scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

PDP के पूर्व नेता अल्ताफ बुखारी को मिली Z+ सिक्योरिटी, गृह मंत्रालय ने जारी किया आदेश

अल्ताफ बुखारी पहले जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की अध्यक्षता वाली पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के साथ थे।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: shruti srivastava
Updated: April 05, 2023 13:11 IST
pdp के पूर्व नेता अल्ताफ बुखारी को मिली z  सिक्योरिटी  गृह मंत्रालय ने जारी किया आदेश
PDP के पूर्व नेता अल्ताफ बुखारी (Source- ANI)
Advertisement

जम्मू कश्मीर के चर्चित नेता और जम्मू-कश्मीर अपनी पार्टी के अध्यक्ष सैयद मोहम्मद अल्ताफ बुखारी को जेड प्लस सुरक्षा दी जाएगी। गृह मंत्रालय (MHA) ने पीडीपी के पूर्व नेता बुखारी को 'जेड प्लस' श्रेणी का सीआरपीएफ सुरक्षा कवर प्रदान किया है।

CRPF के जवान रहेंगे सुरक्षा में तैनात

सैयद मोहम्मद अल्ताफ बुखारी की सुरक्षा के लिए गृहमंत्रालय के निर्देश पर CRPF के कमांडो जवानों की तैनाती की जाएगी। सीआरपीएफ के सूत्रों के मुताबिक जेड प्लस की सुरक्षा व्यवस्था के अंतर्गत करीब 20-24 जवानों की तैनाती सैयद मोहम्मद अल्ताफ बुखारी के साथ और उनके आवास पर की जाएगी।

Advertisement

अल्ताफ बुखारी के खिलाफ रची जा रही थी हमले की साजिश

हालांकि, इन जवानों को तीन अलग -अलग शिफ्ट में ड्यूटी करनी होगी। सूत्रों के मुताबिक, पिछले कुछ दिनों से उनके खिलाफ हमले की साजिश साजिश रची जा रही थी। इस मामले की जानकारी मिलने के बाद केंद्रीय खुफिया एजेंसी आईबी (IB) द्वारा उन तमाम इनपुट्स को खंगालने के बाद उसकी रिपोर्ट तैयार करके उसे केंद्रीय गृह मंत्रालय को भेजा गया, जिसके बाद सीआरपीएफ की सुरक्षा व्यवस्था मुहैया करवाने का निर्देश जारी किया गया।

मार्च 2020 में छोड़ दी थी PDP

पिछले महीने ही अल्ताफ बुखारी को अपनी पार्टी के अध्यक्ष के रूप में दोबारा से चुना गया था। वह अगले तीन सालों तक पार्टी के अध्यक्ष रहेंगे। अल्ताफ बुखारी पहले जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की अध्यक्षता वाली पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) के साथ थे, लेकिन उन्होंने मार्च 2020 में अपनी पार्टी 'जम्मू-कश्मीर अपनी पार्टी' बनाने के लिए संगठन छोड़ दिया था। अल्ताफ ने अलग-अलग राजनीतिक दलों को छोड़कर आए करीब 30 नेताओं के साथ मिलकर नई पार्टी का गठन किया था।

इससे पहले अल्ताफ बुखारी ने मंगलवार को कहा था कि श्रीनगर बुनियादी ढांचे की गंभीर कमी से जूझ रहा है और यहां तक ​​कि शहर के कई हिस्सों में कचरे को प्रभावी ढंग से बाहर निकालने के लिए उचित जल निकासी व्यवस्था का अभाव है। उन्होंने इस बात पर खेद व्यक्त किया कि वर्षों और दशकों में शहर में पर्याप्त बुनियादी ढांचा बनाने में लगातार सरकारें बुरी तरह विफल रही हैं।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो