scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

Republic Day: बारामुला में जैश के 3 आतंकियों को मारकर शहीद हुआ था 'बिंदास', जानिए लार्जर दैन लाइफ हीरो की कहानी

मुदसिर अहमद शेख बहादुर पुलिसकर्मी थे, जिन्होंने आतंकियों की गोलियों का साहस के साथ सामना करते हुए वीरगति को प्राप्त किये थे।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: संजय दुबे
Updated: January 27, 2023 17:59 IST
republic day  बारामुला में जैश के 3 आतंकियों को मारकर शहीद हुआ था  बिंदास   जानिए लार्जर दैन लाइफ हीरो की कहानी
शौर्य चक्र से सम्मानित मुदसिर अहमद शेख उर्फ बिंदास। (फोटो- कश्मीर पुलिस ट्विटर)
Advertisement

देश की सीमाओं पर आतंकियों का बहादुरी से मुकाबला करने वाले वीर जवानों को गणतंत्र दिवस पर सम्मानित करने की परंपरा के तहत अपने कर्तव्य के निर्वहन के दौरान सर्वस्व बलिदान देने वाले जम्मू कश्मीर पुलिस के जवान मुदसिर अहमद शेख उर्फ बिंदास को गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया। मुदसिर अहमद शेख एक ‘बिंदास’ एवं साहसी पुलिसकर्मी थे जो बारामूला जिले में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों के एक समूह का सफाया करते हुए शहीद हो गए थे। उनकी वीरता और पराक्रम पर देश को नाज है।

शेख को अद्वितीय साहस के लिए शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया

अधिकारियों ने कहा कि उरी (बारामूला में) के कांस्टेबल शेख उर्फ ‘बिंदास’ ने पिछले साल 25 मई को उत्तरी कश्मीर जिले के करीरी में सेना के साथ एक संयुक्त अभियान के दौरान जैश-ए-मोहम्मद के तीन आतंकवादियों को मार गिराते हुए सर्वोच्च बलिदान दिया था। शेख को उनके अद्वितीय साहस के लिए पुरस्कार शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया है जो शांतिकाल में दिया जाने वाला देश के तीसरा सबसे बड़ा वीरता पुरस्कार है।

Advertisement

आतंकियों ने पुलिस दल पर की थी अंधाधुंध गोलीबारी

अधिकारियों ने घटना की जानकारी देते हुए कहा कि पुलिस और सेना ने आतंकवादियों की गतिविधियों की गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए करीरी में श्रकवारा-नजीभात चौराहे समेत कई जगहों पर संयुक्त विशेष चौकियां स्थापित कीं। उन्होंने बताया कि कार में सफर कर रहे आतंकियों के एक समूह ने जब पुलिस दल को देखा तो अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी जिस पर सुरक्षाकर्मियों द्वारा की गई जवाबी गोलीबारी में तीन विदेशी आतंकवादी मारे गए।

गृहमंत्री अमित शाह ने घाटी के दौरे पर परिजनों से की थी मुलाकात

अधिकारियों ने कहा कि हालांकि, शेख ने गोलीबारी के दौरान सर्वोच्च बलिदान दिया। पांच अक्टूबर को, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान निरस्त होने के बाद घाटी के अपने पहले दौरे के दौरान शेख के परिवार से मुलाकात की थी और उनसे बातचीत की थी। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कश्मीर) विजय कुमार ने कहा कि शेख ने तीन विदेशी आतंकवादियों को मार गिराते हुए शहादत दी, वीर को सलाम।

इस वर्ष गणतंत्र दिवस परेड में अपनी वीरता और पराक्रम से परम वीर चक्र, महावीर चक्र, अशोक चक्र से सम्मानित बहादुर जवानों को विशेष तौर पर आमंत्रित किया गया। वीरता पुरस्कारों से सम्मानित जवान परेड में हिस्सा लिए और राष्ट्रपति को सलामी दी।  

Advertisement

Advertisement
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो