scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Fact Check: क्या कर्नाटक में पीएम मोदी का पुतला जलाते हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओं की लुंगी में लगी आग?

यह फैक्‍ट-चेक मूल रूप से न्यूज़चेकर द्वारा क‍िया गया है। यहां इसे शक्ति कलेक्टिव के सदस्‍य के रूप में पेश क‍िया जा रहा है।
Written by: Ankita Deshkar
नई दिल्ली | Updated: May 10, 2024 12:10 IST
fact check  क्या कर्नाटक में पीएम मोदी का पुतला जलाते हुए कांग्रेस कार्यकर्ताओं की लुंगी में लगी आग
पीएम मोदी का पुतला जलाते कांग्रेस कार्यकर्ताओं की लुंगी में लगी आग, यह दावा कर वायरल हो रहे वीडियो का स्क्रीनशॉट। (PC: X)
Advertisement

न्यूज़ चेकर: पुतला जलाते कुछ लोगों का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। पोस्ट के जरिए कहा जा रहा है कि कर्नाटक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला जलाते हुए कांग्रेसियों की लुंगी में आग लग गई। जांच के दौरान newschecker ने इस दावे को गलत पाया

क्या है दावा?

X यूजर दावा कर रहे हैं कि कर्नाटक में पीएम मोदी का पुतला जलाते समय पांच कांग्रेसियों की लुंगी में आग लग गई।

Advertisement

पोस्ट का आर्काइव यहां देखें।

अन्य यूजर भी समान दावे के साथ वायरल वीडियो शेयर कर रहे हैं।

जांच पड़ताल:

इस वायरल वीडियो में ‘लुंगी डांस’ गाने का एक ऑडियो भी जोड़ा गया है। दावे की पड़ताल के लिए हमने वीडियो के कीफ्रेम को रिवर्स इमेज सर्च की मदद से ढूंढना शुरू किया।

Advertisement

कीफ्रेम के साथ कुछ कीवर्ड्स को गूगल सर्च करने पर हमें 30 दिसंबर 2015 को आजतक द्वारा प्रकाशित एक खबर प्राप्त हुई। इस खबर में बताया गया है कि पुतला जलाते वक्त तमिलनाडु में AIDMK के कार्यकर्ताओं की लुंगी में आग लग गई थी। हालांकि, यह वह वीडियो नहीं है जो अभी वायरल हो रहा है।

Advertisement

कुछ कीवर्ड्स को गूगल सर्च करने पर हमें 5 जुलाई 2012 को Asianetnews के यूट्यूब चैनल पर मलयालम भाषा में अपलोड की गई एक वीडियो रिपोर्ट मिली। इस रिपोर्ट में वायरल वीडियो को स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है। वीडियो में बताया गया है कि यह घटना केरल के पथानामथिट्टा की है, जहां केएसयू (केरल स्टूडेंट यूनियन) के कार्यकर्ता एमजी विश्वविद्यालय के वीसी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। चांसलर का पुतला फूंकने के समय एक व्यक्ति ने उस वक्त आग लगा दी, जब एक दूसरा कार्यकर्ता पुतले पर पेट्रोल डाल रहा था। इसके चलते कुछ कार्यकर्ताओं के कपड़ों में आग लग गई। बतौर रिपोर्ट, इस घटना में दो कार्यकर्ता जख्मी हो गए थे।

केएसयू के बारे में जानने के लिए हमने कुछ कीवर्ड्स को गूगल सर्च किया। इस दौरान हमें केएसयू की आधिकारिक वेबसाइट पर दी गई जानकारी से पता चला कि यह अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी का राज्य में स्टूडेंट यूनियन है।

पड़ताल के दौरान यह स्पष्ट हो गया कि वायरल वीडियो कर्नाटक का नहीं, बल्कि केरल का है, जहां केएसयू के कार्यकर्ताओं ने एमजी विश्वविद्यालय के चांसलर के खिलाफ प्रदर्शन किया था। करीब 12 साल पुराने वीडियो को गलत दावे के साथ शेयर किया जा रहा है।

निष्कर्ष: केरल के पथानामथिट्टा की पुरानी घटना को हालिया बताकर वायरल हो रहा दावा गलत है।

यह फैक्‍ट-चेक मूल रूप से न्यूज़चेकर द्वारा क‍िया गया है। यहां इसे शक्ति कलेक्टिव के सदस्‍य के रूप में पेश क‍िया जा रहा है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 चुनाव tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो