scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Jharkhand Election: विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटे शिवराज, कहा- तैयार करो चार्जशीट, कार्यकर्ताओं को चार्ज करने का भी अभियान शुरू

जेल से आने के बाद हेमंत सोरेन ने झारखंड की आदिवासी जनता के साथ ही राज्य के लोगों को यह संदेश देने की कोशिश की है कि वह बीजेपी के खिलाफ पूरी ताकत से विधानसभा चुनाव लड़ेंगे।
Written by: Pawan Upreti
नई दिल्ली | Updated: July 06, 2024 16:25 IST
jharkhand election  विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटे शिवराज  कहा  तैयार करो चार्जशीट  कार्यकर्ताओं को चार्ज करने का भी अभियान शुरू
झारखंड में एनडीए-इंडिया गठबंधन में है कांटे की लड़ाई। (Source-FB)
Advertisement

लोकसभा चुनाव में झारखंड में मनमुताबिक सीटें न मिलने के बाद बीजेपी कुछ महीने बाद होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गई है। बीजेपी ने झारखंड में जीत हासिल करने के मकसद से बेहद अनुभवी नेता और केंद्रीय कृषि मंत्री शिवराज सिंह चौहान को चुनाव प्रभारी बनाया है।

Advertisement

सह चुनाव प्रभारी के रूप में पार्टी के स्टार चेहरे और असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा को बीजेपी को जिताने की जिम्मेदारी दी गई है।

Advertisement

दूसरी ओर, हेमंत सोरेन के जेल से बाहर आने और फिर से मुख्यमंत्री बनने के बाद इंडिया गठबंधन भी पूरी ताकत के साथ चुनाव लड़ने और सत्ता में वापस आने की तैयारी में जुटा है।

झारखंड के लोकसभा चुनाव में बीजेपी की अगुवाई वाले एनडीए को 9 सीटों पर जीत मिली है। जबकि उसने राज्य की सभी 14 लोकसभा सीटें जीतने का लक्ष्य रखा था। पिछली बार एनडीए ने 12 सीटें जीती थी।

2024 में कौन कितनी लोकसभा सीटों पर जीता

राजनीतिक दलमिली सीटें
बीजेपी8
कांग्रेस2
झामुमो3
आजसू1

कौन कितनी विधानसभा सीटों पर रहा आगे (कुल सीटें- 81)

बीजेपी46
कांग्रेस15
आजसू3
झामुमो14
निर्दलीय2
बीएसपी1

बीजेपी पर हमलावर हुए हेमंत

बताना होगा कि हेमंत सोरेन ने 5 महीने तक जेल में रहने के बाद फिर से मुख्यमंत्री की कुर्सी संभाल ली है। जेल से आने के बाद हेमंत सोरेन ने झारखंड की आदिवासी जनता के साथ ही राज्य के लोगों को यह संदेश देने की कोशिश की है कि वह बीजेपी के खिलाफ पूरी ताकत से विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। हेमंत सोरेन ने कहा है कि वह आदिवासी के बेटे हैं और किसी भी कीमत पर तानाशाही के आगे सिर नहीं झुकाएंगे। सोरेन ने कहा है कि विधानसभा चुनाव में बीजेपी का झारखंड से सफाया हो जाएगा।

Advertisement

हेमंत सोरेन के फिर से मुख्यमंत्री बनने के बाद इंडिया गठबंधन में शामिल झामुमो, कांग्रेस, आरजेडी और वाम दल भी चुनाव को लेकर फ्रंट फुट पर आते दिख रहे हैं। झारखंड में बीजेपी के सहयोगी के रूप में जेडीयू और ऑल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन (आजसू) हैं। पड़ोसी राज्य बिहार में एनडीए की ही सरकार है।

Advertisement

Hemant Soren Babulal Marandi
आदिवासी वोटों पर कब्जे की है लड़ाई। (Source-FB)

कार्यकर्ताओं को सम्मानित करेगी बीजेपी

लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद बीजेपी सक्रिय हुई है और पार्टी अपने कार्यकर्ताओं में जोश भरने जा रही है। इसके तहत 6 से 15 जुलाई तक विधानसभा स्तर पर कार्यकर्ताओं का सम्मान समारोह और विजय संकल्प सभाएं की जाएंगी। इसके तहत अलग-अलग विधानसभा क्षेत्र में कार्यक्रम आयोजित होंगे।

इसके लिए पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और आदिवासी चेहरे बाबूलाल मरांडी, पूर्व केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, नेता प्रतिपक्ष अमर बाउरी सहित तमाम नेता मैदान में उतरेंगे।

Hemant Soren
झारखंड में जल्द होने हैं विधानसभा चुनाव। (PC-HemantSorenJMM)

बीजेपी की प्रदेश इकाई आने वाले दिनों में हेमंत सोरेन सरकार के खिलाफ बड़े पैमाने पर आंदोलन करने की रणनीति बना रही है। केंद्रीय कृषि मंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रांची पहुंचकर बीजेपी की घोषणा समिति और आरोप समिति की बैठक में भाग लिया। उन्होंने कहा कि ऐसे तमाम मुद्दे जिनसे आम लोग जूझ रहे हैं, उन्हें आरोप और घोषणा समिति में शामिल किया जाना चाहिए।

शिवराज ने कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए कहा कि हमें कार्यकर्ताओं के घर जाना चाहिए, उन्हें सम्मानित करना चाहिए क्योंकि यह हमारा स्वभाव और संस्कार है। उन्होंने कहा कि बीजेपी कार्यकर्ताओं की नहीं नेताओं की पार्टी है।

चंपई सोरेन के मुख्यमंत्री पद से हटने को बीजेपी मुद्दा बना रही है। पार्टी का कहना है कि झामुमो परिवार आधारित पार्टी है और इस परिवार से बाहर के लोगों का इसमें कोई राजनीतिक भविष्य नहीं है।

बीजेपी का वोट शेयर गिरा, झामुमो और कांग्रेस का बढ़ा

राजनीतिक दल2019 लोकसभा चुनाव में मिले वोट (प्रतिशत में)2024 लोकसभा चुनाव में मिले वोट (प्रतिशत में)
बीजेपी50.9644.60
कांग्रेस15.6319.19
झामुमो11.5114.60

बीजेपी के लिए झारखंड की चुनावी लड़ाई इसलिए मुश्किल दिख रही है क्योंकि 26 प्रतिशत आदिवासी मतदाताओं वाले इस राज्य में लोकसभा की पांच सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं और इन पांचों लोकसभा सीटों पर बीजेपी को हार मिली है। इन सीटों के नाम- खूंटी, सिंहभूम, लोहरदगा, दुमका और राजमहल हैं।

बीजेपी के ये बड़े आदिवासी नेता हारे

नेता का नामकिस सीट से हारे
अर्जुन मुंडाखूंटी
सीता सोरेनदुमका
गीता कोड़ासिंहभूम

बीजेपी ने धनबाद, हजारीबाग, जमशेदपुर कोडरमा और पलामू लोकसभा सीटों में आने वाली सभी विधानसभा सीटों पर जीत हासिल की है जबकि कांग्रेस ने लोहरदगा और खूंटी लोकसभा सीट के भीतर आने वाली सभी विधानसभा सीटें जीती हैं। झामुमो ने राजमहल लोकसभा सीट की सभी विधानसभा सीटों पर जीत हासिल की है।

विधानसभा चुनाव 2019 के नतीजे (कुल सीटें-81)

राजनीतिक दलमिली सीटेंवोट शेयर (प्रतिशत में)
बीजेपी2533.37
कांग्रेस3013.88
झामुमो1618.72
आजसू2-
झारखंड विकास मोर्चा (प्रजातांत्रिक)35.45
Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
×
tlbr_img1 Shorts tlbr_img2 खेल tlbr_img3 LIVE TV tlbr_img4 फ़ोटो tlbr_img5 वीडियो