scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Fact Check: अभिनेता आमिर खान ने नहीं किया 15 लाख रुपये वाला दावा 

कांग्रेस का समर्थन करने की पोस्ट के साथ किया जा रहा यह वायरल दावा फर्जी है।
Written by: Ankita Deshkar
नई दिल्ली | Updated: April 16, 2024 21:19 IST
fact check  अभिनेता आमिर खान ने नहीं किया 15 लाख रुपये वाला दावा 
वायरल दावा फर्जी है। (PC: X)
Advertisement

लाइटहाउस जर्नलिज्म को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर किया जा रहा बॉलीवुड अभिनेता आमिर खान का एक वीडियो मिला। वीडियो में वह कहते नजर आ रहे हैं कि देश में हर किसी के खाते में 15 लाख रुपये की रकम होनी चाहिए, अगर उनके पास यह रकम नहीं है तो यह सवाल करने का समय है कि यह रकम कहां गई। इस पोस्ट का इस्तेमाल कांग्रेस का प्रचार करने के लिए किया जा रहा था।

जांच के दौरान हमने पाया कि वायरल वीडियो फर्जी है और आमिर खान की AI जेनरेटेड आवाज का इस्तेमाल करके इसे बनाया गया है।

Advertisement

क्या हो रहा है वायरल?

X यूजर रानी शर्मा ने ये वीडियो अपने प्रोफ़ाइल पर साझा किया।

इस पोस्ट का आर्काइव वर्जन यहाँ देखे।

दूसरे यूजर्स भी यही वीडियो शेयर कर रहे हैं।

Advertisement

कैसे हुई पड़ताल

हमने अपनी पड़ताल की शुरुआत वीडियो से मिले कीफ्रेम्स पर गूगल रिवर्स इमेज सर्च से की।

Advertisement

इससे हमें पता चला कि यह वीडियो सत्यमेव जयते के एपिसोड 4 का प्रोमो है।

यह वीडियो सात साल पहले सत्यमेव जयते के यूट्यूब चैनल पर पोस्ट किया गया था। इसमें कहीं भी वह 15 लाख रुपये की बात करते नजर नहीं आ रहे हैं।

हमने इस वायरल वीडियो से ऑडियो निकाला और इसे आईआईटी जोधपुर के सहयोग से विकसित एआई डिटेक्शन टूल itisaar.ai के माध्यम से वेरिफाई करने की कोशिश की। ऑडियो के विश्लेषण के बाद प्राप्त रिपोर्ट में कहा गया है कि यह ऑडियो 'एआई जेनरेटेड वॉयस स्वैप' है।

हमें एक रिपोर्ट भी मिली जहां आमिर खान ने वायरल वीडियो पर प्रतिक्रिया दी है।

संबंधित खबर का स्क्रीनशॉट।

स्टोरी में आमिर खान के प्रवक्ता के हवाले से कहा गया है, ''हम हालिया वायरल वीडियो से चिंतित हैं जिसमें आरोप लगाया गया है कि आमिर खान एक विशेष राजनीतिक पार्टी को बढ़ावा दे रहे हैं। वह स्पष्ट करना चाहेंगे कि यह एक फर्जी वीडियो है और पूरी तरह से झूठ है। इस मुद्दे से संबंधित विभिन्न अधिकारियों को यह मामला भेजा गया है। इसमें मुंबई पुलिस के साइबर अपराध सेल में एफआईआर दर्ज कराना भी शामिल है।''

निष्कर्ष: आमिर खान का एडिटेड वीडियो, जहां उनके मूल वीडियो को एआई जेनरेटेड आवाज द्वारा ओवरलैप किया गया था, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर किया जा रहा है। कांग्रेस का समर्थन करने की पोस्ट के साथ किया जा रहा यह वायरल दावा फर्जी है।

Advertisement
Tags :
Advertisement
Jansatta.com पर पढ़े ताज़ा एजुकेशन समाचार (Education News), लेटेस्ट हिंदी समाचार (Hindi News), बॉलीवुड, खेल, क्रिकेट, राजनीति, धर्म और शिक्षा से जुड़ी हर ख़बर। समय पर अपडेट और हिंदी ब्रेकिंग न्यूज़ के लिए जनसत्ता की हिंदी समाचार ऐप डाउनलोड करके अपने समाचार अनुभव को बेहतर बनाएं ।
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो