scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

बिहार में ऐड वार: राजद बोला- तेजस्वी ने किया, वह ही करेंगे; जदयू का कहना- नीतीश पर अभिमान

राजद और जेदयू के ऐड वार के बीच भाजपा का कहना है क‍ि राज्‍य में जंगलराज था, ज‍िससे नीतीश परेशान थे और ब‍िहार में अब व‍िकास शुरू हुआ है।
Written by: गिरधारी लाल जोशी
नई दिल्ली | Updated: January 31, 2024 14:03 IST
बिहार में ऐड वार  राजद बोला  तेजस्वी ने किया  वह ही करेंगे  जदयू का कहना  नीतीश पर अभिमान
बाएं से- राजद का विज्ञापन और जद (यू) नेता का विज्ञापन (PC- X)
Advertisement

बिहार में सत्ता का गठबंधन बदलते ही कुछ और बदलाव देखने को म‍िल रहा है। पुराने गठबंधन सरकार में हुए कामों का श्रेय लेने की होड़ के रूप में। राजद ने तेजस्‍वी को अभूतपूर्व काम कर द‍िखाने का दावा करते हुए धन्‍यवाद द‍िया है, जबक‍ि जदयू ने नीतीश कुमार को ऐसा नेता बताया है ज‍िस पर उसे अभ‍िमान है। राजद ने पहले ब‍िहार के अखबारों में व‍िज्ञापन छपवा कर तेजस्‍वी यादव को अभूतपूर्व काम करने वाला मंत्री बताया। इसके अगले द‍िन जदयू की ओर से भी जवाबी व‍िज्ञापन आ गया।

राजद ने तेजस्वी की फोटो के साथ धन्यवाद देते हुए व‍िज्ञापन छपवाया। इसमें तेजस्वी को राजद ने धन्यवाद देते हुए लिखा गया है कि आपने कहा, आपने किया और आप ही करेंगे!

Advertisement

अगले द‍िन (30 जनवरी) के अखबार में जदयू नेता व पूर्व मंत्री डा. अशोक चौधरी ने विज्ञापन छपवाया। इसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के फोटो के साथ उनके किए कामों के सतत प्रयासों के लिए आभार जताया गया है। साथ ही लिखा है मेरा नेता, मेरा अभिमान।

बता दें क‍ि 29 जनवरी को नीतीश कुमार ने एक बार फ‍िर पाला बदलते हुए राजद को छोड़, बीजेपी के साथ गठबंधन सरकार के मुख्‍यमंत्री के रूप में शपथ ली थी। नीतीश इससे पहले बीजेपी का साथ छोड़ कर ही राजद और कांग्रेस के साथ गठबंधन कर मुख्‍यमंत्री बने थे। उनके बार-बार पाला बदलने को लेकर 31 जनवरी को राहुल गांधी ने पूर्ण‍िया में चुटकुला सुना कर तंज कसा और कहा क‍ि वह थोड़ा भी दबाव पड़ने पर पाला बदल लेते हैं।

जदयू के अभियान में क्या-क्या?

30 जनवरी को जदयू ने 'मेरा नेता, मेरा अभ‍िमान' कह कर अखबारों में इश्‍तहार छपवाया। जदयू के तीर निशान के साथ विज्ञापन में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की उपलब्धियों के लिए आभार जताया गया है। उनके किए कामों का जिक्र किया गया है, जो इस प्रकार है- राज्य का बजट वर्ष 2005 में 23800 करोड़, 2023-24 में 2,61,885.4 लाख करोड़ रुपए, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के उत्थान हेतु वर्ष 2007 में अलग से विभाग का गठन एवं बजट का प्रावधान, वर्ष 2023-24 में विभाग का बजट 1805 करोड़ रुपए, पिछड़ा व अतिपिछड़ा वर्ग का विकास, साइकिल-पोशाक ने जलाई शिक्षा की अलख, 7 निश्चय-1 और 7 निश्चय -2 से बदली बिहार की तस्वीर, हर घर पहुंची बिजली और स्वच्छ नल का जल, हर गांव-कस्बे तक पहुंची सड़क,पक्की नाली और गली, पंचायती राज्य एवं नगर निकाय चनावों में महिला व पिछड़ा वर्ग को आरक्षण, राज्य की नौकरियों में लड़कियों को आरक्षण देकर स्वावलंबी बनाया, वर्षों मांग के बाद अपने खर्चे पर कराया जातीय व आर्थिक गणना और आरक्षण, राज्य के 94 लाख गरीबों परिवार को मिली 2-2 लाख की आर्थिक सहायता, कृषि रोडमैप से बढ़ी उत्पादकता, बिहार को मिले पांच कृषि कर्मण पुरस्कार, गेहूं - चावल के उत्पादन में हुई रिकार्ड वृद्धि, वर्ष 2020 में युवाओं को 10 लाख नौकरी और रोजगार देने का वादा, अबतक तकरीबन 5 लाख युवाओं को विभिन्न विभागों में मिली नौकरी, स्टार्टअप को बढ़ावा मिलने से बढ़े रोजगार। इन सबके लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का आभार जताया गया है।

Advertisement

राजद के विज्ञापन में क्या-क्या?

एक द‍िन पहले राजद ने व‍िज्ञापन के जर‍िए ही तेजस्‍वी यादव का गुणगान क‍िया था। प‍िछली सरकार के कई कामों का ज‍िक्र करते हुए इसका पूरा श्रेय तेजस्‍वी यादव को द‍िया गया था और कहा गया था क‍ि आपने कहा, आपने किया और आप ही करेंगे!

व‍िज्ञापन में ज‍िन कामों के ल‍िए तेजस्‍वी को श्रेय द‍िया गया है, उनमें चार लाख से अधिक सरकारी नौकरी देने के लिए, लाखों बहाली एवं नौकरियां प्रक्रियाधीन करने के लिए, देश में प्रथम बार जातिगत गणना कराने के लिए, 75 प्रतिशत आरक्षण की सीमा बढाने के लिए, नियोजित शिक्षकों को राज्यकर्मी का दर्जा देने के लिए, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की नींव रखने के लिए,स्वास्थ्य सेवा में सुधार के लिए, शहरों में वॉटर ड्रेनेज व्यवस्था कराने के लिए, सड़कों, पुलों, बाईपास एवं ग्रामीण सड़कों के निर्माण के लिए, खेलों में मेडल लाओ, नौकरी पाओ योजना लागू कराने के लिए,बिहार में प्रथम बार टूरिस्म पालिसी, स्पार्ट्स पालिसी और आईटी पालिसी लाने के लिए, विकास मित्र, टोला सेवक, शिक्षा मित्र और तालीमी मरकज का मानदेय बढाने के लिए शाम‍िल हैं। बता दें क‍ि तेजस्‍वी ब‍िहार की प‍िछली सरकार में उप मुख्‍यमंत्री थे और उनके पास श‍िक्षा व स्‍वास्‍थ्‍य जैसे अहम मंत्रालय थे।

भाजपा का क्या कहना है?

2020 में हुए विधानसभा चुनाव में पहले राजद-जदयू साथ थे। फिर जदयू-भाजपा साथ हुए। फिर राजद-जदयू साथ आए। अब भाजपा- जदयू साथ हो गए। खासियत यह रही कि मुख्यमंत्री नहीं बदले, मगर भाजपा की पाली में उपमुख्यमंत्री बदले। पहले भाजपा ने रेणु देवी, तारकिशोर प्रसाद को उप मुख्‍यमंत्री बनाया था। इस बार सम्राट चौधरी और विजय कुमार सिन्हा को बनाया है। राजद की तरफ से दोनों बार तेजस्वी ही उप मुख्यमंत्री थे।

द‍िलचस्‍प है क‍ि जहां जदयू और राजद 29 जनवरी से पहले की सरकार द्वारा क‍िए गए कामों का बखान कर श्रेय लेने की होड़ में हैं, वहीं भाजपा का कहना है क‍ि राज्‍य में जंगलराज था, ज‍िससे नीतीश परेशान थे और ब‍िहार में अब व‍िकास शुरू हुआ है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो