scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

मेकअप करने और परफ्यूम लगाने की भी अनुमति नहीं, क्या कहते हैं वर्दी को लेकर भारतीय सेना के नियम?

सेना के नियम और कायदों में यह स्पष्ट किया जाता है कि जब आप वर्दी में हैं, तो उस दौरान आप धार्मिक चिह्न या अन्य चीजों में से क्या पहन सकते हैं और क्या नहीं।
Written by: MAN AMAN SINGH CHHINA
नई दिल्ली | Updated: July 08, 2024 22:48 IST
मेकअप करने और परफ्यूम लगाने की भी अनुमति नहीं  क्या कहते हैं वर्दी को लेकर भारतीय सेना के नियम
Advertisement

भारतीय सेना ने एक बार फिर कहा है कि सेना में सेवा कर रहे लोगों को सेना की वर्दी में आभूषण और धार्मिक चिन्ह पहनने के मामले में नियमों का पालन करना होगा। सेना की ओर से यह आदेश इस वजह से दिया गया है क्योंकि कुछ जवानों को उनकी सोशल मीडिया पोस्ट में धार्मिक चिन्ह और अन्य चीजें पहने हुए देखा गया था।

Advertisement

सेना के नियम और कायदों में यह स्पष्ट किया जाता है कि जब आप वर्दी में हैं, तो उस दौरान आप धार्मिक चिह्न या अन्य चीजों में से क्या पहन सकते हैं और क्या नहीं। सेना की ओर से यह भी बताया जाता है कि किन चीजों को पहनना है और किन चीजों को पहनने पर रोक है।

Advertisement

डिफेंस सर्विसेज रेगुलेशंस एंड आर्मी ड्रेस रेगुलेशंस में कपड़ों और अन्य चीजों को पहनने के बारे में विस्तृत दिशा निर्देश दिए गए हैं।

agniveer| agnipath| congress
कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश (Source- PTI)

क्या कहते हैं सेना के नियम?

भारतीय सेना के नियम स्पष्ट रूप से कहते हैं कि वर्दी के साथ कोई भी अनाधिकृत आभूषण या चिह्न नहीं पहना जाना चाहिए हालांकि सिर्फ एक अंगूठी पहनने की अनुमति है। वर्दी के साथ घड़ी की चेन और किसी सस्ते आभूषण को भी इस तरह नहीं पहना जा सकता कि वह लोगों को दिखाई दे।

Advertisement

आर्मी ड्रेस रेगुलेशंस में स्पष्ट तौर पर कहा गया है कि किसी भी तरह की चेन या कोई पवित्र धागा गले में नहीं पहना जा सकता। अगर ऐसा किया जाता है तो उन्हें सही ढंग से छुपाया जाना चाहिए जिससे वह दूसरे लोगों को ना दिखाई दें।

Advertisement

आर्मी ड्रेस रेगुलेशंस में वर्दी में कोई आभूषण पहनने या धार्मिक चिन्ह के संबंध में एक पैराग्राफ है। यह पैराग्राफ कहता है कि कोई भी वर्दी में किसी भी तरह का ब्रेसलेट नहीं पहनेगा। पूजा के दिन एक पवित्र धागा कलाई पर पहना जा सकता है लेकिन ज्यादा धागे पहनने की अनुमति नहीं है।

सिख समुदाय से आने वाले अफसर, जेसीओ, अन्य रैंक के जवान और सिख जवानों को कमांड देने वाले गैर सिख अफसर कड़ा पहन सकते हैं। जब आप वर्दी में हों तो किसी भी तरह का तिलक/विभूति या अन्य कोई चिन्ह नहीं लगा सकते।

agniveer
अग्निपथ योजना के विरोध में है विपक्ष।(Source-PTI)

महिलाओं के लिए क्या हैं नियम?

आर्मी ड्रेस रेगुलेशंस के मुताबिक विवाहित महिलाएं अपने गले में मंगलसूत्र पहन सकती हैं लेकिन उन्हें इस बात का ध्यान रखना होगा कि जब वे वर्दी में हों तो मंगलसूत्र दूसरे लोगों को दिखाई ना दे।

नियमों में कहा गया है कि जब महिलाएं वर्दी में हों तो लिपस्टिक या रंग बिरंगी नेल पॉलिश ना बिंदी न लगाएं। सिंदूर सिर्फ बालों के एक हिस्से पर इस तरह लगाया जा सकता है कि टोपी पहनने पर यह दूसरे लोगों को दिखाई नहीं दे।

महिलाएं जिन्होंने भारतीय सेना की वर्दी पहनी हुई हो, वे किसी तरह का कॉस्मेटिक या मेकअप नहीं कर सकतीं। आई लाइनर, काजल और फेशियल मेकअप करने की अनुमति भी नहीं है। केवल पारदर्शी नेल पॉलिश या नेल पेंट लगा सकती हैं।

ऑन ड्यूटी मेहंदी लगाना सख्त मना है

धूप से बचने के लिए फेशियल फाउंडेशन क्रीम चेहरे पर लगा सकती हैं लेकिन तब जब आपकी तैनाती आउटडोर हो। नियमों में कहा गया है कि जब आप वर्दी में हों और ऑन ड्यूटी हों तो हाथों में मेहंदी लगाना सख्त मना है।

Agnipath
योगेश (तस्वीर में) का कहना है कि उसने फौज में जाने का सपना छोड़ होटल मैनेजमेंट में कैरियर बनाने का फैसला कर लिया है। जबकि इनके भाई नितिन का कहना है कि फौज में अवसर कम हो गए तो होटल में काम कर लूंगा। (Photo Source- Indian Express)

छोटी बालियां और सगाई/शादी की अंगूठी को छोड़कर कोई भी आभूषण वर्दी के साथ नहीं पहन सकते हैं। महिलाओं को कान छिदवाने के केवल एक सेट की अनुमति है।

महिलाएं नाक छिदवा सकती हैं लेकिन जब वह वर्दी में हों तो किसी भी तरह का जड़ित बटन पहनने की अनुमति नहीं है। इसके अलावा किसी भी तरह की फैंसी ईयररिंग, नोज रिंग को पहनने की अनुमति भी नहीं है।

बाएं हाथ की रिंग फिंगर पर एक सगाई या शादी की अंगूठी पहनी जा सकती है हालांकि परेड में वर्दी पहने हुए कोई अंगूठी नहीं पहन सकते।

और क्या नहीं पहन सकते?

इस बात की सख्त मनाही है कि किसी भी तरह की खुशबू वाली चीज जैसे- डिओडरेंट, परफ्यूम आदि नहीं लगा सकते लेकिन आफ्टर शेव लोशन लगा सकते हैं।

किसी तरह की घड़ी या वॉच बैंड भी नहीं पहन सकते क्योंकि इससे सुरक्षा को खतरा हो सकता है। चमकीले रंग की घड़ियां और वॉच बैंड पहनने की अनुमति नहीं है। ऐसी पॉकेट घड़ी जिन में चेन लगी हुई हो यह भी नहीं पहन सकते। परेड के दौरान परेड को कंट्रोल करने वाले सीनियर सैनिक के अलावा कोई भी सदस्य घड़ी नहीं पहन सकता।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो