scorecardresearch
For the best experience, open
https://m.jansatta.com
on your mobile browser.

'मृतक कश्मीरी पंडित के हर सदस्य को दो 5 लाख', महबूबा ने मुस्लिमों से की हिंदुओं को बचाने की अपील, सरकार पर दागे सवाल

महबूबा मुफ्ती ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार मिलिटेंसी खत्म करने के नाम पर मुस्लिमों को जेल में डाल रही है।
Written by: न्यूज डेस्क | Edited By: Nitesh Dubey
Updated: February 27, 2023 22:44 IST
 मृतक कश्मीरी पंडित के हर सदस्य को दो 5 लाख   महबूबा ने मुस्लिमों से की हिंदुओं को बचाने की अपील  सरकार पर दागे सवाल
जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (ANI PHOTO)
Advertisement

जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने बड़ा बयान दिया है। कश्मीरी पंडितों (Kashmiri Pandits) के लिए उन्होंने एक मांग की है। साथ ही बीजेपी और केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। कश्मीरी पंडितों की हत्या को लेकर उन्होंने सरकार से पूछा कि अगर मिलिटेंसी खत्म हो गई है, तो उन्हें कौन मार रहा है, सरकार क्या कर रही है?

पुलवामा में कश्मीरी पंडित की आतंकी संगठन ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। उसी के संबंध में जवाब देते हुए महबूबा मुफ्ती ने कहा, "क्या हुआ, मैं इस कृत्य की निंदा करता हूं। कभी कश्मीरी पंडितों की मदद करने वाले मुस्लिम आज खुद संकट में हैं। सरकार उग्रवाद कम करने के नाम पर हमारे लोगों (मुसलमानों) को जेल भेज रही है। एनआईए, ईडी टेरर फंडिंग के नाम पर छापेमारी कर रही है।"

Advertisement

महबूबा मुफ्ती ने कश्मीरी पंडितों के लिए मुआवजे की मांग करते हुए कहा, "अगर आतंकवाद खत्म हो गया तो उसे किसने मारा? सरकार क्या कर रही है? मैं सरकार से मृतक की पत्नी को नौकरी देने की अपील करता हूं। उसके 3 बच्चे हैं और प्रत्येक को मुआवजे के रूप में 5 लाख रुपये मिलने चाहिए। मैं अपने समुदाय (मुस्लिम) से भी अनुरोध करती हूं कि उन्हें (कश्मीरी पंडितों को) बचाएं।"

आतंकियों ने कश्मीरी पंडित को मारी थी गोली

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने शनिवार को कश्मीरी पंडित की गोली मारकर हत्या कर दी थी। आतंकियों ने साउथ कश्मीर में इस वारदात को अंजाम दिया था। आतंकियों ने संजय नाम के शख्स को गोली मारी थी, जिसे बाद में अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन डॉक्टर बचाया नहीं जा सका।

Advertisement

घटना की जानकारी देते हुए कश्मीर जोन पुलिस ने बताया था, "आतंकियों ने संजय शर्मा नाम के अल्पसंख्यक पर फायरिंग की और वह पुलवामा जिले के अचान के रहने वाले थे। जब संजय लोकल मार्केट की ओर जा रहे थे, तभी इस वारदात को अंजाम दिया गया। संजय शर्मा को घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका।" संजय शर्मा पैसे से बैंक में सुरक्षा गार्ड की नौकरी करते थे।

Advertisement

Advertisement
Tags :
Advertisement
tlbr_img1 राष्ट्रीय tlbr_img2 ऑडियो tlbr_img3 गैलरी tlbr_img4 वीडियो