए। हम सभी की जुबान कभी-कभी फिसल जाती है।’’

Advertisement

केजरीवाल ने भी की संबित के बयान की आलोचना

वहीं, दूसरी ओर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी भाजपा उम्मीदवार के बयान की निंदा की। उन्होंने भी X पर पोस्ट किया, ‘‘मैं भाजपा नेता के इस बयान की कड़ी निंदा करता हूं। वो सोचने लगे हैं कि वे भगवान से ऊपर हैं। यह अहंकार की पराकाष्ठा है। भगवान को मोदी जी का भक्त कहना भगवान का अपमान है।’’ कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी किसी का नाम लिए बिना बीजेपी पर निशाना साधा। उन्होंने X पर लिखा, "जब प्रधानमंत्री खुद को शहंशाह और दरबारी उन्हें भगवान समझने लगें तो मतलब साफ है कि पाप की लंका का पतन नज़दीक है। करोड़ों लोगों की आस्था को चोट पहुंचाने का अधिकार मुट्ठी भर भाजपा के लोगों को आखिर किसने दिया? यह अहंकार ही उनके विनाश का कारण बन रहा है।"

वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने भी लिखा, "बीजेपी नेता संबित पात्रा कहते हैं भगवान जगन्नाथ पीएम मोदी के 'भक्त' हैं। बाद में उन्होंने सफाई दी कि यह जुबान फिसलने की वजह से हुआ। लेकिन, आज काशी विश्वनाथ मंदिर के बाहर एक बूढ़ी महिला ने मोदी जी को 'भगवान का अवतार' कहा। अत्यधिक भक्ति/भक्त, राष्ट्र के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है और हां जुबान के लिए भी!"

संबित पात्रा ने मांगी माफी

बवाल बढ़ता देख संबित पात्रा ने सोशल मीडिया एक पोस्ट लिखते हुए माफी मांगी है। उन्होंने लिखा, “आज महाप्रभु श्री जगन्नाथ जी को लेकर मुझसे जो भूल हुई है, उस विषय को लेकर मेरा अंतर्मन अत्यंत पीड़ित है। मैं महाप्रभु श्री जगन्नाथ जी के चरणों में शीश झुकाकर क्षमा याचना करता हूं। अपने इस भूल सुधार और पश्चाताप के लिए अगले 3 दिन मैं उपवास पर रहूंगा।"

पहले भी कई लोग पीएम मोदी को बता चुके हैं भगवान

इससे पहले भी कई भाजपा नेता पीएम मोदी की तुलना भगवान से कर चुके हैं। हाल ही में मंडी संसदीय क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी प्रत्याशी कंगना रनौत ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भगवान विष्णु का अवतार बताया था। इससे पहले उन्होंने पीएम मोदी को भगवान श्रीराम का अवतार बताया था। 2 अप्रैल को मंडी में एक चुनावी सभा में कंगना ने पीएम मोदी को श्रीराम का अंश बताया था। उससे पहले 31 मार्च को सरकाघाट में जन संपर्क अभियान के दौरान भी कंगना ने पीएम मोदी को रामचंद्र का अवतार बताया था।

चंपत राय ने कहा था पीएम मोदी को भगवान 'व‍िष्‍णु का अवतार'

रामजन्मभूमि ट्रस्ट के सचिव चंपत राय ने पीएम मोदी को भगवान 'व‍िष्‍णु का अवतार' कहा था। एक न्‍यूज चैनल से बातचीत के दौरान राय ने कहा था कि प्रधानमंत्री मोदी ह‍िन्‍दुस्‍तान में भारतीय परंपरा में राजा व‍िष्‍णु का अवतार हैं। वो देश में लोकतंत्र के सर्वमान्‍य व्‍यक्‍त‍ि हैं। वो दुन‍िया में ह‍िन्‍दुस्‍तान का प्रत‍िन‍िध‍ित्‍व करते हैं। वह एक मानव से ऊपर हैं।

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना अवतरित पुरुष से की थी। उन्होंने कहा था कि जैसे पहले अत्याचार बढ़ने पर भगवान किसी न किसी रूप में जन्म लेते थे वैसे ही फिर त्रेता युग की स्थापना कर नरेंद्र मोदी अवतरित पुरुष हुए हैं। वो साधना और साधक के रूप में दिखते हैं। गिरिराज सिंह ने कहा था कि नरेंद्र मोदी ने सारे मिथ्या को तोड़ डाला। जात-पात तंत्र मंत्र सारे ब्राह्मणवाद को तोड़ दिया है। पीएम मोदी अपने को साध कर साधक के रूप में आए हैं।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो