scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Bihar Lok Sabha Chunav 2024: ब‍िहार में 15 साल मुसलमानों की बदौलत राज करने वाले लालू ने भी स‍िर्फ 2 मुस्‍ल‍िमों को द‍िया ट‍िकट

Bihar Muslim Candidates 2024 Election: बिहार में इंडिया व एनडीए गठबंधन ने मुस्लिम समुदाय के नेताओं को आबादी में उनकी हिस्सेदारी के हिसाब से टिकट क्यों नहीं दिया?
Written by: deepak prajapati
नई दिल्ली | Updated: April 25, 2024 08:12 IST
bihar lok sabha chunav 2024  ब‍िहार में 15 साल मुसलमानों की बदौलत राज करने वाले लालू ने भी स‍िर्फ 2 मुस्‍ल‍िमों को द‍िया ट‍िकट
23 अप्रैल, 2022 को आयोजित इफ्तार पार्टी में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव। (Source-PTI)

लोकसभा चुनाव 2024 में बिहार में सभी राजनीतिक दलों ने मुस्लिम उम्मीदवारों को चुनाव मैदान में उतारने में जबरदस्त कंजूसी दिखाई है। एनडीए गठबंधन में जदयू की ओर से सिर्फ एक मुस्लिम उम्मीदवार को टिकट दिया गया है।

जबकि मुस्लिम-यादव कोर वोट बैंक के दम पर साल 1990 से 2005 तक लगातार 15 साल तक बिहार में अकेले दम पर सरकार चलाने वाली राजद ने सिर्फ दो मुस्लिम उम्मीदवारों को चुनाव मैदान में उतारा है। कांग्रेस ने भी दो मुस्लिम नेताओं को अपना प्रत्याशी बनाया है। इंडिया गठबंधन में शामिल अन्य दलों- वीआईपी और वामपंथी पार्टियों ने किसी भी मुस्लिम चेहरे को चुनाव मैदान में नहीं उतारा है।

एनडीए गठबंधन में बीजेपी, राष्ट्रीय लोक मोर्चा, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा, लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) ने किसी भी मुस्लिम चेहरे को प्रत्याशी नहीं बनाया है। हालांकि इन सभी राजनीतिक दलों को मुस्लिम मतदाताओं के वोट भरपूर संख्या में चाहिए।

Bihar RJD lok sabha candidates list 2024: किस-किस को मिला टिकट

राजद ने अररिया सीट पर जोकीहाट से पार्टी के विधायक शाहनवाज आलम को और मधुबनी से एम.ए.ए. फातमी को टिकट दिया है जबकि कांग्रेस की ओर से पूर्व सांसद तारिक अनवर कटिहार से और मोहम्मद जावेद किशनगंज सीट से चुनाव लड़ेंगे। जदयू ने किशनगंज से मुजाहिद आलम को उम्मीदवार बनाया है।

पार्टीकुल उम्मीदवारमुस्लिम उम्मीदवारयादव उम्मीदवारअन्य जाति के उम्मीदवार
राजद232912
कांग्रेस9207
जदयू161213
बीजेपी170314
वीआईपी3003
माले3012
सीपीआई1010
सीपीएम1001
लोजपा5005
हम (सेक्युलर)1001
रालोमो1001

बीते दिनों बिहार में एनडीए को मुस्लिम समुदाय की ओर से तब झटका लगा था जब दो बार खगड़िया सीट से सांसद रहे चौधरी महबूब अली कैसर ने लोक जन शक्ति पार्टी का साथ छोड़कर आरजेडी का दामन थाम लिया था।

Lok Sabha Election Bihar: बिहार से चुने गए मुस्लिम सांसद 

बिहार के लोकसभा चुनाव के नतीजों की बात करें तो राज्य से सबसे अधिक छह मुस्लिम सांसद 1998 के लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज कर संसद पहुंचे थे।

सालचुने गए सांसदों की संख्या
19804
19844
19893
19915
19964
19986
19995
20044
20093
20144
20192
पीएम नरेंद्र मोदी और सांसद असदुद्दीन ओवैसी। (Source- ANI)

Bihar Muslim Politics: बिहार में मुस्लिम वोटों का असर

बिहार में मुस्लिम वोटरों की अच्छी-खासी तादाद है। नीतीश सरकार के द्वारा बीते साल कराई गई जाति जनगणना के मुताबिक बिहार की कुल आबादी में 17.70% मुसलमान हैं।

बिहार में 13 लोकसभा सीटें ऐसी हैं, जहां मुस्लिम मतदाताओं की संख्या 12 से 67 फीसदी के बीच है। किशनगंज के बाद कटिहार में मुस्लिम मतदाता 38%, अररिया में 32 %, पूर्णिया में 30 %, मधुबनी में 24 %, दरभंगा में 22 %, सीतामढ़ी में 21 %, पश्चिमी चंपारण में 21% और पूर्वी चंपारण में लगभग 20 % मुस्लिम मतदाता हैं। इसके अलावा सीवान, सुपौल, मधेपुरा, शिवहर, खगडिय़ा, भागलपुर, औरंगाबाद, पटना और गया में 15% से अधिक मुस्लिम मतदाता हैं।

Kishanganj Lok Sabha Election 2024: नीतीश पहुंचे किशनगंज, मुस्लिमों से की अपील

बीते रविवार को किशनगंज सीट से जदयू के उम्मीदवार मुजाहिद आलम की चुनावी सभा में नीतीश कुमार ने मुस्लिम समुदाय से अपील की कि वह लोकसभा चुनाव में एनडीए उम्मीदवारों के पक्ष में वोट करें। नीतीश ने अपने भाषण के दौरान मुस्लिम समुदाय के लिए किए गए तमाम कामों को भी गिनाया। इसमें 8000 कब्रिस्तानों की तारबाड़ करवाना, मदरसों में बुनियादी जरूरतें उपलब्ध करवाना और बिहार के अंदर होने वाले सांप्रदायिक संघर्ष की घटनाओं को रोकना आदि शामिल है। उन्होंने लोगों को राजद के शासनकाल की याद दिलाते हुए कहा कि वह उनकी सरकार के द्वारा किए गए कामों को ना भूलें।

नीतीश ने मुस्लिम मतदाताओं से पूछा कि क्या वह उनकी सरकार के द्वारा किए गए कामों को भूल जाएंगे। क्या वह किशनगंज सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार मोहम्मद जावेद को वोट दे देंगे?

बताना होगा कि किशनगंज बिहार का एकमात्र ऐसा जिला है जहां मुस्लिम आबादी हिंदुओं से ज्यादा है। किशनगंज में 68 प्रतिशत मुस्लिम आबादी है और यह अकेली ऐसी सीट है जहां पर एनडीए ने मुस्लिम उम्मीदवार उतारा है।

Tags :
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 चुनाव tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो