scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Faridabad Lok Sabha Chunav 2024: सबसे ज्यादा आबादी जाटों की लेकिन 2004 से यहां लगातार जीत रहे गुर्जर नेता

Haryana BJP lok sabha candidates list 2024: फरीदाबाद में कांग्रेस और बीजेपी ने जाट नेताओं को टिकट क्यों नहीं दिया?
Written by: Pawan Upreti
Updated: May 05, 2024 20:51 IST
faridabad lok sabha chunav 2024  सबसे ज्यादा आबादी जाटों की लेकिन 2004 से यहां लगातार जीत रहे गुर्जर नेता
केंद्रीय मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर। (Source-KPGBJP/FB)
Advertisement

हरियाणा की फरीदाबाद लोकसभा सीट पर जातीय समीकरणों के लिहाज से जाट मतदाता सबसे ज्यादा हैं लेकिन 1999 से यहां से कोई भी जाट नेता लोकसभा में नहीं पहुंचा है। 1996, 1998 और 1999 में लगातार तीन बार जाट नेता रामचंद्र बैंदा फरीदाबाद से लोकसभा का चुनाव जीते थे। लेकिन उसके बाद यहां से लगातार गुर्जर नेता ही लोकसभा पहुंचते रहे हैं।

यह भी हैरानी की बात है कि जाट मतदाता ज्यादा होने के बावजूद बीजेपी और कांग्रेस दोनों ने ही यहां से किसी भी जाट नेता को टिकट नहीं दिया। 2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव में भी ऐसा ही हुआ था।

Advertisement

जबकि जाट समुदाय से आने वाले और पांच बार विधायक रहे करण सिंह दलाल इस बार जोर-शोर से कांग्रेस से टिकट की दावेदारी कर रहे थे लेकिन कांग्रेस ने यहां से गुर्जर बिरादरी से आने वाले महेंद्र प्रताप सिंह को प्रत्याशी बनाया है। बीजेपी की ओर से एक बार फिर केंद्रीय मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर चुनाव मैदान में हैं।

हालांकि इनेलो और जेजेपी ने इस समुदाय के नेताओं को प्रत्याशी बनाया है। इनेलो ने सुनील तेवतिया और जेजेपी ने नलिन हुड्डा को टिकट दिया है।

सालकौन बने सांसद
1996रामचंद्र बैंदा
1998रामचंद्र बैंदा
1999रामचंद्र बैंदा
2004अवतार सिंह भड़ाना
2009अवतार सिंह भड़ाना
2014कृष्ण पाल गुर्जर
2019कृष्ण पाल गुर्जर

Krishan Pal Gurjar Faridabad: 6.45 लाख वोटों से जीते थे कृष्ण पाल गुर्जर

पिछले दो चुनावों में भाजपा प्रत्याशी कृष्ण पाल गुर्जर ने बड़ी जीत हासिल की है। 2014 के लोकसभा चुनाव में कृष्ण पाल गुर्जर ने कांग्रेस के उम्मीदवार अवतार सिंह भडाना को 4.67 लाख मतों के अंतर से हराया था जबकि 2019 में उनकी जीत का आंकड़ा 6.45 लाख वोटों का रहा था। कृष्ण पाल गुर्जर को फिर से टिकट मिलने की वजह उनकी बड़ी जीत ही रही है।

Advertisement

Haryana lok sabha 2024
भाजपा नेता ने कांग्रेस प्रत्याशी को बताया गीदड़ (PC- IE)

2019 Haryana Assembly Election: बीजेपी के पास हैं सात सीटें

फरीदाबाद लोकसभा सीट में 9 विधानसभा सीटें आती हैं। इन सीटों के नाम बड़खल, एनआईटी, तिगांव, फरीदाबाद, पृथला और बल्लभगढ़ सीटें फरीबाद जिले में हैं जबकि पलवल, हथीन और होडल पलवल जिले में आती हैं। इनमें से 2019 के विधानसभा चुनाव में सात विधानसभा सीटों पर बीजेपी को जीत मिली थी जबकि एक सीट पर कांग्रेस और एक सीट पर निर्दलीय उम्मीदवार चुनाव जीते थे। इससे पता चलता है कि विधानसभा सीटों के लिहाज से भी बीजेपी यहां काफी मजबूत है।

Faridabad Lok Sabha Seat: फरीदाबाद में हैं 24 लाख से ज्यादा मतदाता

राजनीतिक दलों से मिले आंकड़ों के मुताबिक, फरीदाबाद में 24 लाख 17 हजार मतदाता हैं। इस सीट पर सबसे ज्यादा जाट बिरादरी के 4.20 हजार मतदाता हैं। इसके बाद अनुसूचित जाति के 3.65 लाख, गुर्जर 3.50 लाख, ओबीसी 3.10 लाख, ब्राह्मण 2.40 लाख, मुस्लिम 2.35 लाख और बाकी अन्य समुदाय के मतदाता हैं।

Prime Minister Narendra Modi and Haryana Chief Minister Nayab Singh Saini
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और हरियाणा के मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी। (Source- Facebook/Nayab Saini)

Haryana Jat Politics: जाटों को टिकट देने में कंजूसी

कांग्रेस में टिकट बंटवारे में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष उदयभान की चली है जबकि बीजेपी ने सोशल इंजीनियरिंग का ध्यान रखते हुए हरियाणा में टिकटों का बंटवारा किया है। लेकिन हरियाणा की सबसे बड़ी आबादी होने के बाद भी जाट समुदाय को बीजेपी और कांग्रेस की ओर से सिर्फ दो-दो टिकट ही दिए गए हैं।

नाराज नेता बिगाड़ सकते हैं समीकरण

पूर्व मंत्री करण सिंह दलाल कांग्रेस से नाराजगी जता रहे हैं। दलाल का कहना है कि कांग्रेस का टिकट उन्हें ही दिया जाना चाहिए था। हालांकि कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने उन्हें मनाने की पूरी कोशिश की है। इसी तरह बीजेपी भी फरीदाबाद में नाराज नेताओं को मनाने में जुटी है। पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर खुद फरीदाबाद में पूर्व विधायक नागेंद्र भड़ाना को मनाने के लिए उनके घर पहुंचे।

हरियाणा में लोकसभा की 10 सीटें हैं और यहां सभी सीटों पर छठे चरण में (25 मई) को वोटिंग होगी।

shruti choudhary satpal brahmchari
श्रुति चौधरी और सतपाल ब्रह्मचारी।
Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो