scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

भारत में पीएम की हत्या करने वालों को भी माफ किया, यासीन मलिक की सजा पर हो पुनर्विचार: महबूबा मुफ्ती

पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट कर लिखा कि भारत जैसे लोकतंत्र में तो उन लोगों को भी माफ किया गया जिन्होंने पीएम की हत्या की, यहां तो मामला एक राजनीतिक कैदी का है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Sudhanshu Maheshwari
Updated: May 27, 2023 20:34 IST
भारत में पीएम की हत्या करने वालों को भी माफ किया  यासीन मलिक की सजा पर हो पुनर्विचार  महबूबा मुफ्ती
जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (फाइल फोटो)
Advertisement

जम्मू-कश्मीर के अलगाववादी नेता यासीन मलिक के समर्थन में पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती एक बार फिर उतर आई हैं। उनकी तरफ से जोर देकर कहा गया है कि इस देश में जब पीएम की हत्याओं करने वालों को माफ किया जा सकता है, तो यासीन मलिक की सजा पर भी पुनर्विचार होना चाहिए।

यासीन मलिक के बचाव में महबूबा

पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट कर लिखा कि भारत जैसे लोकतंत्र में तो उन लोगों को भी माफ किया गया जिन्होंने पीएम की हत्या की, यहां तो मामला एक राजनीतिक कैदी का है, यासीन मलिक की सजा पर पुनर्विचार जरूरी है। जो लोग फांसी की सजा की मांग कर रहे हैं, वो तो सामूहिक अधिकारों के लिए गंभीर खतरा है।

Advertisement

एनआईए की एक मांग और नाराज हुईं महबूबा

अब जानकारी के लिए बता दें कि शुक्रवार को एनआईए ने मांग की थी कि यासीन मलिक को फांसी की सजा दी जाए। हाई कोर्ट में जांच एजेंसी ने याचिका दायर कर ये मांग की थी। टेरर फंडिंग मामले में यासीन के लिए एनआईए ये सजा चाहती थी। इसके बाद ही अपनी पार्टी के अध्यक्ष अल्ताफ बुखारी ने कहा था कि जो भी देश की सुरक्षा को खतरे डालेगा, उसे सख्त सजा मिलनी चाहिए। ऐसे में अपने एक ट्वीट से महबूबा मुफ्ती ने दोनों एनआईए और अल्ताफ बुखारी पर बड़ा हमला किया है।

यासीन पर क्या आरोप?

वैसे जिस यासीन मलिक को मुफ्ती इस समय बचाने का काम कर रही हैं, उन पर एक नहीं कई गंभीर मामले दर्ज हैं। रुबैया सईद के अपहरण से लेकर घाटी में 90 के दौर में हिंसा फैलाने तक, यासीन पर कई गंभीर आरोप लग चुके हैं, उस पर कोई केस भी दर्ज हैं। इसी वजह से पिछले साल 24 मई को यासीन मलिक को आजीवान कारावास की सजा सुनाई गई थी। तब भी महबूबा मुफ्ती ने इसका विरोध किया था और जब यासीन को फांसी देने की मांग उठी है तो एक बार फिर पीडीपी प्रमुख ही समर्थन में उतरी हैं।

Advertisement

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो