scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Fact Check: वोटिंग से पहले नील्सन-भास्कर के नाम से वायरल चुनाव पूर्व सर्वेक्षण झूठा है

यह फैक्‍ट-चेक मूल रूप से विश्वास न्यूज़ द्वारा क‍िया गया है। यहां इसे शक्ति कलेक्टिव के सदस्‍य के रूप में पेश क‍िया जा रहा है।
Written by: akshat.kakkad@rtcamp.com
नई दिल्ली | Updated: April 18, 2024 20:27 IST
fact check  वोटिंग से पहले नील्सन भास्कर के नाम से वायरल चुनाव पूर्व सर्वेक्षण झूठा है
वायरल हो रहा चुनाव पूर्व सर्वेक्षण झूठा है।(PC-X)
Advertisement

लोकसभा चुनाव 2024 के पहले चरण के मतदान से पहले सोशल मीडिया पर नील्सन-दैनिक भास्कर के नाम से एक चुनाव पूर्व मेगा सर्वे में उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, बिहार, बंगाल, तमिलनाडु, तेलंगाना समेत 10 राज्यों में इंडिया गठबंधन की बढ़त का दावा किया गया है।

विश्वास न्यूज ने अपनी जांच में इसे फेक पाया। वास्तव में दैनिक भास्कर की तरफ से ऐसा कोई सर्वे नहीं किया गया है और इस दावे के साथ वायरल हो रहा अखबार का स्क्रीनशॉट एडिटेड है।

Advertisement

क्या हो रहा है वायरल?

सोशल मीडिया यूजर ‘Priyamwada’ ने वायरल पोस्ट को शेयर करते हुए लिखा है। “Abki Bar BJP Tadipar Dainik Bhaskar-Nelson Survey: In 10 states INDIA alliance is leading & could cross 200 in these 10 states alone.

इस पोस्ट का आर्काइव वर्जन यहाँ देखे

सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्म्स पर कई अन्य यूजर्स ने इसे समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है।

Advertisement

कैसे हुई पड़ताल:

वायरल पोस्ट में किए गए दावे के आधार पर हमें दैनिक भास्कर की वेबसाइट या सोशल मीडिया हैंडल पर ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं मिली, जिसमें ऐसे किसी मेगा सर्वे के आंकड़ों का जिक्र हो। सर्च में हमें दैनिक भास्कर के आधिकारिक एक्स हैंडल पर 13 अप्रैल 2024 को साझा किया गया ट्वीट मिला, जिसमें इस सर्वे को फेक बताया गया है।

Advertisement

साथ ही इस फेक सर्वे को शेयर करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई है। वायरल पोस्ट में दैनिक भास्कर अखबार के पहले पेज का स्क्रीनशॉट है, जिसमें भोपाल संस्करण और 13 अप्रैल की तारीख का जिक्र है। हमने संबंधित तारीख के भोपाल एडिशन को चेक किया और पाया कि इस दिन के अखबार में ऐसा कोई सर्वे नहीं छपा है, बल्कि पहली खबर मानसून से संबंधित है।

वायरल स्क्रीनशॉट को लेकर हमने दैनिक भास्कर के राष्ट्रीय संपादक एलपी पंत से संपर्क किया। उन्होंने पुष्टि करते हुए बताया कि यह फेक सर्वे है और भास्कर ने ऐसा कोई सर्वे प्रकाशित नहीं किया है।

फेक सर्वे को शेयर करने वाले यूजर को एक्स पर करीब 35 हजार से अधिक लोग फॉलो करते हैं। चुनाव से संबंधित अन्य भ्रामक व फेक दावों की जांच करती फैक्ट चेक रिपोर्ट को विश्वास न्यूज के चुनावी सेक्शन में पढ़ा जा सकता है।

चुनाव आयोग की अधिसूचना के मुताबिक, कुल सात चरणों में होने वाले लोकसभा चुनाव 2024 की शुरुआत 19 अप्रैल को पहले चरण के मतदान से होगी, जिसके तहत कुल 102 सीटों पर वोटिंग होगी।

निष्कर्ष: पहले चरण के मतदान से पहले नील्सन-भास्कर के नाम पर वायरल हो रहा चुनाव पूर्व सर्वेक्षण फेक है, जिसमें 10 राज्यों में विपक्षी गठबंधन की बढ़त का दावा किया गया है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो